ताज़ा खबर
 

इस वजह से अमिताभ बच्चन ने राजनीति से कर ली थी तौबा, क्या था जो हैंडल नहीं कर पाए बिग बी? जया ने दिया था जवाब

Amitabh Bachchan: अमिताभ ने जहां हिंदी सिनेमा में अपने नाम का डंका बजाया था। वही बिग बी राजनीति में लंबी उड़ान न भर सके।

Amitabh Bachchan, Amitabh Bachchan Flop Politics Career, अमिताभ बच्चन, Amitabh Strategyअमिताभ बच्चन और जया बच्चन (फोटोसोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

राजेश खन्ना के बाद हिंदी सिनेमा में जगमगाने वाले मेगास्टार अमिताभ बच्चन ने साल 1984 में राजनीति में प्रवेश किया था। अमिताभ बच्चन ने उस साल उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद संसदीय सीट लोक सभा से चुनाव लड़े और भारी अंतर से जीते थे। अमिताभ ने जहां हिंदी सिनेमा में अपने नाम का डंका बजाया था। वही बिग बी राजनीति में लंबी उड़ान न भर सके।

अमिताभ ने तीन साल बाद ही संसद सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। दरअसल, अमिताभ बच्चन ने राजीव गांधी से दोस्ती की वजह से साल 1984 में इलाहाबाद से लोकसभा का चुनाव लड़ा था और यूपी के पूर्व सीएम हेमवती नंदन बहुगुणा को हराया था।

अमिताभ बच्चन एक सफल अभिनेता रहे। तो फिर ऐसा क्या रहा कि उनका पॉलिटिक्स में मन नहीं लगा और जल्द ही उन्होंने राजनीति से तौबा कर ली? इस बात का जवाब एक बार अमिताभ बच्चन की पत्नी और एक्ट्रेस जया बच्चन ने दिया था। जया बच्चन खुद एक पॉलिटीशियन हैं। सपा सांसद जया बच्चन ने एक बार अमिताभ के पॉलिटिकल करियर को लेकर बताया था कि-‘उनके पति और बॉलीवुड स्टार अमिताभ बच्चन का राजनीति में प्रवेश करना एक पारिवारिक और भावुक फैसला था।’

इंडियन एक्सप्रेस के खास कार्यक्रम आइडिया एक्सचेंज में जया बच्चन ने बताया था- ‘सभी कलाकार भावुक होते हैं, वैसे ही अमित जी भी भावुक थे और पारिवारिक मित्रता की वजह से कांग्रेस पार्टी में शामिल हो गए थे लेकिन बहुत जल्द उन्होंने राजनीति से तौबा कर ली। क्योंकि वो तत्कालीन राजनीतिक परिवेश से खुश नहीं थे।।

जब जया बच्चन से यह पूछा गया कि अमिताभ जी ने जल्द राजनीति क्यों छोड़ दी जबकि वो खुद लंबे समय से राजनीति में बनी हुई हैं? इसके जवाब में जया बच्चन ने कहा कि- ‘अमित जी ने भावुक होकर राजनीति ज्वॉइन तो कर ली थी लेकिन बहुत जल्द उन्होंने कहा था कि वो राजनीति नहीं कर सकते हैं। उन्होंने ये भी बताया था कि यह अमिताभ बच्चन के स्टाइल के खिलाफ था।

जया ने बताया था कि ‘अमिताभ ने तब कहा था कि वो राजनेताओं की तरह नहीं रह सकते हैं। उनकी तरह बोल भी नहीं सकते हैं। वह कभी भी  राजनीति में सहज नहीं रह पाए थे।

जया ने आगे बताया था- ‘अमिताभ बहुत ही निजी जिंदगी जीने वाले इंसान हैं और जब किसी को सार्वजनिक जीवन से जुड़े दो-दो पेशे (सिनेमा और राजनीति) में काम करना पड़ता है तो कभी कभी मुश्किल हो जाता है। इस चीज को अमित हैंडल नहीं कर पा रहे थे। इसी वजह से उन्होंने राजनीति से अपने कदम पीछे खींच लिए थे।’

 

Next Stories
1 आमिर खान फिल्मों के लिए लेते हैं 0 रुपए फिर भी करोड़ों में है कमाई; खुद बताया था फॉर्मूला
2 जब सेट पर प्राइवेट में बातें करते पकड़े गए अमिताभ और रेखा, जया बच्चन कंट्रोल नहीं कर पाईं थीं गुस्सा
3 बंगाल में TMC के लिए प्रचार करने पहुंचीं जया बच्चन तो बाबुल सुप्रियो बोले- वे BJP के खिलाफ बोल सकती हैं लेकिन…
ये पढ़ा क्या?
X