अखिलेश यादव, मायावती से होती रहती है हमारी बातचीत; लाइव इंटरव्यू में बोले किसान नेता राकेश टिकैत

किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा कि हमारी बातचीत अखिलेश यादव, मायावती और योगी आदित्यनाथ से होती रहती है। साथ ही उन्होंने कहा कि अखिलेश और मायावती के समय गन्ने की कीमत बढ़ाई गई थी।

भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय प्रवक्ता राकेश ठिकैत। फोटो- इंडियन एक्सप्रेस By जसवीर माल्ही

किसान नेता राकेश टिकैत अपनी मांगों पर अड़े हुए हैं। राकेश टिकैत ने लाइव इंटरव्यू में साफ कर दिया कि उनका आंदोलन खत्म नहीं होने वाला है। ‘एबीपी न्यूज़’ के कार्यक्रम में टिकैत से पूछा गया, ‘आपके नेता नरेश टिकैत ने कहा कि उन्हें अखिलेश यादव, जयंत चौधरी से मार्गदर्शन मिलता रहता है। क्या आप मायावती से भी मार्गदर्शन लेते हैं?’ राकेश टिकैत इसके जवाब में कहते हैं, ‘हमारी तो योगी आदित्यनाथ से भी बातचीत होती रहती है।’

टिकैत आगे कहते हैं, ‘हम तो ममता बनर्जी से भी बात करेंगे। क्यों वो सूबे के मुख्यमंत्री नहीं हैं? हम तो बिल्कुल उनसे बातचीत करेंगे। अखिलेश यादव ने गन्ने का रेट 50 रुपए बढ़ाया और मायावती ने 80 रुपए बढ़ाया था। वहीं, हम चाहते हैं कि योगी आदित्यनाथ भी कुछ रेट तो बढ़ाएं। अब तो बीजेपी वाले है ही कहां? मुरली मनोहर जोशी और लाल कृष्ण आडवाणी हैं बीजेपी के, लेकिन वो नज़र कहां आते हैं अब?’

योगी आदित्यनाथ से होती है मुलाकात? किसान नेता ने आगे कहा, ‘योगी आदित्यनाथ बीजेपी के मुख्यमंत्री नहीं हैं। योगी जी यूपी के सीएम हैं और नरेंद्र मोदी देश के पीएम हैं। मोदी जी ने कहा था कि 2022 तक फसल की कीमत दोगुनी होगी। हम तो यही कहेंगे कि आमदनी दोगुनी होगी तो कहां है वो?’ एंकर अखिलेश आनंद कहते हैं, ‘आप दो बार चुनाव लड़ चुके हो। एक बार तो आपकी जमानत तक जब्त हो गई थी।’

कहां खत्म होगा आंदोलन: राकेश टिकैत ने कहा था, ‘किसानों की लड़ाई तो ज्यादा से ज्यादा 30-35 साल से लड़ी जा रही है। देश की लड़ाई तो 90 सालों तक लड़ी गई थी तब जाकर कहीं आजादी मिली थी। पहले कितने लोग किसानों के हक की बात करते थे? अब किसानों के हक की बात हो रही है तो आगे की लड़ाई भी लड़ी जाएगी और अपनी अपनी मांग भी पूरी करवाई जाएगी।’

राकेश टिकैत ने आगे कहा कि आम किसान सस्ते में फसल बेच रहा है। लेकिन वो सब चीजें नहीं दिखाई जातीं। आप झारखंड के मुद्दे दिखाते हो क्या? तमिलनाडु दिखाते हो क्या? किसानों को तो सरकार गाजीपुर आने ही नहीं दे रही है।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट