ताज़ा खबर
 

स्मृति ईरानी चुप्पी की क्या मजबूरी है? UP में महिला प्रस्तावकों संग हुई अभद्रता पर भड़कीं कांग्रेस नेता, मिले ऐसे जवाब

उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने पहुंची सपा उम्मीदवार के साथ साड़ी उतारने की कोशिश की गई। इस मामले को लेकर अल्का लांबा, स्मृति ईरानी पर भड़की हुई नजर आईं।

स्मृति ईरानी पर फूटा अल्का लांबा का गुस्सा (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने पहुंची सपा उम्मीदवार के साथ साड़ी उतारने की कोशिश की गई। इसके अलावा नामांकन केंद्र पर अन्य महिलाओं संग भी अभद्रता हुई, जिसे लेकर योगी सरकार और भाजपा फिर से विपक्ष के निशाने पर आ गई है। वहीं प्रस्तावक के साथ हुए इस दुर्व्यवहार को लेकर कांग्रेस नेता अल्का लांबा भी भड़की हुईं नजर आईं। उन्होंने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी पर तंज कसते हुए कहा कि चुप्पी की आखिर मजबूरी क्या है? स्मृति ईरानी को लेकर किया गया अल्का लांबा का यह ट्वीट खूब सुर्खियां बटोर रहा है।

अल्का लांबा ने अपने ट्वीट में महिला प्रस्तावकों के साथ हुई अभद्रता पर तंज कसते हुए लिखा, “कांग्रेस और पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी जी ने महिलाओं को सम्मान दिया, महिलाओं को पंचायतों में बराबरी का अधिकार दिया। भाजपा और मोदी-योगी राज में उन्हीं महिलाओं का चीरहरण हुआ।”

अल्का लांबा ने अपने ट्वीट में स्मृति ईरानी से सवाल करते हुए लिखा, “क्या यह है आरएसएस का महिला सशक्तिकरण? महिला मंत्री ईरानी आपकी चुप्पी की क्या मजबूरी है?” कांग्रेस नेता के इन ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर ने भी जमकर कमेंट किये।


रोशन कुमार नाम के एक यूजर ने अल्का लांबा के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “वोटजीवी यूपी सरकार ने पीड़ितों की आवाज दबाकर, बलात्कारियों का साथ दिया, बलात्कारियों की रक्षा करती रही।” पंकज नाम के यूजर ने उनका जवाब देते हुए लिखा, “उनका काम अभिनय का है। 2014 के पहले बहुत अभिनय किया। अब मंत्री बन गई हैं।”

वहीं एक यूजर ने अल्का लांबा पर कांग्रेस पार्टी को लेकर ही तंज कसा। यूजर ने लिखा, “अल्का जी कांग्रेस ने क्या काम किया है ये आप खुद अच्छे से जानती हैं।” वहीं जगदीश नाम के यूजर ने लिखा, “बंगाल में हिंसा के समय ममता बनर्जी से सवाल करने वाली स्मृति ईरानी अब कहां अंडरग्राउंड हो गई हैं। क्या योगी आदित्यनाथ से सवाल करने की हिम्मत नहीं है।”

बता दें कि महिला प्रस्तावकों के साथ हुई हिंसा पर सूर्य प्रताप सिंह का भी गुस्सा फूटा था। अपने ट्वीट में उन्होंने योगी सरकार पर नाराजगी जाहिर करते हुए लिखा, “शर्म करो ऐ पुरुषों, तुम नारी का चीर खींचते हो। इतिहासों के पृष्ठ देख लो, नारी का अपमान हुआ तो सारी धरती डोल गई। कल की यह घटना योगी सरकार की नींव हिला देगी।”

Next Stories
1 नोट छापने की मशीन है क्या? AAP सरकार ने किया मेडल जीतने वालों को 3 करोड़ देने का ऐलान तो पुण्य प्रसून बाजपेयी ने मारा ताना
2 आंदोलन क्या गैस सिलेंडर पर शुरू हुआ था? राकेश टिकैत पर संबित पात्रा ने कसा तंज, किसान नेता से यूं मिला करारा जवाब
3 सलमान खान, अलवीरा खान सहित 8 लोगों पर लगा धोखाधड़ी का आरोप, चंडीगढ़ पुलिस ने भेजा समन; जानें क्या है मामला
आज का राशिफल
X