ताज़ा खबर
 

सत्ता संभालने से पहले योगी आदित्यनाथ का आदेश-उत्सवों के नाम पर हुड़दंग बर्दाश्त नहीं किया जाएगा

शनिवार को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को लखनऊ में भाजपा विधायकों की हुई बैठक में विधायक दल का नेता चुना गया था।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से सांसद योगी आदित्यनाथ। PTI Photo

उत्तर प्रदेश में बीजेपी के विधायक दल के नेता योगी आदित्यनाथ ने शनिवार शाम को स्पष्ट निर्देश दिए कि उत्सवों के नाम पर उपद्रव नहीं होना चाहिए। आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेने जा रहे योगी ने अपने पहले निर्देश में प्रशासनिक अधिकारियों से बातचीत में यह बात कही, जिसमें चीफ सेक्रेटरी राहुल भटनागर, प्रिंसिपल सेक्रेटरी (गृह) देबाशीष पांडा और डीजीपी जावीद अहमद थे। योगी फिलहाल वीवीआईपी गेस्ट हाऊस में ठहरे हैं, यहीं उन्होंने आला अधिकारियों से मुलाकात की। रात को 9.15 बजे हुई इस मीटिंग में योगी आदित्यनाथ ने राज्य में कानून एवं व्यवस्था सुचारू ढंग से चलाने का निर्देश अधिकारियों को दिया। साथ ही उन्होंने यह भी सुनिश्चित करने को कहा कि उत्साहित पार्टी कार्यकर्ता कहीं शांति न भंग कर दें, जिससे आम लोगों की जिंदगी पर असर पड़े।

टाइम्स अॉफ इंडिया की रिपोर्ट के मुताबिक नए मुख्यमंत्री ने बरेली में हुई एक घटना की ओर भी इशारा किया, जहां कुछ लोगों ने एक समुदाय के पूजास्थल पर नारे और झंडा फहराने की कोशिश की थी, जिससे इलाके में तनाव पैदा हो गया था। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वह एेसे कदम उठाएं, ताकि एेसी घटनाएं दोबारा न हों। उन्होंने उस जगह के इंतजामों का भी जायजा लिया, जहां शपथ ग्रहण समारोह होना है। इस समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह और 6 राज्यों के मुख्यमंत्री शामिल होंगे।

बता दें कि शनिवार को उत्तर प्रदेश के गोरखपुर से भाजपा सांसद योगी आदित्यनाथ को लखनऊ में भाजपा विधायकों की हुई बैठक में विधायक दल का नेता चुना गया था। इसके साथ ही यूपी भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा को डिप्टी सीएम उम्मीदवार चुना गया है। भाजपा ने नतीजे आने के 7 दिनों बाद यह फैसला किया है। शनिवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित करते हुए वेंकैया नायडू ने कहा था कि विधायक दल की बैठक में सुरेश खन्ना ने योगी आदित्यनाथ के नाम का प्रस्ताव रखा था। 11 विधायकों ने उनके नाम का अनुमोदन किया। इसके बाद सबने एक साथ खड़े होकर कहा कि हम इसका समर्थन करते हैं।

इसके बाद योगी आदित्यनाथ को भाजपा विधायक दल का नेता चुन लिया गया। योगी आदित्यनाथ ने विधायकों को भाषण देते हुए कहा था कि यूपी बहुत बड़ा प्रदेश है। इसे अच्छे से संभालना है तो मुझे दो साथी दें, पार्टी के केंद्रीय नेतृत्व हमें इसकी मंजूरी दे। इसके बाद चर्चा की गई। बाद में तय किया गया कि यूपी भाजपा अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य और लखनऊ के मेयर को दिनेश शर्मा को डिप्टी सीएम होंगे।

बीजेपी सांसद योगी आदित्यनाथ बोले- “पश्चिमी उत्तर प्रदेश की स्थिति 1990 के कश्मीर जैसी”, देखें वीडियो ः

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X