ताज़ा खबर
 

विधानसभा चुनाव: उत्तराखंड कांग्रेस में टिकट बंटवारे पर घमासान

सूत्रों के मुताबिक उपाध्याय को हरीश रावत टिहरी के बजाय ऋषिकेश से चुनाव लड़वाने के पक्ष में हैं।

Author देहरादून | January 8, 2017 6:11 AM
Uttarakhand Election 2017, Uttarakhand Congress, Uttarakhand Assembly polls, harish Rawat Newsउत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत। (फाइल फोटो)

उत्तराखंड कांग्रेस में विधानसभा टिकटों के बंटवारे को लेकर घमासान मचा है। मुख्यंमत्री हरीश रावत और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के बीच अपने- अपने समर्थकों को टिकट दिलाने के लिए तलवारे खिंच गई हैं। जहां किशोर उपाध्याय ने ऐलान किया है कि कांग्रेस सूबे की सभी 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ेगी, वहीं मुख्यंमत्री हरीश रावत पीडीएफ के दो विधायकों दिनेश धनै के लिए टिहरी विधानसभा सीट और प्रीतम सिंह पंवार के लिए उत्तरकाशी विधानसभा सीट पर कांग्रेस का उम्मीदवार खड़ा करने की बजाय धनै और पंवार को समर्थन देने के पक्ष में है जबकि किशोर उपाध्याय टिहरी और उत्तरकाशी सीट पर कांग्रेस का उम्मीदवार खड़ा करने के पक्ष में हैं। धनै और पंवार ने टिहरी और उत्तरकाशी ने निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने का ऐलान किया है।  उपाध्याय टिहरी से खुद चुनाव लड़ना चाहते हैं। टिहरी से वे दो बार विधायक रह चुके हैं और सन् 2012 के विधानसभा चुनाव में वे कांग्रेस के बागी उम्मीदवार दिनेश धनै से चुनाव हार गए थे, तब से वे धनै से खुन्दक खाए बैठे हैं। इसीलिए किशोर उपाध्याय धनै की घेराबंदी के लिए हर चाल चल रहे हैं। जबकि रावत उपाध्याय को धूल चटाने के लिए धनै को टिहरी से विधानसभा का चुनाव हर हाल में लड़वाना चाहते हैं।

सूत्रों के मुताबिक उपाध्याय को हरीश रावत टिहरी के बजाय ऋषिकेश से चुनाव लड़वाने के पक्ष में हैं। उपाध्याय के समर्थकों का कहना है कि टिहरी विधानसभा सीट पर उपाध्याय के प्रति लोगों में गहरी सहानभूति है। ऋषिकेश में उपाध्याय पर बाहरी उम्मीदवार का ठप्पा लग रहा हैै। ऋषिकेश विधानसभा क्षेत्र में संर्घष समिति ने जगह- जगह बाहरी उम्मीदवार नहीं चलेगा के बैनर भी लगा दिए हैं। किशोर उपाध्याय की टिहरी और उत्तरकाशी विधानसभा सीट को लेकर पार्टी हाईकमान के दूत संजय कपूर और हरीश रावत से काफी गर्मागर्म बहस भी हुई है। उपाध्याय को पटखनी देने के लिए हरीश रावत हर दांवपेच चल रहे हैं। रावत ने धनै और पंवार को विधानसभा का टिकट दिलवाने के लिए अब ये मामला पार्टी हाईकमान के पाले में खिसका दिया है। अब पार्टी हाईकमान धनै और पंवार के टिकट का मामला तय करेगा।

वहीं दूसरी ओर उत्तराखंड कांग्रेस ने पीडीएफ के अध्यक्ष मंत्री प्रसाद नैथानी को देवप्रयाग, हरीश चन्द्र दुर्गापाल को लालकुआं और बसपा छोड़कर कांग्रेस में आए विधायक हरिदास को झबरेड़ा विधानसभा सीट से टिकट देने का अंतिम फैसला कर लिया है। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष किशोर उपाध्याय अपनी कौर टीम के सदस्यों को टिकट दिलाने के लिए रावत के सामने दीवार की तरह खडेÞ हो गए हैं। उपाध्याय धनौल्टी, यमकेश्वर, रूद्रप्रयाग, लैंसडाउन, रायपुर व देहरादून कैंट समेत कुछ अन्य विधानसभा क्षेत्रों में संगठन से जुड़े कुछ पदाधिकारियों को टिकट दिलवाना चाहते हैं। परंतु हरीश रावत और कांग्रेस के सहप्रभारी कपूर को उपाध्याय के द्वारा दिए गए कुछ नामों पर जबरदस्त ऐतराज है। किशोर उपाध्याय का कहना है कि चुनाव तो संगठन ने लड़वाना है, इसीलिए संगठन जिस उम्मीदवार की पैरवी करेगा, उसे पार्टी हाईकमान को सर्वोच्च प्रथामिकता देनी चाहिए। वहीं मुख्यमंत्री हरीश रावत ने 14 या 15 जनवरी तक कांग्रेस के सभी उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर दी जाएगी। उपाध्याय का कहना है कि हमारे सभी 70 प्रत्याशियों के नाम तकरीबन तय है और जल्द ही पार्टी हाईकमान से मंजूरी मिलने के बाद सभी 70 सीटों पर एक साथ उम्मीदवार घोषित कर दिए जाएंगे।

Next Stories
1 सर्वे: उत्तराखंड में भाजपा को पूर्ण बहुमत के आसार, 30 सीटों तक सिमट सकती है कांग्रेस
ये पढ़ा क्या?
X