ताज़ा खबर
 

सलमान खान के बाद अब आमिर खान दिल्ली में लॉन्च करेगे आशा पारेख की बायोग्राफी द हिट गर्ल

30 अप्रैल को दिल्ली में उनकी ऑटोबायोग्राफी लॉन्च होगी जिसे इंडस्ट्री में मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम से मशहूर आमिर खान लॉन्च करेंगे। सलमान ने मुंबई में तो आमिर दिल्ली में इसे लॉन्च करने का सम्मान हासिल करेंगे।
Author नई दिल्ली | April 12, 2017 16:08 pm
आशा पारेख की किताब लॉन्च करते सलमान खान। (Image Source: Instagram)

आशा पारेख की ऑटोबायोग्राफी द हिट गर्ल ने बहुत से लोगों का ध्यान अपनी तरफ खींचा था। इसका कवर पिछले दिनों लॉन्च किया गया था। अब इसका कुछ हिस्सा वेब पर उपलब्ध है जिसमें कि सलमान खान द्वारा लिखी गई पृष्ठभूमि और डिप्रेशन से उनकी लड़ाई सहित दूसरी कई चीजें शामिल हैं। सोमवार को सलमान खान ने आशा पारेख की किताब का मुंबई में लोकार्पण किया। इस मौके पर बॉलीवुड के वरिष्ठ सेलिब्रिटी जिसमें धर्मेंद्र, जीतेंद्र, हेलन , वहीदा रहमान और शम्मी कपूर मौजूद रहे। मुंबई में ग्रांड इवेंट के बाद अब आशा पारेख अपनी किताब को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में लॉन्च करने की तैयारी कर रही हैं।

30 अप्रैल को दिल्ली में उनकी ऑटोबायोग्राफी लॉन्च होगी जिसे इंडस्ट्री में मिस्टर परफेक्शनिस्ट के नाम से मशहूर आमिर खान लॉन्च करेंगे। सलमान ने मुंबई में तो आमिर दिल्ली में इसे लॉन्च करने का सम्मान हासिल करेंगे। इस डेवलेपमेंट से जुड़े एक सूत्र ने बताया कि दिल्ली के प्लश होटल में कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। इस खबर के बारे में आमिर खान की टीम ने भी कंफर्म किया है। कुछ समय पहले फिल्म निर्माता और निर्देशक करण जौहर ने अपनी बायोग्राफी एन अनसुटेबल ब्वॉय लॉन्च की थी। इसके बाद वरिष्ठ एक्टर ऋषि कपूर ने भी खुल्लम खुल्ला नाम से अपनी बायोग्राफी को लॉन्च किया था। जिसकी बातें काफी दिनों तक सुर्खियों में छाई रही थीं।

कुछ दिनों पहले आशा पारेख ने नितिन गडकरी की उस टिपप्णी का भी जवाब दिया था जिसमें केंद्रीय मंत्री ने कहा था कि अभिनेत्री ने पद्म भूषण पाने के लिए 12 मंजिल की सीढ़ियां चढ़कर उनसे मुलाकात की थी और यह सम्मान देने की पैरवी की थी। उन्होंने गडकरी की बात को हंसी में उड़ाते हुए कहा, ” पीठ में समस्या के चलते मैं सात मंजिल तो चढ़ नहीं पाती तो फिर 12 मंजिल कैसे चढ़ सकती हूं। यह असंभव है।” तो फिर, गडकरी ने यह बात क्यों कही। इस सवाल पर उन्होंने कहा, “मैं नहीं जानती..आप नितिन गडकरी से पूछिए।

केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड की अध्यक्ष रह चुकीं और उस दौरान फिल्म ‘जख्म’ और ‘एलिजाबेथ’ के बारे में अपने फैसले के लिए आलोचनाओं का सामना करने वाली अभिनेत्री कहती हैं कि सेंसरशिप बेहद जरूरी है। बड़े सितारों वाली फिल्मों की बात नहीं है, लेकिन जो बी और सी ग्रेड की फिल्में बनती हैं, उनमें से कई भयावह होती हैं और उन्हें सेंसर करना ही होगा। इस बारे में कोई बात नहीं करता।

'टाइगर जिंदा है' फर्स्ट लुक: सलमान-कैटरीना के बीच दिखी हॉट केमिस्ट्री

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.