ताज़ा खबर
 

ममता को समर्थन पर पश्चिम बंगाल कांग्रेस नाराज, कहा- TMC से गठबंधन किसी आपदा से कम नहीं

कांग्रेस के ज्यादातर नेताओं का मानना है कि 2011 में सत्ता में आने के बाद से ही तृणमूल ने कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने का ही काम किया है।

Author February 10, 2019 11:39 AM
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी

लोकसभा चुनाव 2019 से पहले कांग्रेस के सामने पश्चिम बंगाल में अलग तरह की चुनौती खड़ी हो गई है। राज्य में शारदा चिटफंड घोटाले को लेकर CBI जांच को लेकर मोदी सरकार को चुनौती देने वालीं मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के समर्थन में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी समेत पूरे केंद्रीय नेतृत्व ने झंडा बुलंद किया लेकिन पश्चिम बंगाल में उन्हीं की पार्टी अलग सुर में दिख रही है। कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष सोमेन मित्रा ने शनिवार तृणमूल कांग्रेस से गठबंधन को लेकर बड़ा बयान दिया है।

‘तृणमूल ने कांग्रेस को खत्म करने का ही काम किया’: मित्रा ने कहा, ‘राहुल गांधी ने तृणमूल कांग्रेस से गठबंधन न करने के उनके विचार पर सहमति जाहिर की थी। उन्होंने चुनावी रणनीति तैयार करने का जिम्मा प्रदेश नेतृत्व को दिया था। उन्होंने हमें राज्य में लोकतांत्रिक और सेक्युलर ताकतों से बात करने को कहा था। हमारी पार्टी इस बात पर सहमत हुई थी कि तृणमूल से हाथ मिलाना नुकसानदायक हो सकता है क्योंकि उसी के चलते बीजेपी बंगाल में अपनी जगह बना रही है। राहुल जी ने हमसे अपनी रणनीति बनाने को कहा था और भरोसा दिया था कि वो इससे सहमत होंगे।’

वाम दलों से हाथ मिला सकती है कांग्रेसः पश्चिम बंगाल में सीपीएम के नेतृत्व वाले वाम मोर्चे से हाथ मिलाने को लेकर मित्रा ने कहा कि इस संबंध में पार्टी में चर्चा की जाएगी। उन्होंने कहा कि हम सेक्युलर और लोकतांत्रिक दलों से बात करेंगे उनमें वाम मोर्चा भी शामिल है। प्रदेश कांग्रेस के ज्यादातर नेताओं का मानना है कि 2011 में सत्ता में आने के बाद से ही तृणमूल ने कांग्रेस को नुकसान पहुंचाने का ही काम किया है। राहुल ने प्रदेश कांग्रेस प्रमुख और विधायक दल के नेता से शनिवार को पिछले दिनों दिल्ली में मुलाकात की थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App