ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: सर्वेक्षण में जीत-हार के बाद दिल्ली की बदली बयार

Lok Sabha Election 2019: इस बार के लोकसभा चुनाव परिणाम को लेकर अब तक पांच सर्वेक्षण सामने आ चुके हैं। इन सभी सर्वेक्षण में सीधे तौर पर भाजपा को बढ़त मिलती दिखाई गई है। इस बढ़त के बाद भाजपा नेता भी बड़े ही सधे हुए अंदाज में जवाब देते नजर आ रहे हैं।

Author Published on: May 21, 2019 1:44 AM
तीन राज्यों के आंकड़े एग्जिट पोल में अलग-अलग दिखाई दे रहे हैं। (फोटोः इंडियन एक्सप्रेस)

पंकज रोहिला

Lok Sabha Election 2019: सात सीटों के चुनाव पूर्व सर्वेक्षण (एग्जिट पोल) ने दिल्ली की राजनीति में घमासान मचा दिया है। इन आंकड़ों में दिल्ली भर में कमल खिलने के संकेत हैं। इसे लेकर अभी से ही खराब रिपोर्ट वाले दलों में गम तो भाजपा में खुशी की लहर है। हालांकि दलों के नेता अब भी तर्क दे रहे हैं कि 23 तारीख को आने वाले चुनाव परिणाम सभी को चौंका देंगे। खराब आंकड़ों को लेकर दलों के नेताओं ने एग्जिट पोल के सर्वे के आधार पर भी सवाल खड़े किए हैं।

इस बार के लोकसभा चुनाव परिणाम को लेकर अब तक पांच सर्वेक्षण सामने आ चुके हैं। इन सभी सर्वेक्षण में सीधे तौर पर भाजपा को बढ़त मिलती दिखाई गई है। इस बढ़त के बाद भाजपा नेता भी बड़े ही सधे हुए अंदाज में जवाब देते नजर आ रहे हैं। पार्टी के शीर्ष नेता भी केवल इन सर्वे के आधार पर अधिक सीट आने की बात कह रहे हैं। लेकिन आंकड़ेबाजी से बचने की कोशिश की है। देश व दिल्ली में इस बार भाजपा ने केवल प्रधानमंत्री मोदी के नाम और केंद्र सरकार के काम के आधार पर जनता से वोट मांगा था।

जबकि कांग्रेस ने बीते सालों में दिल्ली में हुए विकास और आम आदमी पार्टी ने पूर्ण राज्य के अधिकार को लेकर वोट मांगा था। अब तक सामने आ रहे समीकरणों के बाद से ही दिल्ली में कांगे्रस पार्टी दावा कर रही है कि अल्पसंख्यक मतदाता उसके साथ आया है और इसका सीधा लाभ इन चुनाव में मिलने जा रहा है। इस तर्ज को खुद आम आदमी पार्टी भी स्वीकार कर चुकी है।

तर्क यह भी दिया जा रहा है कि इस बार के चुनाव में मतदान केवल 60 फीसद ही रहा है। यह मतदान फीसद काफी कम है। इस बार के चुनाव में भाजपा, आम आदमी पार्टी व कांग्रेस ने अपने-अपने कैडर को मतदान के लिए बाहर निकालने के लिए हर संभव कोशिश की है। इसलिए जिस पार्टी ने अपने अधिक मतदाता इस बार मतदान के लिए बाहर निकालने हैं, उनको सीधा लाभ 23 मई को होने वाली मतगणना के बाद मिलने जा रहा है।

विपक्ष के लिए सीट खाली नहीं
दिल्ली के एग्जिट पोल से साफ है कि इस बार भाजपा सातों सीट जीतने जा रही है। दिल्ली की किसी भी सीट पर विपक्ष के लिए कोई वैंकेंसी नहीं है।
-मनोज तिवारी, भाजपा अध्यक्ष

पोल की खुली ‘पोल’
जहां ‘आप’ लड़ ही नहीं रही वहां आम आदमी पार्टी का 3 फीसद वोट शेयर, हरियाणा में 22 सीटें भाजपा की। मतलब हद नहीं है? एग्जिट पोल ने सबसे पहले अपनी पोल खोली। नशे में कुछ भी परोस रहे हैं। -दिलीप पांडे, ‘आप’ प्रत्याशी

चौकाएंगें चुनाव परिणाम
चुनाव के परिणाम चौकाने वाले होंगे। हमें लोगों से उचित रिस्पॉंस मिला है। जीत की सही जानकारी आपको 23 मई को मिल जाएगी।
-शीला दीक्षित, कांग्रेस अध्यक्ष

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X
Next Stories
1 Loksabha Election 2019: बीजेपी नेताओं के संपर्क में आए तृणमूल के दो सांसद: चैनल का दावा
2 Loksabha Election 2019: बीजेपी समर्थकों को उदित राज ने बताया अंधभक्त और अशिक्षित, भाजपा ने कहा- माफी मांगो
3 Loksabha Elections 2019: बीजेपी के दावे पर बोले CM कमलनाथ- शक्ति परीक्षण के लिए तैयार, फिर साबित करेंगे बहुमत
ये पढ़ा क्या?
X