ताज़ा खबर
 

राजनाथ सिंह बोले- अखिलेश ने साइकिल पंचर की, शिवपाल ने चेन तोड़ी, राहुल खाट छोड़कर उस पर सवार हुए

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथ लेते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि राहुल खाट सभाएं कर रहे थे, लेकिन मौका मिलते ही वह साइकिल पर कूदकर सवार हो गए।

गृहमंत्री राजनाथ सिंह। ( Photo Source: PTI)

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पर आरोप लगाया कि उन्होंने कांग्रेस के साथ चुनावी गठबंधन कर अपने पिता के सपनों को चूर चूर कर दिया है। राजनाथ ने यहां एक चुनाव जनसभा में कहा, ‘अखिलेश यादव ने कांग्रेस के साथ चुनाव पूर्व गठबंधन कर अपने पिता के सपनों को तोड़ा है। इसी कांग्रेस के खिलाफ उनके पिता मुलायम पूरा जीवन लडाई लडते आए।’

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को आड़े हाथ लेते हुए उन्होंने कहा कि राहुल खाट सभाएं कर रहे थे, लेकिन मौका मिलते ही वह साइकिल पर कूदकर सवार हो गए। उन्होंने कहा कि अब मुलायम सिंह यादव ने साइकिल पंचर कर दी है, जबकि शिवपाल सिंह यादव ने उसी साइकिल की चैन तोड़ दी है।

बसपा के बारे में राजनाथ ने कहा कि हाथी की सेहत गिर गई है। हाथी का भोजन गन्ना है लेकिन उसकी सेहत गिर रही है, क्योंकि उसे करेंसी नोट खिलाए गए। उन्होंने कटाक्ष किया कि सपा, बसपा और कांग्रेस ने राज्य भर में कीचड़ फैला रखा है और कीचड़ में ही कमल खिलता है। राजनाथ ने भारत की ओर से की गई सर्जिकल स्ट्राइक का जिक्र करते हुए कहा कि पाकिस्तान के लोग भारत से अच्छे रिश्ते चाहते हैं लेकिन पाकिस्तानी आतंकवादी मानवता के दुश्मन हैं।

राजनाथ सिंह ने इससे पहले बसपा और सपा पर आजमगढ़ में भी रैली को संबोधित निशाना साधा था। उन्होंने कहा था कि ‘साइकिल’ अब खटारा हो चुकी है जबकि हाथी ‘बूढ़ा’ हो चला है। राजनाथ ने कहा था, ‘सपा, बसपा और कांग्रेस ने यूपी को कीचड़ में धकेल दिया है और उस कीचड में कमल खिलाने के लिए भाजपा को मजबूत बनाने की जरूरत है। प्रदेश में सपा, बसपा और भाजपा की सरकारें रही हैं लेकिन सपा और बसपा के मुख्यमंत्री से लेकर मंत्रियों पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे लेकिन भाजपा के किसी भी मंत्री और मुख्यमंत्री पर भ्रष्टाचार का एक भी आरोप नहीं लगा।’

साथ ही उन्होंने कहा था, ‘मुख्यमंत्री अखिलेश यादव कहते हैं कि काम बोलता है लेकिन उनको समझ नहीं है कि काम बोलता नहीं बल्कि दिखता है। प्रदेश में साइकिल खटारा हो चुकी है और हाथी बूढा हो गया है, अखिलेश की दलील है कि मुझे चाचा और पापा ने काम नहीं करने दिया लेकिन फिर भी कहते हैं कि काम बोलता है, यानी चित भी मेरी और पट भी मेरी।’

वीडियो- सपा- कांग्रेस का गठबंधन न होता, तो बीजेपी यूपी चुनावों में 300 से ज्यादा सीटें जीतती: राजनाथ सिंह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App