ताज़ा खबर
 

मालदा एयरपोर्ट पर नहीं लैंड होगा अमित शाह का हेलिकॉप्‍टर, जहां उतरेगा सीएम ममता बनर्जी का चॉपर वहां होगी लैंडिंग

एयरपोर्ट के आसपास काम करने वाली दिपाली बोलीं, "मंत्री और यात्री यहां हेलीकॉप्टरों से आते हैं। पूर्व में हेलीकॉप्टर सेवा निरंतर नहीं थी, पर यहां हर हफ्ते चॉपर उतरते हैं।

भारतीय जनता पार्टी चीफ अमित शाह। (एक्सप्रेस फोटोः पार्था पॉल)

पश्चिम बंगाल में मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) की सरकार ने भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के अध्यक्ष अमित शाह के हेलीकॉप्टर को मालदा एयरपोर्ट पर लैंडिंग की इजाजत नहीं दी। बीजेपी ने जब इस मसले पर सवाल उठाया तो जिला प्रशासन ने शाह के हेलीकॉप्टर को उस जगह उतारने की अनुमति दी, जहां सीएम का हेलीकॉप्टर पूर्व में उतरता रहा है। बीजेपी की तरफ से कहा गया था कि जब हर हफ्ते सीएम का चॉपर वहां उतरता है, तब फिर शाह के हेलीकॉप्टर को इजाजत देने में क्या दिक्कत है?

केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद ने भी इस पर ममता सरकार को घेरा। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स का हवाला देते हुए पूछा, “कुछ दिनों पहले ममता जी का हेलीकॉप्टर भी वहां उतरा था। कुछ पत्रकार वहां गए थे। मेरे पास फोटोज हैं। वह बिल्कुल साफ-सुथरा है। हेलीकॉप्टर लैंडिंग हो रही है। फिर भी झूठ बोलकर अमित शाह जी के चॉपर को लैंडिंग की वहां अनुमति नहीं दी गई।”

बता दें कि शाह हाल ही में नई दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) से स्वाइन फ्लू का इलाज कराने के बाद डिस्चार्ज हुए हैं। 22 जनवरी को मालदा में उनकी रैली है, जिसके लिए वह पहले कोलकाता पहुंचेंगे। फिर वहां से हेलीकॉप्टर से मालदा जाकर रैली में पार्टी कार्यकर्ताओं और जनता को संबोधित करेंगे।

बीजेपी ने इस बाबत मालदा जिला प्रशासन से दरख्वास्त की थी, पर जवाब में कहा गया- इस हफ्ते वीवीआईपी हेलीकॉप्टरों को लैंडिंग की इजाजत देना संभव नहीं है। मालदा के एडिश्नल डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट ने पत्र में कहा, “मालदा डिविजन में पीडब्ल्यूडी (सिविल) के एग्जिक्यूटिव इंजीनियर की रिपोर्ट के मुताबिक, इस वक्त मालदा एयरपोर्ट के अपग्रेडेश का काम जोरों पर हैं। वहां रनवे पर ढेर सारी मात्रा में बालू, मिट्टी और जीएसबी सामग्री पड़ी है।”

पत्र में आगे लिखा था- यहां तक कि अस्थाई हेलीपैड की हालत भी ठीक नहीं है। उसके रखरखाव का काम भी चल रहा है। ऐसी हालत में मालदा एयरपोर्ट हेलीकॉप्टरों की लैंडिंग के लिए सुरक्षित नहीं है। नतीजतन अनुमति देना (शाह के चॉपर के लिए) संभव नहीं है।

इसी बीच, एक अंग्रेजी टीवी चैनल की टीम मालदा एयरपोर्ट पहुंची, तो वहां पर हेलीपैड और रनवे साफ-सुथरा मिला। वहां जिला प्रशासन द्वारा बताए गए हालात से बिल्कुल उलट स्थिति थी। एयरपोर्ट पर काम करने वाले कर्मचारियों ने भी बताया कि वहां लगातार हेलीकॉप्टरों की लैंडिंग कराई जा रही है।

एयरपोर्ट के आस-पास काम करने वाली दिपाली दास ने अंग्रेजी चैनल से कहा, “मंत्री और यात्री यहां हेलीकॉप्टरों से आते हैं। पूर्व में हेलीकॉप्टर सेवा निरंतर नहीं थी, पर यहां हर हफ्ते चॉपर उतरते हैं। यहां मिथुन चक्रवर्ती और सीएम ममता के हेलीकॉप्टर तक लैंड होते रहे हैं।”

मालदा से पार्टी नेता संजय शर्मा ने बताया कि पार्टी ने स्थानीय प्रशासन ने इस संबंध में बात की है। उन्होंने आगे दावा किया कि टीएमसी इस बात से घबराई हुई है कि अगर शाह मालदा की इस रैली में आएंगे, तो बीजेपी को अधिक समर्थन मिलेगा। बीजेपी ने इस बाबत बीएसएफ से भी मदद मांगी थी।

मालदा बीजेपी के महासचिव ने अनुमति को लेकर 18 जनवरी को जिलाधिकारी को पत्र लिखा था। कहा गया था- हर बुधवार को बंगाल सरकार के हेलीकॉप्टरों की लैंडिंग के लिए मालदा एयरपोर्ट इस्तेमाल किया जाता है, पर आप कह रहे हैं कि वह सुरक्षित लैंडिंग के लिए उपयुक्त नहीं है। अगर सच में ऐसा है, तब आप बंगाल सरकार के चॉपर वहां क्यों उतारने दे रहे हैं?

जिला प्रशासन ने बीजेपी को शाह के हेलीकॉप्टर की लैंडिंग के संबंध में मंजूरी दे दी। अब 22 जनवरी को वहां के होटल गोल्डन पार्क के सामने मैदान में शाह का चॉपर लैंड होगा। ये वही जगह है, जहां पूर्व में सीएम का हेलीकॉप्टर भी लैंड होता रहा है।

Next Stories
1 नीतीश के मुस्लिम मंत्री ने किया जय श्रीराम का जयघोष, डेढ़ साल पहले समाज से हुए थे बहिष्कृत
2 कल ममता के साथ, आज राहुल की तरफदारी; डीएमके चीफ बोले- 2019 में कांग्रेस अध्यक्ष पीएम उम्मीदवार
3 दो दर्जन दलों का एका ‘भ्रष्टाचार, नकारात्मकता का गठबंधन’, भाजपाइयों से बोले पीएम
ये पढ़ा क्या?
X