ताज़ा खबर
 

ओटीटी प्लेटफॉर्मः क्या एक बौने का होगा वामन अवतार?

बीते मार्च से कोरोना विषाणु महामारी के बाद ओटीटी प्लेटफॉर्म के दिन बदल गए। सिनेमाघर बंद हो चुके थे। नई फिल्मों के प्रदर्शन का कोई और जरिया था नहीं। तैयार हो चुकी फिल्मों के निर्माता लंबे समय तक इंतजार करने की स्थिति में नहीं थे।

बीते मार्च से कोरोना विषाणु महामारी के बाद ओटीटी प्लेटफॉर्म के दिन बदल गए।

आरती सक्सेना

बड़े परदे और छोटे परदे की लोकप्रियता के चलते ओटीटी (ओवर द टॉप) प्लेटफार्म हमेशा से नजरअंदाज होता रहा था। इसकी एक खास वजह यह भी थी कि जितनी कमाई सिनेमाघरों और टीवी अधिकारों से होती थी,उतनी ओटीटी प्लेटफॉर्म से नहीं। हालांकि समय के साथ दर्शकों का एक ऐसा वर्ग विकसित हुआ है, जो ओटीटी प्लेटफॉर्म पर दिखाए जाने वाले कंटेंट को पसंद कर रहा है। यह वर्ग जिस तेजी से बढ़ रहा है उसे देखते हुए कहा जा सकता है कि ओटीटी प्लेटफॉर्म भविष्य का माध्यम है।

चूंकि ओटीटी प्लेटफॉर्म पर दिखाई जाने वाली वेब सीरीज में सेंसर बोर्ड की दखलंदाजी नहीं है इसलिए इनमें अंगप्रदर्शन और किरदारों के मुताबिक भाषा का खुलकर इस्तेमाल हो रहा है। साथ ही ऐसी वेब सीरीज पर अभद्र भाषा और अश्लीलता के आरोप लगने भी शुरू हो गए। बावजूद इसके वेब सीरीज को पसंद करनेवाला वर्ग लगातार बढ़ रहा है। एकता कपूर की ‘ट्रिपल एक्स’ वेब सीरीज को काफी लोगों ने पसंद किया। फिलहाल यह दर्शक वर्ग टीवी और सिनेमाघरों में फिल्म देखने वाले वर्ग से बहुत छोटा है।

बीते मार्च से कोरोना विषाणु महामारी के बाद ओटीटी प्लेटफॉर्म के दिन बदल गए। सिनेमाघर बंद हो चुके थे। नई फिल्मों के प्रदर्शन का कोई और जरिया था नहीं। तैयार हो चुकी फिल्मों के निर्माता लंबे समय तक इंतजार करने की स्थिति में नहीं थे। लिहाजा ऐसी फिल्मों का प्रदर्शन ओटीटी प्लेटफॉर्म पर शुरू किया गया। अमिताभ बच्चन से लेकर आयुष्मान खुराना और विद्या बालन से लेकर जाह्नवी कपूर तक की फिल्में ओटीटी के जरिए दर्शकों तक पहुंचने लगीं। घर में बंद दर्शकों को विकल्प के रूप में नेटफ्लिक्स, एमेजान प्राइम वीडियो, डिज्नी हॉट स्टार पर फिल्में देखने को मिलने लगीं। अमिताभ बच्चन और आयुष्मान खुराना की ‘गुलाबो सिताबो’ ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज हुई। जाह्नवी कपूर की ‘गुंजन सक्सेना’, विद्या बालन की ‘शकुंतला देवी’, आलिया भट्ट की ‘सड़क 2’, बॉबी देओल की ‘आश्रम’, ‘क्लास आॅफ 83’, सुशांत सिंह राजपूत की ‘दिल बेचारा’ जैसी फिल्में ओटीटी प्लेटफॉर्म के जरिए दर्शकों तक पहुंची।

यह क्रम बदस्तूर जारी है। आगामी दिनों में ओटीटी प्लेटफॉर्म पर अक्षय कुमार की ‘लक्ष्मी बम’, अजय देवगन की ‘भुज’ किआरा आडवानी की ‘इंदू की जवानी’, कृति सेनन की ‘मीमी’ रिलीज होने वाली हैं। ये सारी बड़ी फिल्में काफी समय से बन कर तैयार हंै और सिनेमाघरों के बंद होने भारी नुकसान उठा रही हैं इसलिए निर्माता सिनेमाघरों के खुलने का इंतजार करने के बजाय इन्हे ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज कर अपना नुकसान कम करना चाहते हैं। हालांकि सलमान खान और अक्षय कुमार जैसे चोटी के सितारे अपनी फिल्मों को ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज करने के लिए तैयार नहीं हैं। मगर पूर्णबंदी के लंबे खिंचने से इन सितारों के सामने भी कोई और विकल्प नहीं रहेगा। इससे दर्शकों को अपने प्रिय सितारों की फिल्में घर बैठे देखने को मिलेगी और निर्माता को अपना नुकसान कम करने का एक विकल्प मिलेगा।

ओटीटी प्लेटफॉर्म पर रिलीज होने से फिल्म पाइरेसी से बचेगी और इसका विश्व प्रीमियर भी होगा। यह एक ही दिन दुनिया भर में देखी जा सकेगी। इस हिसाब से बिग बजट रिलीज फिल्में ओटीटी प्लेटफार्म पर जहां दर्शकों के लिए वरदान साबित होगी, वही करोड़ों कमाने वाले एक्टर और फिल्म निर्माताओं के लिए ऊंची लागत अभिशाप भी बन सकती है।

जिस तरह से टीवी चलन से बाहर हो चुके कई फिल्म कलाकारों के लिए तारनहार बना था, उसी तरह ओटीटी प्लेटफॉर्म भी हाशिए पर डाल दिए गए कलाकारों को मौके दे रहा है। मसलन सुष्मिता सेन ‘आर्या’ वेब सीरीज से वापस सक्रिय हुईं हैं। करिश्मा कपूर आठ साल बाद ‘मेंटलहुड’ वापसी कर चुकी हैं। बिपाशा बसु ने भी अपने पति करण सिंह ग्रोवर के साथ वेब सीरिज ‘डेंजरस’ के जरिए अभिनय में वापसी की है। जैकलिन फर्नांडिस भी नेटफ्लिक्स पर वेब सीरीज ‘मिसेज किलर’ में दिख रही हैं। इसी तरह बॉबी देओल, अभिषेक बच्चन, सैफ अली खान, नवाजुद्दीन सिद्दीकी, मनोज बाजपेयी से लेकर नसीरुद्दीन शाह तक ओटीटी प्लेटफॉर्म पर जौहर दिखाने के लिए सक्रिय हैं।

दर्शकों के बीच विशेष पहचान

ओटीटी प्लेटफार्म अपनी ताजातरीन और लोकप्रिय वेब सीरीज जैसे ‘अपहरण’, ‘बॉस डैड आर अलाइव’, ‘क्लास ऑफ 2020’ ,‘कहने को हमसफर है’ ,‘ब्रोकन बट ब्यूटीफुल’ , ‘वर्जिन भास्कर 2’ आदि के चलते दर्शकों के बीच अपनी खास पहचान बनाए है। चूंकि ओटीटी प्लेटफार्म व्यावसायिक तौर पर अभी भले ही सिनेमाघरों और टीवी जैसे माध्यम के मुकाबले पीछे है। फिल्मजगत की निगाहें इस माध्यम पर लगी है और वह देखना चाहता है कि क्या इस बौने में विशाल वामन की तरह तीन पग में ब्रम्हांड नाप लेने का दमखम है?

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 रुपहला पर्दाः सिनेमा की दशा-दिशा बदलने वाली तकनीक
2 हमारी याद आएगीः पचास साल चली हिम्मत और किस्मत की लड़ाई
3 कोरोना संक्रमित मलाइका ने बेटे के लिए सोशल मीडिया पर लिखी पोस्ट
यह पढ़ा क्या?
X