अमिताभ बच्चन के पिता का 24 घंटे देखभाल करने वाली नर्स ने मां का ख्याल रखने से कर दिया था इंकार, Big B ने सुनाया किस्सा

अमिताभ बच्चन ने केबीसी 13 में बताया कि पिता की चौबिसों घंटे देखभाल करने वाली नर्स ने उनकी मां का ख्याल रखने से साफ इंकार कर दिया था।

amitabh bachchan, teji bachchan
बॉलीवुड के मशहूर एक्टर अमिताभ बच्चन और उनकी मां तेजी बच्चन (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

बॉलीवुड के महानायक अमिताभ बच्चन इन दिनों ‘कौन बनेगा करोड़पति’ से टीवी की दुनिया में खूब धमाल मचा रहे हैं। अमिताभ बच्चन के पिता हरिवंश राय बच्चन एक मशहूर लेखक और कवि थे। उन्होंने साल 2003 में इस दुनिया को अलविदा कर दिया था। पिता के बीमार पड़ने परउनकी देखभाल के लिए अमिताभ बच्चन ने एक नर्स को रखा था, जिसने उनकी 24 घंटे देखभाल भी की। लेकिन जब बिग बी के मां की तबीयत खराब हुई और नर्स को दोबारा बुलाया गया तो उसने आने से साफ मना कर दिया था।

अमिताभ बच्चन ने इस बात का खुलासा ‘कौन बनेगा करोड़पति 13‘ में किया। अमिताभ बच्चन ने शो में बताया कि जब उनके पिता बीमार पड़े थे तो उनकी देखभाल के लिए उन्होंने नर्स रखी, जिसने हरिवंश राय बच्चन की रोजाना 24 घंटे देखभाल की। लेकिन पिता की मौत के बाद नर्स को काफी झटका लगा, जिससे उसने दोबारा किसी मरीज की देखभाल करने से ही साफ इंकार कर दिया था।

मिताभ बच्चन ने नर्स और मां से जुड़े किस्से को बताते हुए आगे कहा, “नर्स का समर्पण और उनका काम करने का अंदाज देख हमने उन्हें मां के बीमार पड़ने पर दोबारा बुलाया था। लेकिन उन्होंने हमें यह कहते हुए साफ करना कर दिया कि वह अब किसी की भी देखभाल करने के लायक नहीं हैं। मुझे यह भी नहीं मालूम था कि उन्होंने नर्स की नौकरी छोड़ दी है या नहीं।”

बता दें कि बीते दिन ‘केबीसी 13’ के एपिसोड में जोधपुर की एक नर्स सविता बतौर कंटेस्टेंट हॉटसीट पर बैठी थीं। उन्हें देख अमिताभ बच्चन ने नर्स के काम की सराहना करते हुए कहा था, “नर्सिंग का जो काम होता है, बहुत कठिन होता है। इस महामारी के दौरान तो उनका काम अद्भुत रहा है।”

अमिताभ बच्चन की बातों को सुनकर सविता ने भी अपना अनुभव साझा किया और कहा, “सर अगर डॉक्टर को शरीर का दिमाग कहा जाता है तो नर्स भी किसी रीढ़ की हड्डी से कम नहीं होती हैं। केवल दिमाग के आधार पर व्यक्ति अपने शरीर को नहीं चला सकता है, रीढ़ का होना भी जरूरी होता है।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट