ताज़ा खबर
 

मानुषी छिल्लर बोलीं- काश! Miss World खिताब जीतने के बाद ऐसा कर पाती

मानुषी ने हाल ही में चीन के सान्या में एक शानदार कार्यक्रम में यह प्रतिष्ठित खिताब जीता है।

Author गुड़गांव | November 28, 2017 4:27 PM
मिस वर्ल्ड 2017 मानुषी छिल्लर।

मानुषी छिल्लर ने जब मिस वर्ल्ड 2017 का खिताब जीता तो उनकी खुशी का कोई ठिकाना नहीं था, लेकिन वह सोचती हैं कि काश उनकी प्रतिक्रिया और महिलाओं वाली होती। मानुषी ने हाल ही में चीन के सान्या में एक शानदार कार्यक्रम में यह प्रतिष्ठित खिताब जीता है। हरियाणा की 20 वर्षीय मेडिकल छात्रा मानुषी ने पीटीआई से इंटरव्यू में कहा, ‘‘मैं इस बात से इनकार नहीं करती कि मैंने अपनी जीत वाला वीडियो कई बार देखा है। मैं अब भी रोमांचित हूं, लेकिन मैं सोचती हूं कि काश मैं इससे भी ज्यादा महिलाओं वाली प्रतिक्रिया दे पाती। यह ऐसी चीज थी जो स्वत: आती है। अब मैं इस वीडियो को देखती हूं तो मुझे हंसी आती है।’’ बता दें कि मानुषी से पहले पहले वर्ष 2000 में प्रियंका चोपड़ा ने मिस वर्ल्ड का खिताब जीता था। प्रियंका से पहले 1999 में युक्ता मुखी ने देश के लिए यह खिताब जीता था।

मानुषी के जीतने के बाद कांग्रेस सांसद शशि थरुर द्वारा उनके उपनाम छिल्लर का मजाक उड़ाते हुए एक ट्वीट किया था।इस मामले पर बात करते हुए मानुषी ने कहा, ‘‘मिस वर्ल्ड बनना मेरे लिए बहुत ही खास है, लेकिन प्रत्येक व्यक्ति का मजाक करने का अपना तरीका होता है। आज के समय में आपके पास सोशल मीडिया है और उस पर हर व्यक्ति की अपनी-अपनी राय होती है। मैं खुश हूं कि मैं लोगों के लिए कम से कम हास्य का जरिया बन पाई।” बता दें कि छिल्लर ने मानुषी के जीतने के बाद अपने ट्विटर हैंडल पर थरुर ने लिखा था “भाजपा को अहसास होना चाहिए कि भारतीय नकद विश्व पर छाया हुआ। यहां तक कि चिल्लर भी मिसवर्ल्ड बन गयी।’’

वहीं दूसरी तरफ मानुषी की जीत के बाद हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह और वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के बीच मानुषी को सम्मानित करने को लेकर वाकयुद्ध छिड़ गया है। हुड्डा ने खट्टर सरकार को सुझाव दिया कि उन्हें मानुषी को छह करोड़ रुपये और भूखंड सम्मान में देना चाहिए। हुड्डा के इस बयान पर खट्टर ने कहा, ‘‘उनकी सोच बस भूखंड और नकद तक सीमित रह गई है। व्यक्ति को उससे ऊपर उठकर सोचना चाहिए।’’ इस पर बात करते हुए मानुषी ने कहा, ‘‘मैं समझती हूं कि यह पूरी तरह हरियाणा पर निर्भर करता है कि वह मुझे क्या देना चाहता है और क्या नहीं। मैं बस खुश हूं कि मैं उन्हें यह जीत दे पायी।’’ मानुषी ने कहा, ‘‘पहले से ही राज्य में काफी सकारात्मक बदलाव हो रहे हैं। मेरे पैतृक गांव में खाप पंचायत ने शादियों में गोलियां चलाने की प्रथा भी रोक दी है।’’

देखिए वीडियो

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App