ताज़ा खबर
 

योगी आदित्यनाथ सरकार: ये लोग पहली बार पहुंचे विधानसभा और बन गये मंत्री

टीम योगी में कई ऐसे शख्स मंत्री बने हैं जिन्होंने पहली बार विधायिकी हासिल की और उन्हें संयोगवश मंत्री पद भी मिल गया।

सीएम पद का कार्यभार संभालने के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस करते योगी आदित्यनाथ (Source-ANI)

यूपी की टीम योगी में 5 ऐसे सदस्य हैं, जो अभी उत्तर प्रदेश विधानमंडल के किसी सदन के सदस्य नहीं है। यानी की ये सदस्य ना तो विधान सभा का प्रतिनिधित्व करते हैं और ना ही विधान परिषद का। इनमें से पहला नंबर खुद सीएम योगी आदित्यनाथ का है, जो कि गोरखपुर से सांसद है। इसके बाद नंबर आता है डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य का, मौर्य यूपी के फूलपुर से सांसद है और इन्हें भी 6 महीने के अंदर यूपी विधानमंडल का सदस्य बनना होगा। संविधान में प्रावधान है कि अगर कोई कोई मंत्री राज्य के विधानमंडल का सदस्य नहीं है तो उसे 6 महीने के अंदर विधानसभा या विधान परिषद का सदस्य बनना पड़ता है। लखनऊ के मेयर दिनेश शर्मा भी इसी कैटेगरी में आते हैं। इसके अलावा योगी मंत्रिमंडल के एकमात्र मुस्लिम चेहरे मोहसिन रजा भी किसी सदन के सदस्य नहीं है।

टीम योगी में कई ऐसे शख्स मंत्री बने हैं जिन्होंने पहली बार विधायिकी हासिल की और उन्हें संयोगवश मंत्री पद भी मिल गया। इस कैटेगरी में सबसे पहला नाम लखनऊ की सरोजनी नगर सीट से जीत हासिल करने वाली स्वाति सिंह हैं, स्वाति सिंह को राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) बनाया गया है। दिल्ली बीजेपी दफ़्तर में मीडिया सेल देखने वाले श्रीकांत शर्मा भी पहली बार जीत हासिल करने के साथ ही मंत्री बन गये हैं। श्रीकांत शर्मा ने मथुरा सीट से जीत हासिल की है उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। इस कड़ी में तीसरा नाम है बीजेपी के जाने-माने नेता सिद्धार्थ नाथ सिंह का, सिद्धार्थ नाथ सिंह पहली बार इलाहाबाद वेस्ट से विधायक चुने गए हैं। वे पूर्व पीएम लाल बहादुर शास्त्री के नाती हैं। योगी सरकार में उन्हें कैबिनेट मंत्री बनाया गया है। कल्याण सिंह के नाती संदीप सिंह भी अलीगढ़ के अतरौली सीट से पहली बार जीतकर मंत्री बने हैं। उन्हें योगी ने राज्यमंत्री बनाया है। बीजेपी से पहली बार चुनाव जीतने वाले नीलकंठ तिवारी को बीजेपी ने राज्यमंत्री बनाया है।

बीजेपी ने यूपी की अहम जातियों में शुमार यादव जाति से गिरीश यादव को राज्यमंत्री बनाया है। गिरीश यादव जौनपुर सदर सीट से पहली बार चुनाव जीते हैं। इसके अलावा कांग्रेस के गठ अमेठी की जगदीशपुर सीट से पहली बार विधायक बनने वाले सुरेश पासी को भी राज्यमंत्री बनाया गया है। दिल्ली एनसीआर से सटे गाजियाबाद शहर सीट से पहली बार चुनाव जीतने वाले अतुल गर्ग को भी राज्यमंत्री बनाया गया है।

विधानसभा चुनाव 2017: पांचों राज्यों के नतीजे आने के बाद किसने क्या कहा

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App