ताज़ा खबर
 

पठानकोट हमले के सवाल पर बोले अक्षय कुमार, ‘इन्‍हें घर में घुस के मारो’

पंजाब के पठानकोट एअरफोर्स स्टेशन पर आतंकी हमले पर बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा कि आतंकियों को घर में घुस कर मारो..
Author लखनऊ | January 5, 2016 10:24 am
बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार। (फाइल फोटो)

पंजाब के पठानकोट एअरफोर्स स्टेशन पर आतंकी हमले पर बॉलीवुड अभिनेता अक्षय कुमार ने कहा कि आतंकियों को घर में घुस कर मारो। अक्षय ने कहा, मैं रील हीरो हूं न कि रीयल हीरो, मैं इतना कर सकता हूं कि लोगों को ‘गब्बर इज बैक’ और ‘बेबी’ जैसी फिल्मे दिखाऊं।” आगे उन्होंने कहा कि हमारी फौज देश के लिए अपनी जान दे देते हैं, उनके परिवार को कितनी परेशानियों का सामान करना पड़ता है इसका अंदाजा नही लगाया जा सकता। इसके बाद पठानकोट हमले से जुड़े एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, “इनको घर में घुसकर मारो।” अक्षय सोमवार को यहां प्रीमियर बैडमिटन लीग (पीबीएल) के उद्घाटन करने पहुंचे थे।

अक्षय कुमार ने कहा, ‘मैंने आज सुबह अखबार में पढ़ा कि एक सैनिक ने निहत्थे एक आतंकवादी का पीछा किया। फिर उसकी बंदूक छीन कर उसे मारा. दुर्भाग्य था कि उसकी जान चली गई।’ अक्षय कुमार ने पठानकोट हमले को पीएम के पाक दौरे से जोड़ने से भी इनकार किया उन्होंने कहा, ‘हर घटना को उनके पाकिस्तान दौरे से जोड़कर नहीं देखना चाहिए, आतंकवादी तो ये चाहते ही हैं।’

पठानकोट में एयर फोर्स बेस कैंप पर शनिवार को आतंकी हमला हुआ था। तब से अभी तक वहां मुठभेड़ जारी है। इस आतंकी हमले में भारत मां के कई लाल अभी तक वतन पर अपनी जान न्‍योछावर कर चुके हैं। इनके नाम हैं- कॉमनवेल्‍थ गेम्‍स में गोल्‍ड मेडल जीत चुके फतेह बहादुर सिंह, गरुण कमांडो गुरसेवक सिंह, हवलदार कुलवंत सिंह, जवान जगदीश सिंह, निरंजन कुमार और संजीव कुमार हैं। इन सभी ने अपनी जान की परवाह न करते हुए बहादुरी के साथ आतंकियों का सामना किया।

Read Also:

पठानकोट हमले के शहीदों की कहानी: एक दिन पहले ही हुई थी जगदीश चांद की तैनाती, जानें कई और बातें 

पठानकोट के शहीदों की कहानी: छुट्टी से लौटते वक्‍त पोस्‍टर साइज फोटो पत्‍नी को दे गए थे कुलवंत

पठानकोट हमले का मकसद शांति प्रक्रिया को रोकना: मुफ्ती

पठानकोट हमले को लेकर अंधेरे में है सरकार : कांग्रेस

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. B
    bharat putra
    Jan 5, 2016 at 10:41 am
    यही अंतर है कि आमिर खान और अक्षय कुमार में .
    (1)(0)
    Reply
    1. Shrikant Sharma
      Jan 6, 2016 at 12:16 pm
      सबसे बड़ा सवाल है की अगर प्रधान mantree बिरयानी /खाने चाय peene नवाज के घर नहीं जाते तो क्या आतंक वाड़ी फिर भी हा करते?वोह भी २५ keelomeeter भारत के भीतर घुस कर? जब भारत उसके घर में घुसे हुए गद्दारों को जो आतंक वादियों की मदद करते हैं उनको पूरी सुविधाएँ दे रहा है वोट बैंक राज नीति के कारन तू इस तरह भारत के सपूतोनों को सक्रूफीके करने का उन को तो अधिकार बिलकुल नहीं जो आतंक वादियोनो के घर में घुस कर मारने के बजाय शादी में जाकर बिरयानी कहते हैं और चाय पीते हैं ये भारत के सप्पूटोनो का खून पीना है.
      (0)(0)
      Reply
      1. V
        varun
        Jan 6, 2016 at 1:09 am
        अच्छी सोच है और यही फर्क होता है अच्छे देशभक्त और देशविद्रोही में ी बोला लेकिन हमारे नेताओ की सोच आप जैसी नही है
        (1)(0)
        Reply