ताज़ा खबर
 

अमिताभ बच्चन ने सिद्धिविनायक मंदिर के लिए गाई गणेश आरती, जल्द ही वीडियो भी हो सकता है शूट

सदी के महानायक कहे जाने वाले अमिताभ बच्चन ने हाल ही में सिद्धिविनायक मंदिर के लिए गणेश आरती गाई है जिसके इस बार गणेश चतुर्थी पर सिद्धिविनायक मंदिर में गाए जाने की संभावना है।

Author नई दिल्ली | September 2, 2016 15:50 pm
बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन। (PTI)

गणेश चतुर्थी में बस अब तीन ही दिन बाकी हैं। और इस दिन को श्रद्धालुओं के लिए के लिए और खास बनाने के लिए इस बार अमिताभ बच्चन ने कुछ खास किया है। अंग्रेजी साइट स्पॉटबॉय के मुताबिक बिग-बी ने मुंबई के मशहूर सिद्धिविनायक मंदिर के साथ हाथ मिलाया है और अपनी खूबसूरत आवाज में गणपति आरती रिकॉर्ड की है। अमिताभ ने यह आरती आदेश श्रीवास्तव के स्टूडियो में रिकॉर्ड की है। खबरों के मुताबिक अमिताभ बहुत जल्द इस आरती का वीडियो भी शूट कर सकते हैं। वीडियो के दृश्य प्रभादेवी मंदिर में शूट किए जाने की संभावना है। वीडियो का निर्देशन अमिताभ स्टारर फिल्म पिकू के निर्देशक सुजीत सिरकार द्वारा किए जाने की संभावना है, वहीं संगीत निर्देशन रोहन-विनायक की जोड़ी के हाथ में है। हालांकि इस बात में अभी संदेह है कि 11 दिन तक चलने वाले इस त्यौहार के दौरान इस वीडियो को मंदिर के भीतर चलाया जाएगा अथवा नहीं। सिद्धिविनायक मंदिर के डिप्टी एक्सक्यूटिव ऑफिसर राजीव जाधव ने बताया, “अमिताभ बच्चन द्वारा गाई गई आरती को लेकर हमारा एक प्लान था। लेकिन मंदिर के भीतर आरती हमेशा लाइव गाई जाती है।” बता दें कि एक बार तैयार हो जाने के बाद बिग बी द्वारा गाई गई इस आरती का वीडियो इंटरनेट और सीडी कैसेट में भी उपलब्ध होगा।

गौरतलब है कि 5 सितंबर सोमवार को देशभर में गणेश चतुर्थी या विनायक चतुर्थी का त्योहार धूमधाम से मनाया जाएगा और इसको लेकर देशभर में तैयारियां अंतिम चरण में पहुंच चुकी हैं। ऐसी मान्यता है कि भाद्रपद माह के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन भगवान गणेश का जन्म हुआ था और इसीलिए संकट हरण विघ्नहर्ता के जन्मदिन के उत्सव को गणेश चतुर्थी के रूप में मनाया जाता है। इस दिन भगवान गणेश को बुद्धि, समृद्धि और सौभाग्य के देवता के रूप में पूजा जाता है। गणेश चतुर्थी का उत्सव 10 दिनों तक चलता है जो चतुर्थी के दिन शुरू होकर अनंत चतुर्दशी के दिन समाप्त होता है। पूरे विश्व में हिंदू इस त्यौहार को मनाते हैं।

कई जगह लोग सिर्फ गणेश चतुर्थी के दिन ही पूजा करते हैं तो कई लोग गणेश चतुर्थी के दिन घर में भगवान गणेश को विराजमान करते हैं और फिर 10 दिन तक गणेश जी की पूजा करते हैं। उसके बाद अनंत चतुर्थी के दिन पानी में गणेश प्रतिमा का विसर्जन किया जाता है। इस दौरान गणेश जी की छोटी-छोटी से मूर्ति से लेकर कई फीट लंबी मूर्ति भी बाजार में मिलती है। वैसे तो हर क्षेत्र में लोग अलग अलग तरह से वंदना करते हैं, लेकिन सब जगह खास बात ये है कि इस दौरान सब गणेश जी की भक्ति में डूब जाते हैं। बताया जाता है कि गणेश जी को चंदन के पेस्ट से बनाया गया था जो कि पार्वती जी इस्तेमाल करती थी। उसके बाद उन्होंने उस मूर्ति में जान डाली थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App