दोस्तों से पैसे उधार लेकर दिलीप कुमार की फिल्में देखने जाया करते थे अमिताभ बच्चन, सेट पर मिलने के बाद भावुक हो गए थे बिग-बी

गीतकार जावेद अख्तर से बात करते हुए अमिताभ बच्चन ने बताया था कि वह कॉलेज के दिनों में दोस्तों से पैसे उधार लेकर दिलीप कुमार की फिल्में देखने के लिए जाया करते थे।

Amitabh Bachchan Dilip Kumar
दिलीप कुमार के साथ अमिताभ बच्चन (Photo- Indian Express)

सदी के महानायक अमिताभ बच्चन ने साल 1982 में रिलीज हुई फिल्म शक्ति में दिलीप कुमार के साथ स्क्रीन शेयर की थी। दोनों स्टार्स की जोड़ी को दर्शकों ने काफी पसंद भी किया था। दिलीप कुमार को कई स्टार्स अपनी इंस्पिरेशन मानते थे। अमिताभ बच्चन के साथ भी ऐसा ही था। एक बार अमिताभ से फिल्मों में आने के पीछे के कारण के बारे में पूछा गया था तो उन्होंने दिलीप कुमार का नाम लिया था। इसके साथ उन्होंने कॉलेज के दिनों का एक किस्सा भी सुनाया था।

अमिताभ बच्चन ने जावेद अख्तर के साथ एक इंटरव्यू में बताया था, ‘फिल्मों में मेरे आने के पीछे दिलीप साहब थे। मैं उनके काम से बहुत प्रभावित हुआ था। उनकी अदाकारी का सच में कोई जवाब नहीं था। शुरुआत में जो फिल्में देखी थीं वो दिलीप साहब की ही थी। उनकी इंसानियत पहली फिल्म थी जिसे मैंने देखा था। उसके बाद मैंने शक्ति में उनके साथ काम किया। ये बयां करना बहुत मुश्किल होता है कि आपका गुरु जब सामने आ जाए तो कैसा महसूस होता है।’

भावुक हो गए थे अमिताभ: महानायक बताते हैं, ‘मैंने फिल्म उनके बेटे का किरदार निभाया और मुझे कहा कि आपको इनके बाद डायलॉग बोलना है। ये सब मेरे लिए बिल्कुल हैरान कर देने वाला था। किसी अन्य एक्टर के लिए ये मामुली बात हो सकती है, लेकिन मेरे लिए तो बिल्कुल भी नहीं है। कॉलेज और क्लास छोड़कर मैंने उनकी फिल्में देखी थीं। पता नहीं कहां-कहां से मैंने पैसे चोरी किए या दोस्तों से उधार मांगे। क्योंकि उनकी एक ही फिल्म मैं कई बार देखा करता था। अब उसी माध्यम में मैं उनके साथ फिल्म कर रहा था तो भावुक भी हो गया था और काफी अजीब भी लग रहा था।’

दिलीप कुमार से मांगा था ऑटोग्राफ: अमिताभ बच्चन 1960 के दशक का एक किस्सा साझा किया था। उस दौरान दिलीप कुमार बड़े स्टार हुआ करते थे और अमिताभ की उस समय कोई पहचान नहीं थी। उन्होंने बताया था, ‘दिलीप साहब एक रोस्टोरेंट में आए थे। वह मालिक से बातचीत में काफी व्यस्त थे। काफी देर तक सोचने के बाद मैंने कांपते हुए ऑटोग्राफ मांगा था। उस समय मुझे कुछ भी नहीं मिला। थोड़ी देर बाद एक किताब मिली, लेकिन उन्होंने मेरी तरफ कोई ध्यान भी नहीं दिया और न ही देखा।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट