ताज़ा खबर
 

UP Election 2017: राहुल गांधी-अखिलेश यादव की वाराणसी में होने वाली साझा प्रेस कॉन्फ्रेंस रद्द, बीजेपी बोली- पीएम के रोडशो से डर गए

यूपी में 8 मार्च को होने वाले आखिरी चरण की वोटिंग के लिए चुनाव प्रचार का सोमवार को आखिरी दिन है

UP Assembly Elections 2017, ST candidate in up, UP Assembly ST Candidate, Sonbhadra Assembly Seatगोरखपुर में एक रैली के दौरान सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी। (PTI Photo/27 Feb, 2017)

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और समाजवादी पार्टी प्रमुख व यूपी के सीएम अखिलेश यादव की सोमवार को वाराणसी में होने वाली साझा प्रेस-कॉन्फ्रेंस को रद्द कर दिया गया है। कांग्रेस का कहना है कि चूंकि राहुल गांधी को 3-4 कार्यक्रम में जाना है, साथ ही पूर्वांचल में अखिलेश यादव को 7 रैलियां करनी है, ऐसे में समय की कमी के चलते यह कार्यक्रम टालना पड़ा। अखिलेश को यूपी के मड़ियाहूं, मछलीशहर, मल्हनी, बदलापुर, शाहगंज, जफराबाद और केराकत इलाकों में जनसभाओं को संबोधित करना है।

प्रेस कान्फ्रेंस के लिए कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला वाराणसी भी पहुंच गए थे, लेकिन आखिरी समय में इसे टालने का फैसला लिया गया। बता दें कि यूपी में 8 मार्च को होने वाले आखिरी चरण के मतदान से पहले सभी राजनीतिक पार्टियों ने प्रचार में जी-जान लगा दी है। सोमवार को प्रचार का आखिरी दिन है। इससे पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बनारस में भव्य रोडशो का आयोजन किया था। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और उप्र के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बनारस में ही रहेंगे। सोमवार को अखिलेश यादव जौनपुर में पार्टी प्रत्याशियों के लिए अलग-अलग स्थानों पर सात चुनावी जनसभाओं को संबोधित करेंगे जबकि उनकी पत्नी और सांसद डिंपल यादव चंदौली और भदोही में तीन जनसभाओं को संबोधित करेंगीं।

सातवें और अंतिम चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी सहित सात जिलों की 40 विधानसभा क्षेत्रों में सोमवार शाम चुनाव प्रचार थम जाएगा। इस चरण में गाजीपुर, वाराणसी, चंदौली, मिर्जापुर, भदोही, सोनभद्र और जौनपुर में आठ मार्च को मतदान होगा। सबसे अधिक 24 उम्मीदवार वाराणसी केंट सीट से मैदान में हैं जबकि सबसे कम छह प्रत्याशी केराकत सीट से हैं। अंतिम चरण में तीन नक्सल प्रभावित जिले भी शामिल हैं जिसमें सोनभद्र, मिर्जापुर और चंदौली में सुरक्षाबलों को चौकस रहने को कहा गया है।  अंतिम चरण में 1.41 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें 64.76 लाख महिलाएं हैं। कुल 14,458 मतदान केंद्र बनाए गए हैं।  गौरतलब है कि पिछले विधानसभा चुनाव में 2012 में इन 40 सीटों में से 23 सपा के खाते में गई थीं। बसपा को पांच, भाजपा को चार, कांग्रेस को तीन और अन्य को पांच सीटें मिली थीं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उत्तर प्रदेश चुनाव: मिर्जापुर में सिर्फ जातीय दांवपेच, रोजी-रोटी मुद्दा नहीं
2 उत्तर प्रदेश चुनाव: जौनपुर में मुन्ना बजरंगी की शान और दल की साख का सवाल
3 वाराणसी में पीएम नरेंद्र मोदी का 5 किलोमीटर लंबा रोड शो खत्म, कुछ देर में जनसभा को करेंगे संबोधित
यह पढ़ा क्या?
X