ताज़ा खबर
 

सीन चोरी का आरोप लगाने वाले डॉक्यूमेंट्री मेकर प्रवीण व्यास पर मानहानि का केस करेंगे टॉयलेट: एक प्रेम कथा के लेखक

सिद्धार्थ ने कहा- नीरज सर को यह काफी पसंद आई और उन्होंने हमें इसके साथ आगे बढ़ने के लिए कहा। इसके बाद हम शोध के लिए मथुरा, नंदगांव, बरसाना, झांसी और बहराइच गए जोकि लखनऊ के करीब हैं।

Author नई दिल्ली | July 3, 2017 16:47 pm
अक्षय कुमार की फिल्म के निर्माता दायर करेंगे मानहानि का मुकदमा। (Image Source: Instagram)

अक्षय कुमार और भूमि पेडनेकर की अपकमिंग फिल्म टॉयलेट: एक प्रेम कथा के निर्माताओं पर कुछ दिनों पहले चोरी का आरोप लगा था। डॉक्यूमेंट्री फिल्म निर्माता प्रवीण व्यास ने आरोप लगाया था कि फिल्म के पीछे आइडिया उनकी 2016 में आई मानिनी का है। लेकिन फिल्म के लेखक सिद्धार्था और गरिमा का कहना है कि उन्होंने फिल्म राइटर्स एसोसिएशन के साथ अगस्त 2014 में ही अपनी फिल्म की स्क्रिप्ट को रजिस्टर करवा लिया था। बॉलीवुड हंगामा की रिपोर्ट के अनुसार- गरिमा ने कहा कि स्क्रिप्ट को 2013 में नीरज पांडे ने खुद प्रमाणित किया था। इसी वजह से हम उसी साल के दिसंबर से इसपर काम कर रहे थे।

लेखकों के अनुसार उसी दौरान इसी तरह की रीयल लाइफ स्टोरी हुई थी। इसी वजह से उन्होंने इस कहानी को फिक्शन के तौर पर उतारने का निर्णय लिया और कहानी के अपने वर्जन को लेकर आए। सिद्धार्थ ने कहा- नीरज सर को यह काफी पसंद आई और उन्होंने हमें इसके साथ आगे बढ़ने के लिए कहा। इसके बाद हम शोध के लिए मथुरा, नंदगांव, बरसाना, झांसी और बहराइच गए जोकि लखनऊ के करीब हैं। इतना ही नहीं फिल्म लेखकों ने कहानी को निर्माताओं से मथुरा में कहानी को दिखाने के लिए कहा था। गरिमा ने कहा- हम उस समय बहुत खुश हो गए थे जब फिल्म के बेस के लिए मथुरा को चुना गया क्योंकि हमें इसी जगह की तलाश थी। उनका कहना है कि चोरी का आरोप लगाना गलता है।

गरिमा ने कहा कि किसी डॉक्यूमेंट्री की कहानी को चुनने के बाद फिल्म को कुछ ही हफ्तों में खत्म कर लेना संभव नहीं है। क्या मेनस्ट्रीम एक्टर्स के साथ ऐसी फिल्म करना संभव है? अगर हमारा काम आलोचना के अंतर्गत आता है तो हम उससे खुश हैं। लेकिन किसी और के काम को चुराने का आरोप सुनना हमारे लिए हास्यास्पद, निराशाजनक और अपमानजनक है।

अब गरिमा और सिद्धार्थ कानूनी कार्रवाई करने के बारे में सोच रहे हैं। गरिमा ने कहा- इस समय हम तथ्य और दूसरी चीजों को वेरिफाई कर रहे हैं। एक बार हम इसे खत्म कर लें उसके बाद हम मानहानि का मुकदमा दायर करेंगे। यह काफी दिलचस्प है कि कैसे लोग अपने 15 मिनट की फेम पाने के लिए आखिरी समय पर इस तरह के आरोप लगाते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App