ताज़ा खबर
 

उप्र विधानसभा चुनाव: धीरेंद्र सिंह ने कांग्रेस छोड़ भाजपा का थामा दामन

2012 में हुए विधानसभा चुनाव में धीरेंद्र सिंह कांग्रेस की टिकट पर जेवर से चुनाव लड़े थे।

Author नोएडा | January 9, 2017 2:58 AM
भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने के बाद पार्टी कार्यालय से निकलते धीरेंद्र सिंह।

उप्र विधानसभा चुनाव की सरगर्मी तेज होने के साथ ही दलबदल का दौर शुरू हो चुका है। गौतम बुद्ध नगर में कांग्रेस के प्रभावशाली नेता ठाकुर धीरेंद्र सिंह ने भाजपा का दामन थाम लिया है। भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष केशव प्रसाद मौर्य ने लखनऊ में धीरेंद्र सिंह को पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई। कयास लगाए जा रहे हैं कि धीरेंद्र सिंह को भाजपा जेवर सीट से अपना उम्मीदवार बना सकती है। रबूपुरा समेत जेवर विधानसभा क्षेत्र में मजबूत पकड़ के कारण धीरेंद्र के भाजपा में आने से पार्टी को मजबूती भी मिलने की उम्मीद है। पिछले 30 सालों से कांग्रेस से जुड़े रहे धीरेंद्र भट्टा पारसौल में हुई घटना पर राहुल गांधी को लेकर पहुंचने के बाद ज्यादा चर्चित हुए थे। धीरेंद्र अपनी मोटरसाइकिल पर राहुल गांधी को बैठाकर परी चौक से भट्टा पारसौल लेकर पहुंचे थे। 2012 में हुए विधानसभा चुनाव में धीरेंद्र सिंह कांग्रेस की टिकट पर जेवर से चुनाव लड़े थे। करीब 9500 मतों के अंतर से मौजूदा विधायक बसपा के वेदराम भाटी ने उन्हें हराया था।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी की अध्यक्ष को भेजे पत्र में धीरेंद्र सिंह ने बताया कि भट्टा पारसौल आंदोलन के अलावा किसानों, गरीबों और महिलों से जुड़े मुद्दों पर हमेशा पार्टी की तरफ से आवाज उठाने का काम किया है। लेकिन पिछले कुछ महीनों से कांग्रेस के चापलूस पसंद राजनेता, जिस तरह से प्रदेश कमिटी को संचालित कर रहे हैं, वह पार्टी के लिए घातक है। हालांकि कांग्रेस सूत्रों के मुताबिक, जेवर सीट से संभावित उम्मीदवारों की सूची में धीरेंद्र सिंह का नाम भी कांग्रेस मुख्यालय भेजा गया था। अगले एक दो दिनों में भाजपा और कांग्रेस दोनों दलों के उम्मीदवारों के नाम तय किए जाने की संभावना है। दूसरी तरफ, राजनीतिक जानकारों के मुताबिक, 2012 में परिसीमन से पहले जेवर विधानसभा रिजर्व सीट थी। परिसीमन के बाद जाट और ठाकुर बाहुल्य सीट पर ग्रेटर नोएडा के करीब 10-12 सेक्टर व गांव भी जुड़ गए हैं। जिस वजह से काफी संख्या में गुर्जर भी अब यहां के मतदाता हो गए हैं। 2012 में भाजपा के सुंदर सिंह राणा को महज 6334 वोट मिले और चौथे नंबर पर रहे थे। इस बार भी ठाकुर हरीश सिंह, राजेश छोकर, ठाकुर पुष्कर सिंह आदि भाजपा से टिकट मांग रहे थे। इस बीच धीरेंद्र सिंह के भाजपा की सदस्यता ग्रहण करने से अन्य दावेदारों में वे सबसे मजबूत बताए जा रहे हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App