ताज़ा खबर
 

राजनीतिक हिंसा के बीच बंगाल में 77.68% मतदान, असम में 78.94% लोगों ने डाले वोट

बंगाल में 2016 में हुए पिछले विधानसभा चुनाव में तृणमूल कांग्रेस ने इन 31 में से 30 सीटें जीती थीं और कांग्रेस हावड़ा जिले की अमता विधानसभा सीट ही जीत पायी थी।

Elections 2021, Bengal, AsssamWest Bengal & Assam Assembly Election 2021: बंगाल में एक पोलिंग बूथ पर अपने मताधिकार का इस्तेमाल करने पहुंचे लोग। (फाइल फोटोः पीटीआई)

मगलवार को पश्चिम बंगाल और असम में तीसरे चरण के चुनाव में लोगों ने जमकर मतदान किया। चुनाव आयोग के आंकड़ों के अनुसार शाम पांच बजे तक असम में 78.94 फीसदी और पश्चिम बंगाल में 77.68 फीसदी मतदान हुआ। तीसरे चरण का मतदान ख़त्म होने के साथ ही असम में चुनाव अभियान पूरी तरह से ख़त्म हो गया। वहीं पश्चिम बंगाल में अभी भी पांच चरणों का मतदान बाकी है।

पश्चिम बंगाल में मंगलवार को वोटिंग के दौरान कई जगहों पर तृणमूल और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़पें भी हुई। आरामबाग में टीएमसी की उम्मीदवार सुजाता मंडल पर कुछ अज्ञात लोगों ने हमला कर दिया। टीएमसी का आरोप है कि सुजाता मंडल पर ईंटों से हमला किया गया है। सुजाता ने कहा कि मास्क पहने कुछ लोगों ने उनपर हमला किया। साथ ही सुजाता ने कहा कि भाजपा के गुंडों ने बीती रात महिला मतदाताओं को धमकाया और प्रताड़ित किया।

वहीं भाजपा नेता दीपक हलदर ने आरोप लगाया कि टीएमसी के गुंडों ने डायमंड हार्बर के कई इलाको में लोगों को वोट नहीं डालने दिया। साथ ही तारकेश्वर से भाजपा उम्मीदवार स्वपन दास गुप्ता ने भी आरोप लगाया कि पुलिस ने कई जगहों पर मतदाताओं को बूथ के अंदर नहीं जाने दिया। इसके अलावा स्वपन दासगुप्ता ने कहा कि कई मतदान केंद्रों के बाहर पश्चिम बंगाल पुलिस के जवान बिना टैग लगाए हुए मौजूद थे।

हालांकि तीसरे चरण के चुनाव में भी ईवीएम विवाद से अछूता नहीं रहा। उलुबेरिया में तृणमूल कांग्रेस के नेता के घर ईवीएम और वीवीपैट मिली। जिसके बाद सेक्टर अधिकारी को निलंबित कर दिया गया। यह आरक्षित ईवीएम थी जिसे आयोग ने चुनाव प्रक्रिया से हटा दिया। चुनाव आयोग ने इस मसले पर कहा कि इसमें शामिल सभी लोगों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में तीसरे चरण के तहत 31 सीटों के लिए मतदान मंगलवार को कड़ी सुरक्षा के बीच सुबह सात बजे शुरू हुआ। अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण 24 परगना जिले (भाग 2) में 16 सीटों, हावड़ा (भाग 1) में सात सीटों और हुगली (भाग 1) में आठ सीटों पर हो रहे मतदान में कोविड-19 की रोकथाम संबंधी नियमों का सख्ती से पालन किया गया। सुबह साढ़े छह बजे से ही मतदान के लिए लोगों की लंबी कतारें देखी गयीं।

असम में विधानसभा चुनाव के अंतिम चरण में 40 सीटों के लिए मंगलवार सुबह सात बजे मतदान आरंभ हुआ, जिसमें वरिष्ठ मंत्री हेमंत बिस्वा सरमा, उनके पांच कैबिनेट सहयोगियों और राज्य भाजपा अध्यक्ष रंजीत कुमार दास समेत 337 उम्मीदवार अपना भाग्य आजमा रहे थे। 12 जिलों में फैले 40 निर्वाचन क्षेत्रों में मतदान शुरू होने से पहले ही मतदाताओं में खासा उत्साह देखने को मिला। सुबह से ही लोगों को मतदान केंद्रों के बाहर कतारों में खड़े देखा गया। इस दौरान लोग मास्क पहनकर और सामाजिक दूरी का पालन करते हुए मतदान करते हुए दिख रहे थे।

Next Stories
1 तम‍िलनाडु चुनाव प्रचार खत्‍म: कांग्रेस उम्‍मीदवार ने पोस्‍ट की घ‍िसी चप्‍पल की फोटो, ल‍िखा- सब छोड़के जा रहा हूं
2 अब्बास सिद्दीक़ी पीरज़ादा ने ममता बनर्जी पर मुस्लिम तुष्टिकरण का लगाया आरोप, जाने बंगाल की राजनीति में क्यों महत्वपूर्ण है फुरफुरा शरीफ दरगाह
3 बंगाल के नक्सलबाड़ी गांव में भी बीजेपी का पोस्टर, 17 अप्रैल को है वोटिंग
आज का राशिफल
X