सभी राजनीतिक पार्टियों ने कश्मीर के नाम पर पाकिस्तान से लिए थे फंड; लाइव डिबेट में बोले अशोक पंडित

फिल्ममेकर अशोक पंडित ने कश्मीर के मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। अशोक पंडित ने कहा, ‘ये तो ऐसा कह रहे हैं जैसे धारा 370 हटने से पहले वहां दूध की नदियां बहती थीं। ॉबम फटने 370 के बाद शुरू हुए, कश्मीरियों का नरसंहार 370 हटने के बाद हुआ।’

Ashoke Pandit, PM Modi, अशोक पंडित, पीएम नरेंद्र मोदी, Film Director Ashoke Pandit, Corona vaccine,
फिल्म मेकर अशोक पंडित (फोटो सोर्स- सोशल मीडिया ट्विटर)

फिल्ममेकर अशोक पंडित राजनीतिक मुद्दों पर अपनी प्रतिक्रिया के चलते अक्सर चर्चा में रहते हैं। अब अशोक पंडित ने कश्मीर के मुद्दे पर अपनी प्रतिक्रिया दी है। अशोक पंडित ने लाइव डिबेट में कहा, ‘पीडीपी जैसी राजनीतिक पार्टियां नहीं चाहती हैं कि कश्मीर में शांति हो। ऐसा नहीं है कि धारा 370 हटने के बाद ही कश्मीर में सब क्राइम हुए। आतंकी संगठनों से जुड़े हुए लोगों ने लाखों रुपए कमाए।’

कांग्रेस प्रवक्ता सलमान निज़ामी को जवाब देते हुए अशोक पंडित ने कहा, ‘ये तो ऐसा कह रहे हैं जैसे धारा 370 हटने से पहले वहां दूध की नदियां बहती थीं। ये सब तो शुरू हुआ 5 अगस्त 2019 के बाद। बम फटने 370 के बाद शुरू हुए, कश्मीरियों का नरसंहार 370 हटने के बाद हुआ। इनको कश्मीर के हालात के बारे में बोलने का कोई अधिकार ही नहीं है। सभी राजनीतिक दलों ने पाकिस्तान के साथ मिलकर हमेशा कश्मीर को जलाकर रखा।’

अशोक पंडित ने आगे कहा, ‘वहां के सारे राजनेताओं ने वहां बहुत पैसा कमाया और प्रोपर्टियां बनाईं। ये सभी लोग नहीं चाहते हैं कि कभी कश्मीर में शांति हो। ये नहीं चाहते हैं कि कश्मीर में लोग आपस में मिलकर रहें। ये लोकतांत्रिक व्यवस्था को हमेशा चुनौती देते हैं। क्योंकि इनकी दुकानें ही उस प्रोसेस को चुनौती देकर चलती हैं। इसलिए ये लोग लगातार ऐसी शांति व्यवस्था को चुनौते देते हैं।’

कांग्रेस प्रवक्ता सलमान निज़ामी कहते हैं, ‘बीजेपी खुद कश्मीर में पीडीपी के साथ थी। दोनों पार्टियों ने कश्मीर में सरकार चलाई। दो साल में जम्मू-कश्मीर को आपने बर्बाद कर दिया। हमारे युवाओं के पास अब नौकरी नहीं बची है। इन सब हालातों के लिए बीजेपी की सरकार जिम्मेदार है।’

इससे पहले भी फिल्ममेकर अशोक पंडित ने कांग्रेस पर निशाना साधा था। उन्होंने कहा था, ‘कांग्रेस की बर्बादी से राष्ट्र बर्बाद नहीं हो रहा, श्रीमान गांधी। इस बात को याद रखें। आपकी दादी द्वारा लगाया गया आपातकाल, 1984 में सिखों का नरसंहार और कश्मीरी हिंदुओं का उनके घर से पलायन। आपकी माता जी के शासन के दौरान सभी घोटाले हुए।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट