ताज़ा खबर
 

‘खुद को असुरक्षित महसूस करती हूं’, अमिताभ बच्चन की नातिन नाव्या नवेली नंदा ने खुलकर कही दिल की बात, शेयर किया पोस्ट

आरा हेल्थ की को फाउंडर नाव्या नवेली नंदा ने ऑनलाइन डिसकशन सेशन रखा था जिसपर महिलाओं से जुड़ी समस्याएं और हेल्थ इशू को लेकर डिस्कस किया गया।

Amitabh Bachchan, Navya Naveli Nanda, Navya Naveli Nanda insecure, Bigg Bअमिताभ बच्चन के साथ नातिन नाव्या नवेली नंदा, दूसरी तस्वरी में नाव्या अपनी मां श्वेता नंदा के साथ (फोटोसोर्स-नाव्या ऑफीशियल इंस्टा.)

बॉलीवुड इंडस्ट्री के मेगास्टार अमिताभ बच्चन की नातिन नाव्या नवेली नंदा ने हाल ही में अपने दिल की बातें खुलकर कही हैं। सोशल मीडिया पर नाव्या ने कहा है कि उन्हें इस बात का अहसास हुआ है कि जिस जगह पर हम हैं वहां मेल डॉमिनेटिंग पर्सन ज्यादा हैं। आरा हेल्थ की को फाउंडर नाव्या नवेली नंदा ने ऑनलाइन डिसकशन सेशन रखा था जिसपर महिलाओं से जुड़ी समस्याएं और हेल्थ इशू को लेकर डिस्कस किया गया।

इंस्टाग्राम पर लाइव सेशन के दौरान नाव्या ने कहा कि महिलाओं को पुरुषों के मुकाबले कम आंका जाता है, उन्होंने ऐसा महसूस किया है। नाव्या ने खुलासा किया कि वे पुरुष-प्रधान उद्योग में महिला होने के नाते अक्सर मैन्सप्लेनिंग का सामना करती हैं। नव्या ने कहा कि वे जिस स्थान पर हैं, वहां काफी हद तक पुरुषों का वर्चस्व है।

अपने इंस्टाग्राम लाइव पर नव्या ने कहा, “जब आप काम के लिए नए लोगों से मिल रहे होते हैं और उनसे बात कर रहे होते हैं, तो हमेशा यही होता है … इस बात की चिंता न करें कि वे आपके बारे में वो क्या सोच रहे हैं। मुझे लगता है, ‘ ओह, हमें खुद को साबित करने की जरूरत है। ‘ खासतौर पर इसलिए क्योंकि हम जिस स्पेस में हैं, वहां काफी हद तक पुरुष हावी हैं। पुरुषों से बात करते समय ये महसूस होता है जिस तरह से उनका समझाने का तरीका होता है.. वह सामने वाले को बेवकूफ समझते हैं। ज्यादा ही दयालु तरीके से आपको हर बात समझाने की जरूरत नहीं है।”

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Aara Health (@aarahealth)

उन्होंने आगे कहा, ‘ये वो सिचुएशन हैं जहां आपको लगता है कि आपको अपने आप को साबित करने की आवश्यकता है और क्योंकि आपको बेवकूफ समझा जाता है। हम कई बार ऐसी स्थितियों में से गुजरते हैं और मुझे लगता है कि चिंता की शुरुआत ही यहीं से होती है। जो यह है कि हमें उस समय ऐसा लगता है कि ‘यह व्यक्ति मुझसे ऐसे बात कर रहा है जैसे मैं बेवकूफ हूं, या मुझे समझा जा रहा है। उस वक्त लगता है हां ओके मुझे खुद को साबित करने की जरूरत है। मुझे शुरुआत में यह धारणा बनाने की जरूरत है कि मुझे पता है कि मैं किस बारे में बात कर रही हूं और मुझे आपको हर एक बात समझाने और बात करने की जरूरत नहीं है कृपालु तरीके ( condescending manner) से।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बार-बार बदतमीजी करते हैं- संबित पात्रा पर भड़के सपा प्रवक्ता, बोले- अगर कहा टोटी चोर तो इन्हें सुनना पड़ेगा चिंदी चोर
2 सत्य साईं बाबा की बायोपिक में नज़र आएंगे भजन सम्राट अनूप जलोटा, आध्यात्मिक गुरु के रोल में वायरल हो रहीं उनकी तस्वीरें
3 AAP नेता सोमनाथ भारती की गिरफ्तारी पर स्वरा भास्कर ने किया कमेंट तो लोग वीडियो शेयर कर करने लगे ट्रोल
आज का राशिफल
X