ताज़ा खबर
 

IFFI 2019: अमिताभ बच्चन ने कहा- हम ऐसी फिल्म बनाते रहेंगे जो रंग, जाति और धर्म के भेदभाव को दूर करेगी

अमिताभ बच्चन ने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि हम ऐसी ही फिल्में बनाते रहेंगे जो लोगों को एक साथ लाएंगी और रंग, जाति एवं धर्म के विभेद को दूर रखते हुए सभी को एक सूत्र में बांधेंगी। अपनी रचनात्मकता को प्रोत्साहित करने के लिये हम सभी एक दूसरे का हाथ थामेंगे और दुनिया को और अधिक शांतिपूर्ण जगह बनाने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ायेंगे।’’

Author मुंबई | Updated: November 21, 2019 2:18 PM
बॉलिवुड अभिनेता अमिताभ बच्चन, फोटो सोर्स – इंडियन एक्सप्रेस

Amitabh Bachchan at IFFI 2019: अभिनेता अमिताभ बच्चन ने बृहस्पतिवार को कहा कि सिनेमा एक सार्वभौम माध्यम है जो लोगों को उनके सामाजिक एवं आधुनिक जीवन के मतभेदों से अलग रखकर एक साथ लाता है। इस साल सितंबर में दादा साहेब फाल्के पुरस्कार के लिये 77 वर्षीय अभिनेता के नाम की घोषणा की गयी थी और सिनेमा में उनके योगदान के लिये उन्हें सम्मानित करते हुए यहां जारी 50वें अंतरराष्ट्रीय भारतीय फिल्म महोत्सव (इफ्फी) में उनकी फिल्मों का विशेष आयोजन किया गया है। उन्होंने कहा, ‘‘हमेशा से मेरा यही मानना है कि सिनेमा एक सार्वभौम माध्यम है, जो भाषा और हमारे समाज एवं आधुनिक जीवन में आने वाले हर तरह के अन्य कारकों से परे है।’’

कार्यक्रम के उद्घाटन में बच्चन ने कहा, ‘‘जब हम अंधकार भरे हॉल के अंदर बैठते हैं, तो हम हमारे बगल में बैठे व्यक्ति की जाति, रंग, धर्म नहीं पूछते हैं। हम लोग उसी फिल्म, उसी गीत का आनंद उठाते हैं और समान भाव के साथ उसी हास्य पर हंसते तथा भावुक दृश्य पर रोते भी हैं।’’ अभिनेता ने कहा कि तेजी से बिखरती दुनिया में सिनेमा सहित सिर्फ कुछ ही चीजें हैं जो सामुदायिकता और शांति के विचार को बढ़ावा देती हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘मुझे उम्मीद है कि हम ऐसी ही फिल्में बनाते रहेंगे जो लोगों को एक साथ लाएंगी और रंग, जाति एवं धर्म के विभेद को दूर रखते हुए सभी को एक सूत्र में बांधेंगी। अपनी रचनात्मकता को प्रोत्साहित करने के लिये हम सभी एक दूसरे का हाथ थामेंगे और दुनिया को और अधिक शांतिपूर्ण जगह बनाने की दिशा में एक कदम और आगे बढ़ायेंगे।’’ गोवा में 28 नवंबर तक चलते वाले फिल्म महोत्सव के दौरान अमिताभ बच्चन की 50 साल की फिल्मी यात्रा पर इफ्फी में एक कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है जिसमें ‘शोले’, ‘ब्लैक’, ‘पीकू’, ‘दीवार’ और ‘बदला’ जैसी उनकी फिल्में दिखायी जाएंगी।
आर बाल्की निर्देशित ‘पा’ से कार्यक्रम की शुरुआत होगी।

सिनेमा की प्रख्यात शख्सियत को इफ्फी के उद्घाटन समारोह में विशिष्ट अतिथि के तौर पर सम्मानित किया गया। उन्होंने कहा कि गोवा आना उनके लिये हमेशा से एक खूबसूरत अनुभव रहा है। उन्होंने कहा, ‘‘गोवा आना मेरे लिये घर आने के समान हैं। मेरी सबसे पहली फिल्म की शूंिटग यहीं हुई थी और तब से ऐसे कई मौके आये जब इस शानदार जगह पर हमें काम करने का अवसर मिला और विभिन्न कार्यक्रमों तथा शूटिंग के दौरान गोवा वासियों का आतिथ्य मिला।’’ बच्चन ने 50वें इफ्फी समारोह को फिल्म के शौकीनों को विश्व सिनेमा देखने का अवसर प्रदान के लिये बधाई दी।

उन्होंने कहा, ‘‘फिल्म उद्योग में मेरी 50 साल की यात्रा पूरी हुई है। 1969 में मैंने यह यात्रा शुरू की थी और इफ्फी का भी यह 50वां संस्करण है। इतने शानदार तरीके से खुद को संचालित करने के लिये मैं इफ्फी को बधाई देता हूं।’’ कार्यक्रम में गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत, सूचना एवं प्रसारण सचिव अमित खरे, इफ्फी महोत्सव के निदेशक चैतन्य प्रसाद, जाने माने फिल्मकार रमेश सिप्पी एवं एकेडमी ऑफ मोशन पिक्चर्स आर्ट्स एंड साइंसेज (एएमपीएएस) के पूर्व अध्यक्ष जॉन बेली उपस्थित थे। बेली महोत्सव में अंतरराष्ट्रीय ज्यूरी के प्रमुख हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Pagalpanti box office prediction: जॉन अब्राहम, अरशद वारसी और अनिल कपूर की कॉमेडी लाएगी जबरदस्त वीकेंड
2 अर्जुन रामपाल और मेहर जेसिका 21 साल बाद हुए अलग, जानिए क्यों आई रिश्तों में दरार
3 Kundali Bhagya: करण लूथरा को जिंदगी से निकालने जा रही प्रीता, लिया पृथ्वी को अपनाने का फैसला..
ये पढ़ा क्या?
X