ताज़ा खबर
 

फेयरनेस क्रीम पर छिड़ी बहस के बीच बोलीं बिपाशा बसु- एक्टिंग से ज्यादा मेरे सांवले रंग की होती थी चर्चा…’

दुनियाभर में छिड़ी गोरे-काले की बहस के बीच भारत की जानीं-मानीं कंपनी हिंदुस्तान यूनिलिवर ने अपने ब्रांड से फेयर शब्द हटाने का फैसला किया है। जिसके बाद बिपाशा बसु ने अपने सांवले रंग को लेकर हुई परेशानी का जिक्र करते हुए...

फेयरनेस क्रीम पर छिड़ी बहस के बीच बिपाशा बसु ने बयां किया अपना दर्द

अमेरिका में जॉर्ज फ्लॉयड नाम के एक शख्स की उसके काले रंग के कारण पुलिस द्वारा हत्या कर दी गई। जिसे लेकर दुनियाभर में बवाल मचा हुआ है। इन सबके बीच कई बॉलीवुड सिलेब्स भी खुलकर अपना विरोध जताते दिख रहे हैं। इस दौरान भारत में भी ब्यूटी क्रीम्स को लेकर विवाद गहरा गया है। जिसके चलते ‘हिंदुस्तान यूनिलिवर’ कंपनी ने अपनी पॉपुलर क्रीम ‘फेयर एंड लवली’ के नाम से ‘फेयर’ शब्द हटाने का फैसला किया है। इस खबर के बाद एक्ट्रेस बिपाशा बसु ने भी अपने सांवले रंग के कारण हुईं परेशानियों को सोशल मीडिया पर साझा किया।

बिपाशा ने लिखा, ‘अपने सांवले रंग को लेकर जब मैं बड़ी हो रही थी तब से मैंने हमेशा यही सुना है, “बोनी सोनी की तुलना में अधिक काली है। वह थोड़ी सांवली है” भले ही मेरी माँ सांवली हैं और मैं उनकी तरह दिखती हूं। मुझे ये कभी नहीं पता चला कि मेरे रिश्तेदार रंग को लेकर चर्चा क्यों करते हैं। 15, 16 साल की उम्र में मैंने मॉडलिंग शुरू कर दी और फिर मैंने सुपर मॉडल प्रतियोगिता जीती। जिसके बाद सभी अखबारों में लिखा गया कि कोलकाता की एक सांवली लड़की ने ब्यूटी कांटेस्ट जीता है। मुझे फिर से आश्चर्य हुआ कि डस्की मेरा पहला परिचय क्यों है ???

फिर मैं मॉडलिंग के लिए न्यूयॉर्क और पेरिस गई और मुझे एहसास हुआ कि मेरे स्किन कलर के लिए मुझे यहां ज्यादा काम और ध्यान मिलता है। ये मेरी अलग खोज थी। जब मैं वापस आई तो मुझे फिल्मों के ऑफर मिलना शुरू हो गए। आखिरकार मैंने अपनी पहली फिल्म की, मैं इंडस्ट्री से पूरी तरह अजनबी थी। अचानक ही मुझे अपना लिया गया और पसंद किया गया। लेकिन मेरे नाम के साथ सांवला शब्द जुड़ा रहा। सांवली लड़की ने अपनी डेब्यू फिल्म से ऑडियंस को इंप्रेस किया। मेरे ज्यादातर आर्टिकल में मैंने जितना काम किया उससे ज्यादा चर्चा मेरे रंग की थी। मैं इसे नहीं समझ पाई। मेरे ख्याल से सेक्सी एक पर्सनालिटी है ना कि रंग। क्यों मेरे सांवलेपन के चलते मुझे बाकी एक्ट्रेस से अलग समझा गया। मुझे ज्यादा फर्क नहीं समझ आता मगर लोग बनाते हैं।’

इसके अलावा बिपाशा ने लिखा, ‘बीते 18 सालों में मुझे कई बड़े बजट के स्किन केयर एंडोर्समेंटऑफर हुए थे, लेकिन मैं अपने सिद्धांत पर अड़ी रही। इसे रोकने की जरुरत है। ये एक झूठा सपना है जिसे हम बेच रहे हैं। कि सिर्फ फेयर ही लवली है और खूबसूरत। जबकि देश की ज्यादातर जनसंख्या सांवली है। ये ब्रांड का बड़ा फैसला है और बाकियों को भी इसे अपनाना चाहिए।’

Next Stories
1 स्वरा भास्कर की वेब सीरीज Rasbhari पर फूटा प्रसून जोशी का गुस्सा, बोले- ‘अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता है या शोषण की मनमानी’, समर्थकों ने भी लगाई क्लास
2 अगले साल शादी करने वाले थे सुशांत सिंह राजपूत, पिता बोले- ‘फोन पर आखिरी बार हुई थी यही बात’
3 ‘रसभरी’ एक्ट्रेस स्‍वरा भास्कर हो चुकी हैं कास्‍ट‍िंग काउच का शिकार, बोलीं-‘मैनेजर ने कान में आकर बोला आईलवयू फिर…’
ये पढ़ा क्या?
X