evm in three stage security - Jansatta
ताज़ा खबर
 

उत्तराखंड चुनाव: त्रिस्तरीय घेरे में सुरक्षित हैं ईवीएम

उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों के लिए पूरे सूबे में 70 स्ट्रांग रूम विधानसभावार राज्य के 13 जिलों में बनाए गए हैं।

Author देहरादून | March 2, 2017 4:59 AM
(फाइल फोटो)

उत्तराखंड 70 विधानसभा सीटों के लिए चुनाव में लगी इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीनों (ईवीएम) की सुरक्षा के लिए केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने कड़े इंतजाम किए हैं। इन वोटिंग मशीनों की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है।  उत्तराखंड की 70 विधानसभा सीटों के लिए पूरे सूबे में 70 स्ट्रांग रूम विधानसभावार राज्य के 13 जिलों में बनाए गए हैं। हरिद्वार जिले में सबसे ज्यादा स्ट्रांग रूम (11) हैं। उसके बाद देहरादून में 10 विधानसभा क्षेत्रों के लिए 10 स्ट्रांग रूम और उधमसिंहनगर जिले की 9 विधानसभा सीटों के लिए 9 स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। रुद्रप्रयाग और बागेश्वर में सबसे कम स्ट्रांग रूम दो-दो हैं। इन जिलों में दो-दो ही विधानसभा क्षेत्र हैं।

सत्तर विधानसभा सीटों के लिए जो सत्तर स्ट्रांग रूम बने हैं, सीसीटीवी कैमरे से भी उनकी सुरक्षा व्यवस्था पर चौबीस घंटे नजर रखी जा रही है। उत्तराखंड के पुलिस महानिरिक्षक दीपम सेठ के मुताबिक, उत्तराखंड में इलेक्ट्रोनिक वोटिंग मशीन की सुरक्षा की जिम्मेदारी केंद्रीय अर्धसुरक्षा बल, भारतीय तिब्बत सीमा सुरक्षा बल (आइटीबीपी) को सौंपी गई है। पूरे उत्तराखंड में इन वोटिंग मशीनों की सुरक्षा के लिए आइटीबीपी की छत्तीस कंपनियां लगी हैं। एक जिले में आइटीबीपी की दो प्लाटून, एक पीएसी की गारद और उत्तराखंड पुलिस की आठ सदस्यीय टीम आठ-आठ घंटे की ड्यूटी तीन-तीन शिफ्टों में कर रही है। इसके अलावा आठ-आठ घंटे की तीन की शिफ्टों में एक राजपत्रित अधिकारी स्ट्रांग रूम की सुरक्षा में तैनात है।

त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था के तहत स्ट्रांग रूमों के बाहर सबसे पहले आइटीबीपी के जवान अत्याधुनिक शस्त्रों के साथ तैनात हैं। दूसरे चक्र में पीएसी के हथियारबंद जवान हैं। तीसरा घेरे में उत्तराखंड पुलिस के जवान एक सब इंस्पेटर की अगुवाई में तैनात हैं। इस तरह पूरे प्रदेश में ईएमवी की सुरक्षा के लिए आइटीबीपी के चार हजार जवान, पीएसी के इक्कीस सौ जवान और उत्तराखंड पुलिस के एक हजार सात सौ जवान चौबीस घंटे तीन शिफ्टों में तैनात रहते हैं। सत्तर स्ट्रांग रूम में 10854 मतदान केन्द्रों में प्रयोग की गर्इं 10685 सीयू ईवीएम और 11240 बीयूबी ईवीएम मशीनें रखी गई हैं। अब इन वोटिंग मशीनों की सुरक्षा सूबे के 13 जिलों में बने स्ट्रांग रूमों में की जा रही है।

दिल्ली हाई कोर्ट ने अरुण जेटली के बैंक खातों की जानकारी वाली केजरीवाल की याचिका को किया खारिज

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App