ताज़ा खबर
 
Election Results 2017

विधानसभा चुनाव नतीजे 2017: टूट गया नरेंद्र मोदी से टक्‍कर लेने का अरविंद केजरीवाल और आप का सपना?

Chunav Results 2017: आम आदमी पार्टी के लिए यह चुनाव मिश्रित रहे। पंजाब और गोवा में उसने पहली बार चुनाव लड़ा था।

chunav results, chunav result 2017, AAP, aam aadmi party, AAP chunav results 2017, AAP in punjab, AAP in Goa, chunav, up chunav, up chunav result, up chunav 2017, up chunav result 2017, vidhan sabha chunav result, vidhan sabha chunav result, up chunav nateje, manipur chunav result, uttarakhand chunav result, goa chunav result, punjab chunav result, candidates list, vidhan sabha chunav candidates, up chunav winning candidates list, latest updates electionsChunav Results 2017: पंजाब में सरकार ना बना पाने और गोवा की हार ने आप के अन्‍य राज्‍यों की संभावनाओं को नुकसान पहुंचाया है।

पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनावों के नतीजे आ रहे हैं। इनमें भाजपा ने एक बार फिर से बाजी मार ली है। उत्‍तर प्रदेश और उत्‍तराखंड में भाजपा भारी बहुमत से जीत रही है। वहीं पंजाब में कांग्रेस सत्‍ता में वापसी करने जा रही है। गोवा और मणिपुर में भाजपा-कांग्रेस के बीच कड़ी टक्‍कर है। इसी बीच आम आदमी पार्टी के लिए यह चुनाव मिश्रित रहे। पंजाब और गोवा में उसने पहली बार चुनाव लड़ा था। पंजाब में उसे अच्‍छा रेस्‍पॉन्‍स मिला है लेकिन सरकार बनाने का उसका सपना टूट गया।

वहीं गोवा में भी भाजपा-कांग्रेस को चुनौती देने का उसका दांव नाकामयाब रहा है। उसे इस राज्‍य में एक भी सीट नहीं मिल रही है। एक तरह से इन नतीजों को आप के लिए निराशाजनक भी कहा जा सकता है क्‍योंकि उसने तो पंजाब में अपनी जीत तय मान ही ली थी। एग्जिट पोल्‍स में भी आप को सरकार बनाने की भविष्‍यवाणी की गई थी। इसके चलते उसने पार्टी दफ्तर में जश्‍न मनाने के लिए मिठाइयां, गुब्‍बारे इकट्ठे कर लिए थे। साथ ही डीजे-म्‍यूजिक का इंतजाम भी कर लिया था। लेकिन सब धरे के धरे रह गए।

आप नेता और सांसद भगवंत मान का दावा था कि उनका दल पंजाब में 100 के करीब सीटें जीतने जा रहा है। वे खुद जलालाबाद सीट से डिप्‍टी सीएम सुखबीर बादल के सामने खड़े थे लेकिन रुझानों के अनुसार वे पीछे चल रहे थे। नतीजों पर पूर्व मंत्री और आप नेता सोमनाथ भारती ने कहा कि यह चुनाव पार्टी के लिए सीखने का शानदार अनुभव होगा। उन्‍होंने कहा, ”हम राजनीति में नए हैं। हमने विधानसभा में कड़ी मेहनत में विश्‍वास करते हैं। हमें संख्‍या को ज्‍यादा नहीं समझते।”

बता दें कि 2014 में हुए लोकसभा चुनावों में आप का खाता पंजाब में ही खुला था। यहां उसने 13 में से चार सीटों पर जीत दर्ज कर सबको चौंका दिया था। इस जीत के बाद से आप ने पंजाब में अपना प्रसार किया था। लेकिन उसमें मतभेद भी सामने आ गए थे। उसने दो सांसदों से सहित कई नेताओं को पार्टी से बाहर कर दिया था। यहां पर चुनाव प्रचार में आप ने अपनी पूरी ताकत झोंक दी थी। दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल सहित सभी बड़े नेता पंजाब में चुनाव प्रचार में डटे हुए थे।

विधानसभा चुनाव नतीजे 2017: बीजेपी, कांग्रेस, सपा, बसपा और आप के लिए शुरुआती रुझानों के क्या मायने?:

पंजाब में सरकार ना बना पाने और गोवा की हार ने आप के अन्‍य राज्‍यों की संभावनाओं को नुकसान पहुंचाया है।पार्टी ने ऐलान किया था कि गुजरात, राजस्‍थान और मध्‍य प्रदेश में वह अब चुनावी मैदान में उतरेगी। वह गुजरात को लेकर सबसे गंभीर दिख रही है। इस क्रम में उसने पाटीदार आरक्षण आंदोलन के मुखिया हार्दिक पटेल को भी समर्थन दिया है।

वह उम्‍मीद कर रही है कि पटेलों के समर्थन से वह भाजपा को चुनौती दे सकती है। कांग्रेस यहां पर लगभग निष्‍प्राण हो चुकी है। ऐसे में भी आप अपनी संभावनाओं को मजबूत मान रही है। गुजरात में भाजपा लगभग दो दशक से सत्‍ता में हैं। यह राज्‍य भाजपा का गढ़ माना जाता है। यहां पर तो आप के पास कोई चेहरा ही नहीं है। साथ ही केजरीवाल को गुजरात की जनता किस तरह से स्‍वीकार करती है यह देखने वाली बात होगी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 UP चुनाव नतीजे 2017: फिर फेल हुए प्रशांत किशोर, खत्म हो सकता है पोल मैनेजमेंट गुरु का करियर
2 पंजाब चुनाव नतीजे 2017: नवजोत सिंह सिद्धू बोले- बड़बोले और अहंकारी अकालियों का हुआ नाश
3 UP Election Result 2017: तो क्या इन पांच में से कोई एक होगा यूपी का नया सीएम ?
IPL 2020 LIVE
X