scorecardresearch

शिव-पार्वती की वेशभूषा में बुलेट पर निकले एक्टर, बीच सड़क पर झगड़ने लगे; पुलिस को देना पड़ा दखल

असम में एक युवक युवती को शिव-पार्वती का भेष रखकर बहस करना भारी पड़ गया. हिंदूवादी संगठनों ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी।

शिव-पार्वती की वेशभूषा में बुलेट पर निकले एक्टर, बीच सड़क पर झगड़ने लगे; पुलिस को देना पड़ा दखल
असम में शिव-पार्वती का रूप धरकर बहस करने वाले युवक-युवती गिरफ्तार( image: twitter)

लीना मणिमेकलई की डॉक्यूमेंट्री फिल्म के पोस्टर पर माता काली को जिस तरह से दिखाया गया है उस पर इन दिनों काफी विवाद हुआ। इसी के साथ लीना ने भगवान शिव और मां पार्वती का रोल निभाने वाले कलाकारों की एक तस्वीर भी शेयर की थी। इस तस्वीर में भगवान शिव और मां पार्वती का किरदार निभाने वाले दोनों अभिनेता धूम्रपान करते दिखाई दे रहे थे। अभी यह विवाद थमा भी नहीं था कि हाल ही में असम से एक ऐसा ही मुद्दा उठा है, जहां शिव पार्वती का किरदार निभाने वाले एक्टर बाइक पर जा रहे थे,और किसी बात पर झगड़ा करने लगे। झगड़े के बाद विवाद इतना बढ़ गया कि इस मामले में पुलिस को दखल देना पड़ा।

दरअसल शनिवार सुबह करीब साढ़े आठ बजे ‘भगवान शिव’ रॉयल एनफील्ड बुलेट पर ‘देवी पार्वती’ के साथ असम के नगांव शहर की सड़कों पर प्रकट हुए। दोनों युवक युवती शिव-पार्वती का भेष बनाकर बुलेट की सवारी कर रहे थे। अचानक उनकी बुलेट में पेट्रोल खत्म हो गया। इसे लेकर पार्वती बनी महिला नाराज हो गई। उसने बहस शुरू कर दी। शिव बने युवक ने भी जवाब दिया। दोनों के बीच ये बहस पेट्रोल से आगे बढ़कर देश में महंगाई और आम आदमी की परेशानियों तक पहुंच गई। शिव-पार्वती के रूप में इस तरह बीच बाजार बहस करते दोनों को देखकर मामला गरमा गया। खबर हिंदू संगठनों तक पहुंची। उन्होंने देवी देवताओं के अपमान का आरोप लगाया। विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल आदि ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करा दी। मामला गरमाता देख पुलिस ने शिव बने युवक को हिरासत में ले लिया।

पुलिस को दिए बयान में शिव बने एक्टर ने बताया कि उनका नाम ब्रिनिचा बोरा है और वह पेशे से एक्टर है, और पार्वती बने सख्स ने बताया कि उनका नाम परिस्मिता दास है। उन्होंने दावा किया कि ‘रचनात्मक विरोध’ करके लोगों का ध्यान आकर्षित करने के लिए उन्होंने ये नाटक किया था। शिव बने ब्रिनिचा बोरा ने कहा कि बहुत से लोग अपनी समस्याओं और चिंताओं को दूर करने के लिए भगवान शिव से प्रार्थना करते हैं। इसीलिए हम दोनों ने शिव पार्वती का रूप धारण कर इस नाटक के जरिए लोगों में जागरूकता फैलाने की कोशिश की थी।

पार्वती बनी एक्ट्रेस परिस्मिता दास ने बताया कि आमतौर पर लोगों में जागरूकता लाने के लिए रैलियों निकालते हैं। उन पर खर्च ज्यादा होता है। फिर भी लोग उस तरह की चीजों पर ज्यादा ध्यान नहीं देते। ऐसे में हम ने ये क्रिएटिव तरीका आजमाया था ताकि लोग बात को समझ सकें।

हालांकि शिव पार्वती का किरदार निभाने वाले इन एक्टर-एक्ट्रेस से हिंदूवादी संगठन सहमत नहीं दिखे ,और दोनों के खिलाफ पुलिस में रिपोर्ट दर्ज करवाई गई। रिपोर्ट दर्ज कराने वाले विश्व हिंदू परिषद और बजरंग दल जैसे संगठनों का कहना है कि दोनों ने हमारे देवी-देवता को गलत तरीके से पेश किया, जिसकी आजादी किसी को नहीं है। हमारे ही देवी देवताओं को इस्तेमाल क्यों किया गया और नीचा दिखाया गया? इस तरह की हरकत को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.