ताज़ा खबर
 

योगी आदित्‍य नाथ सरकार के मंत्री के समर्थकों ने उड़ाई धज्जियां, पुलिस की जीप पर किया कब्‍जा और लगाए जय श्री राम के नारे

उत्‍तर प्रदेश के मंत्री नंद गोपाल नंदी के समर्थकों ने पुलिस की गाड़ी पर कब्‍जा कर लिया और फिर उसे पूरे शहर में जय श्री राम के नारे लगाते हुए घुमाते रहे।

योगी आदित्‍यनाथ सरकार में नंद गोपाल नंदी स्‍टांप और सिविल एविएशन मंत्री हैं।

उत्‍तर प्रदेश में भारी जीत का नशा अब भाजपा कार्यकर्ताओं पर चढ़ता दिखाई दे रहा है। उत्‍तर प्रदेश के मंत्री नंद गोपाल नंदी के समर्थकों ने पुलिस की गाड़ी पर कब्‍जा कर लिया और फिर उसे पूरे शहर में जय श्री राम के नारे लगाते हुए घुमाते रहे। मामला इलाहाबाद में शनिवार (1 अप्रैल) का है। पुलिस की यह गाड़ी नंदी के काफिले का हिस्‍सा थी और उनकी गाड़ी के आगे चल रही थी। मंत्री के समर्थकों ने पुलिसकर्मियों को भी गाड़ी से नीचे उतार दिया। गाड़ी में सवार लोगों ने यातायात के नियमों को भी तोड़ा। बावजूद इसके नंदी ने अपने समर्थकों को रोका नहीं। वहीं पुलिसकर्मियों ने भी इनसे गाड़ी वापस लेने का प्रयास नहीं किया। ना ही उन्‍होंने इनके खिलाफ कोई कार्रवाई की। पुलिस की गाड़ी में समर्थक नंदी को उनके घर तक छोड़कर आए। योगी आदित्‍यनाथ सरकार में नंदी स्‍टांप और सिविल एविएशन मंत्री हैं।

इससे पहले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने निर्देश दिया कि मंत्री सादगी से रहे। उन्‍होंने ताकत का दुरुपयोग ना करने को कहा था। योगी ने कहा था कि सरकारी गाड़ी को निजी काम के लिए इस्‍तेमाल ना किया जाए। उन्‍होंने भाजपा विधायकों से भी कहा था कि वे अपने कामकाज से परिवार वालों को दूर रखें। सरकारी काम में घरवालों का दखल नहीं होना चाहिए। योगी ने कहा कि विधायक ये ध्‍यान रखें कि जब वे अपने काफिले में घूम रहे हों तो ये सुनिश्चित करें कि लोगों को परेशानी न हो। आदित्‍य नाथ ने कहा कि लोगों ने बीजेपी को ‘एक परिवर्तन के साथ’ वोट दिया है और ऐसे में उनका व्‍यवहार और एटिट्यूड भी आम आदमी के प्रति ‘अलग’ होनी चाहिए। योगी ने विधायकों से कहा कि वे सरकारी कर्मचारियों और जनता से विनम्रतापूर्वक बात करें और उनके साथ व्‍यवहार में आपा न खोएं।

सीएम ने अपने मंत्रियों और विधायकों को यह सुनिश्चित करने को कहा कि उनके रिश्‍तेदार उनके पद का फायदा न लेने पाएं और सरकार के काम-काम में किसी भी स्‍तर पर हस्‍तक्षेप न करें। उन्‍होंने कहा कि हर जिले में इंचार्ज मंत्री नियुक्‍त किए जाएंगे। अगर कोई सरकारी अधिकारी निर्देशों का पालन नहीं करता है तो विधायक संबंधित इंचार्ज मंत्री या फिर सीएम से उनके खिलाफ शिकायत कर सकते हैं। उन्होंने जनप्रतिनिधियों से थानों और अधिकारियों के साथ दबंगई न करने को कहा है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 श्‍मशान-कब्र‍िस्‍तान की बात से ऐन पहले योगी आदित्‍य नाथ को अमित शाह ने बुलाया था द‍िल्‍ली, द‍िया था 40 सीटें ज‍िताने का टारगेट
2 योगी आदित्‍य नाथ ने बीजेपी नेताओं से कहा- किसी तरह के ठेके ना लें, मौज मस्‍ती के लिए समय नहीं
ये पढ़ा क्या?
X
Testing git commit