ताज़ा खबर
 

UP चुनाव 2017: योगी आदित्यनाथ बोले: सपा-बसपा ने असंतुलन पैदा किया, जिसे हमने मुसलमानों को टिकट ना देकर ठीक कर दिया

योगी आदित्यनाथ कहा कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने यूपी विधानसभा चुनाव में मुस्लिमों को ज्यादा टिकट देकर असंतुलन पैदा कर दिया था।

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से सांसद योगी आदित्यनाथ। PTI Photo

भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) से सांसद योगी आदित्यनाथ कहा कि समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी ने यूपी विधानसभा चुनाव में मुस्लिमों को ज्यादा टिकट देकर असंतुलन पैदा कर दिया था। जिसको बीजेपी ने ठीक किया। इंडियन एक्सप्रेस ने योगी आदित्यनाथ से सवाल पूछा था कि यूपी में 19 प्रतिशत आबादी मुसलमानों की है लेकिन फिर भी बीजेपी ने किसी मुसलमान को टिकट नहीं दिया, क्या यह पार्टी के नारे ‘सबका साथ, सबका विकास’ से यह मेल खाता है? इसके जवाब में योगी ने कहा, ‘टिकट देना एक लंबा प्रोसेस है, इसको देने के लिए सिर्फ जिताऊ उम्मीदवार को चुना गया, किसी भी मुसलमान को टिकट ना देने को मुसलमान विरोधी के रूप में नहीं देखा जाना चाहिए। सपा और बसपा ने इतना असंतुलन पैदा कर दिया था, हमने तो सिर्फ उस असंतुलन को ठीक किया है। 2002 से यूपी का सीएम या तो कोई दलित है या फिर ओबीसी, क्या आपको ऐसा नहीं लगता कि किसी जनरल कैटेगरी वाले को भी मौका मिलना चाहिए। ‘

जब योगी आदित्यनाथ से पूछा गया कि अगर यूपी में भाजपा जीत जाती है तो उसका क्रेडिट किसको मिलेगा ? पार्टी के काम को या फिर सपा-बसपा द्वारा मुस्लिम उम्मीदवारों को टिकट दी जाने की वजह से हिंदू ध्रुवीकरण हुआ उसको?

इसपर योगी बोले की जीत का क्रेडिट पीएम मोदी के अच्छे कामों और अमित शाह की अच्छी रणनीति को जाएगा। उन्होंने कहा कि मोदी की रैलियां भी बीजेपी के लिए फायदेमंद साबित होंगी। योगी ने यह भी कहा कि सपा और बसपा मुसलमानों को रिझाने में व्यस्त हैं क्योंकि वे दोनों उन्हीं पर निर्भर हैं।

योगी से जब पूछा गया कि अगर बीजेपी जीत जाती है तो मुसलमानों की सुरक्षा की क्या गारंटी होगी जबकि सरकार में उनका कोई चेहरा ही नहीं होगा। इसपर योगी बोले की वे लोग बीजेपी सरकार में पूरी तरह सुरक्षित होंगे। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार बिना किसी भेदभाव के नीतियां बना रही है और ऐसा ही यूपी में भी होगा।

बाकी खबरों के लिए क्लिक करें

देखिए संबंधित वीडियो

भाजपा सांसद साक्षी महाराज बोले- "मुस्लिम भी दाह करें, नहीं बनने चाहिए कब्रिस्तान

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App