ताज़ा खबर
 

इतिहास से छेड़छाड़ ”बाजीराव मस्तानी” के इन दो गानों पर लगाई जाए रोक बरना…

बंबई हाई कोर्ट से ‘बाजीराव मस्तानी’ फिल्म के दो गाने ‘पिंगा’ और ‘मल्हारी’ के तथ्यों और इतिहास के साथ कथित छेड़छाड़ करने का दावा करते हुए उनपर प्रतिबंध लगाने तक फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की है।

मुंबई | December 7, 2015 1:14 AM

एक सामाजिक कार्यकर्ता ने बंबई हाई कोर्ट से ‘बाजीराव मस्तानी’ फिल्म के दो गाने ‘पिंगा’ और ‘मल्हारी’ के तथ्यों और इतिहास के साथ कथित छेड़छाड़ करने का दावा करते हुए उनपर प्रतिबंध लगाने तक फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग की है।

शहर के गैर सरकारी संगठन ‘भारत अगेंस्ट करप्शन’ के अध्यक्ष हेमंत पाटील ने पुणे की एक अदालत द्वारा याचिका खारिज करने के बाद हाई कोर्ट का रुख किया। उसने अपनी याचिका में कहा है कि फिल्म कथित रूप से दिवंगत राजा श्रीमंत बाजीराव पेशवा और उनके परिवार के लोगों से जुड़े इतिहास के साथ छेड़छाड़ करती है।

संजय लीला भंसाली के निर्देशन में बनी फिल्म में रणवीर सिंह बाजीराव, प्रियंका चोपड़ा काशीबाई और दीपिका पादुकोण मस्तानी की भूमिका निभा रही हैं। फिल्म 18 दिसंबर को रिलीज होने वाली है। पाटील की याचिका के मुताबिक फिल्म ‘बाजीराव, काशीबाई और मस्तानी जैसी ऐतिहासिक हस्तियों का गलत और फर्जी प्रतिनिधित्व करती’ है।

काशीबाई और मस्तानी दोनों बाजीराव की पत्नियां थीं। याचिका के मुताबिक, ‘फिल्मकार ने कलात्मक स्वतंत्रता के बहाने तथ्यों से छेड़छाड़ की है। ऐसे विभिन्न ऐतिहासिक प्रमाण हैं। पेशवा के वंशजों के पास ऐसे पत्र हैं जिनसे रचनात्मकता के नाम पर गलत गलत प्रस्तुति की बात होती है।’

इसमें कहा गया है,‘ पिंगा’ गाना मराठी संस्कृति के लिए अपमानजनक है। यह ज्ञात तथ्य है कि काशीबाई विकलांग थीं और अस्थमा से पीड़ित थी, इसलिए उनका मस्तानी के साथ नृत्य करना असंभव है। उक्त गाना और कुछ नहीं बल्कि एक अश्लील आइटम सांग है।’ पाटील ने मांग की है कि जब तक ‘पिंगा’ और ‘मल्हारी’ गानों पर प्रतिबंध नहीं लगता फिल्म की रिलीज पर रोक होनी चाहिए। याचिका पर कुछ समय में सुनवाई की जाएगी।

 

Next Stories
1 अच्छे दिन आएंगे कहकर PM मोदी ने दिया जनता को धोखाः अखिलेश यादव
2 रोमांचक खेलों से जोखिम उठाना सीखेंगे बाबू, छुट्टी ले लो और खेलो
3 डॉ. अंबेडकर के सपनों को पूरा करने के लिए कोई कसर नहीं छोड़गें PM मोदी
ये पढ़ा क्या?
X