ताज़ा खबर
 

UP Rajya Sabha Election 2018: सपा-बसपा की राह मुश्किल करने के लिए अमित शाह का गेम प्लान

UP Rajya Sabha Election Chunav 2018 Seats (राज्यसभा चुनाव 2018): पार्टी चीफ अमित शाह ने गुजरात राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल की जीत को जैसा मुश्किल बनाया, उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि यूपी चुनाव भी सपा के लिए आसान नहीं होगा।

Author नई दिल्ली | March 22, 2018 13:32 pm
UP Rajya Sabha Election 2018: अखिलेश यादव की डिनर पार्टी में कई सपा नेता पहुंचे थे।

UP Rajya Sabha Election 2018: 23 मार्च (शुक्रवार) को देश की 26 राज्यसभा सीटों के लिए चुनाव होने वाले हैं। सियासी उठपटक की वजह से सबसे ज्यादा दिलचस्प यूपी की सीटों पर होने वाला चुनाव हो गया है। दरअसल, यहां कुल 10 सीटों पर चुनाव होना है। बीजेपी के पास जो संख्या बल है, उसके हिसाब से उसके आठ प्रत्याशियों की जीत तय मानी जा रही है। नौवीं सीट पर अभी तक सपा की जीत तय मानी जा रही थी। हालांकि, बीजेपी ने नौंवा कैंडिडेट खड़ा करके इसे और दिलचस्प बना दिया है। पार्टी चीफ अमित शाह ने गुजरात राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस नेता अहमद पटेल की जीत को जैसा मुश्किल बनाया, उसे देखते हुए यह कहा जा सकता है कि यूपी चुनाव भी सपा के लिए आसान नहीं होगा। कांग्रेस विधायकों को वोटिंग से पहले दूसरे राज्य शिफ्ट करने से लेकर ऐन मतदान के दौरान विधायकों के वोट निरस्त होने से जितना नाटकीय घटनाक्रम गुजरात राज्यसभा चुनाव में हुआ, वैसा शायद ही हाल फिलहाल में कभी देखने को मिला हो। राजनीतिक जानकार मानते हैं कि अमित शाह यूपी में सपा और बसपा की राह मुश्किल करने के लिए ऐड़ी चोटी का जोर लगा देंगे।

भारतीय जनता पार्टी ने उत्तर प्रदेश से राज्यसभा के लिए वित्त मंत्री अरुण जेटली, महेश चंद्र शर्मा, जीपीएल नरसिम्हा राव, विजय पाल सिंह तोमर, डॉ हरनाथ सिंह यादव, सकलदीप राजभर, डॉ अनिल जैन, अशोक वाजपेयी, कांता कर्दम को अपना कैंडिडेट बनाया है। वहीं समाजवादी पार्टी ने जया बच्चन को जबकि बहुजन समाज पार्टी ने भीमराव अंबेडकर को अपना उम्मीदवार बनाया है।

जहां तक दसवीं सीट का सवाल है, सपा की कोशिश है कि वह अपने उम्मीदवार जया बच्चन को चुनने के बाद बाकी बचे वोट बसपा प्रत्याशी को देगी। हालांकि, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह यह आसानी से होने नहीं देंगे। बीजेपी अध्यक्ष सपा के विधायकों को अपने पाले में करने में लगे हुए हैं। राष्ट्रपति चुनाव में सपा के कुछ विधायकों ने बीजेपी उम्मीदवार रामनाथ कोविंद को वोट दिए थे। ऐसे में बीजेपी को उम्मीद है कि सपा विधायक दोबारा से उनकी मदद करेंगे। हालांकि, यह उम्मीद उस वक्त टूटते नजर आई, जब अखिलेश यादव से नाराज समझे जाने वाला शिवपाल खेमा बुधवार को आयोजित डिनर पार्टी में शिरकत करता नजर आया। हालांकि, अभी तक अखिलेश से नाराज चल रहे शिवपाल क्या करेंगे, इसका अंदाजा लगाना जरा मुश्किल है। उधर,  बीजेपी के लिए राहत की बात यही है कि योगी सरकार से नाराज चल रहे सहयोगी ओम प्रकाश राजभर फिलहाल मान गए हैं। उन्होंने कह दिया है कि वह फिलहाल एनडीए में ही रहेंगे। बीजेपी के लिए एक खुशखबरी यह भी रही कि बुधवार शाम योगी की बैठक में सपा के बागी विधायक नितिन अग्रवाल भी पहुंचे। अब देखना दिलचस्प होगा कि बेहद नजदीकी मुकाबले वाले इस राज्यसभा चुनाव में जीत किसे मिलती है।

राज्यसभा चुनाव से जुड़ी सभी खबरें पढ़ने के लिए फोटो पर क्लिक करें 

राज्यसभा चुनाव के लिए बीजेपी ने 10 में से 9 उम्मीदवारों को चुनावी मैदान में उतारा है। (Photo Source: PTI)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App