ताज़ा खबर
 

Kalank एक्ट्रेस पर पायल रोहतगी का हमला, कहा- मां संग भारत में अवैध तरीके से रह रही है Alia Bhatt

Elections 2019, Alia Bhatt: आलिया भट्ट और उनकी मां सोनी राजदान देश में वोट नहीं डाल सकतीं। ऐसे में पायल रोहतगी इस मामले में आलिया और उनकी मां पर निशाना साधते हुए कुछ कह रही हैं, जानिए...

आलिया भट्ट अपनी मां सोनी राजदान के साथ

Alia Bhatt: देशभर में लोकसभा चुनाव का बिगुल बज चुका है। ऐसे में हर सितारा आम नागरिक को जागरूक कर रहा है कि ‘वोट जरूर डालें’। ऐसे में खबर है कि आलिया भट्ट वोट नहीं डाल सकतीं। रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके पीछे का कारण हैं कि आलिया भट्ट एक ब्रिटिश मुस्लिम हैं। दरअसल, उनके पास ब्रिटिश पासपोर्ट है। तो वहीं आलिया की मां सोनी राजदान के साथ भी यही चीज है कि वह देश में चुनावों के दौरान वोट नहीं डाल सकतीं। इस बारे में एक्ट्रेस पायल रोहतगी का एक वीडियो सामने आया है। पायल रोहतगी इस वीडियो में सोनी राजदान को गलत जानकारी के साथ ट्वीट करने और देश वासियों को वोट देने को लेकर भटकाने जैसे आरोप लगा रही हैं।

पायल अपने 6.30 मिनट के वीडियो में कहती हैं- ‘सोनी राजदान एक इंडियन मुस्लिम नहीं है, वह एक ब्रिटिश मुस्लिम है। यह खबर मुझे कल मिली। मुझे अभी तक लग रहा था कि वह एक भारतीय मुस्लिम हैं। वह महेश भट्ट साहब की दूसरी पत्नी हैं। सोनी से शादी करने के लिए महेश भट्ट ने इस्लाम कबूल किया था। शायद उनकी पहली पत्नी ने उन्हें डिवॉर्स नहीं दिया था। तो ट्रिपल तलाक के चलते सोनी महेश भट्टी की दूसरी पत्नी बनीं। शायद उनकी लीगली वाइफ भी नहीं हैं। अगर महेश भट्ट साहब ने अपनी पहली पत्नी को तलाक नहीं दिया है तो।’

पायल वीडियो में कहती हैं-‘सोनी राजदान जो कि एक लीगल इंडियन सिटिजन भी नहीं है वह सोनी अपने ट्विटर वैरिफइड अकाउंट से इंडियन लोगों को कह रही हैं कि जुनैद नाम का एक बच्चा जो कि मौबलिंचिंग का शिकार हुआ था। ट्रेन में इस बच्चे के साथ सीट शेयरिंग इशू हुआ था। इस घटना की वह तस्वीर भी शेयर करती हैं। जो हमारे देश के नागरिक भी नहीं है वह वोटर्स को भड़का रहे हैं। भारत में इतने साल रहने के बाद वह इंडियन सिटीजन नहीं बन जाते। सोनी राजदान अपने ट्विटर से ये गलत जानकारी देते हुए कहती हैं ‘वोट करते समय वो जुनैद को याद रखें। जो जुनैद एक नॉर्मल फाइट की वजह से मर गया था (सीट शेयरिंग) न कि बीफ रिलेटिड मॉबलिंचिंग के चलते मरा था।’

‘ऐसे ट्वीट्स से वोटर प्रभावित हो सकते हैं लोकसभा इलेक्शन शुरू हो चुके हैं। जिन्हें सच नहीं मालूंम वह इससे भटक सकते हैं।’ पायल आगे कहती हैं- ‘कुछ दिन पहले अमित शाह जी ने कहा था कि वह एनआरसी (NRC-National Register of Citizens of India )लागू करेंगे, अगर बीजेपी की सरकार दोबारा आई तो। जैसे रजिस्टर मेंटेन है असम में वैसे ही यहां भी होगा। इसमें भारत में जो ब्रिटिश मुस्लिम अवैध रूप से रह रहे हैं उन्हें बाहर निकाला जाएगा।’

(और ENTERTAINMENT NEWS पढ़ें)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App