ताज़ा खबर
 

यूपी चुनाव: सातवें और आखिरी चरण की 40 सीटों पर सबसे ज्यादा दागी सपा-कांग्रेस के, बसपा-भाजपा ने उतारे सबसे ज्यादा अमीर उम्मीदवार

यूपी चुनाव: सातवें और आखिरी चरण की 40 सीटों पर चुनावी मैदान में उतरे बसपा उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 7.20 करोड़ रुपये है।

up election, UP Chunav, UP Chunav 2017, UP Chunav news, up election live, उप चुनाव, उप चुनाव 2017, up election 2017, up election news, up assembly election 2017, up assembly election, up election phase 4 voting, up election poll, up election poll 2017, uttar pradesh election 2017, up election voter list 2017, up election updates, up election latest newsUP Chunav 2017: यूपी विधानसभा चुनाव के चौथे चरण में इलाहाबाद में वोट डालने के लिए बारी का इंतजार करती महिलाएं। ( Photo Source: REUTERS)

बुधवार (आठ मार्च) को होने वाले उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव के सातवें और आखिरी चरण के लिए मतदान होगा। आखिरी चरण में यूपी के पूर्वांचल की 40 सीटों के लिए मतदान होगा। मुख्य मुकाबला बहुजन समाज पार्टी (बसपा), भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) और समाजवादी पार्टी (सपा) एवं कांग्रेस गठबंधन के बीच माना जा रहा है। सोमवार (छह मार्च) को इन सीटों के लिए चुनाव प्रचार की आखिरी तारीख है।  एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने यूपी के सातवें चरण एवं आखिरी चरण में चुनावी अखाड़े में उतरे 535 में से 528 प्रत्याशियों के चुनाव आयोग को दिए हलफनामों का विश्लेषण किया है। चुनाव में छह राष्ट्रीय दलों, चार प्रांतीय पार्टियों, 77 गैर-मान्यताप्राप्त दलों और 136 निर्दलीय प्रत्याशी चुनाव लड़ रहे हैं।

सातवें चरण में चुनाव लड़ रहे जिन 528 प्रत्याशियों के दिए ब्योरे का एडीआर ने विश्लेषण किया उनमें से 115 (करीब 22 प्रतिशत) ने बताया है कि उन पर आपराधिक मामले चल रहे हैं। इनमें से 95 उम्मीदवारों (करीब 18 प्रतिशत) पर गंभीर आपराधिक मामले (हत्या, हत्या की कोशिश, अपहरण, महिलाओं के किलाफ अपराध) चल रहे हैं। सातवें चरण में समाजवादी पार्टी के 31 में 19 (61 प्रतिशत) पर आपराधिक मामले चल रहे हैं।कांग्रेस के नौ उम्मीदवारों में से पांच (करीब 56 प्रतिशत पर आपराधिक मामले चल रहे हैं। बसपा के 40 उम्मीदवारों में से 17 (43 प्रतिशत) पर आपराधिक मामले चल रहे हैं।  वहीं 136 निर्दलीय उम्मीदवारों में से 18 (करीब 13 प्रतिशत) पर आपराधिक मामले चल रहे हैं। भाजपा ने कुल 31 में से 13 (करीब 42 प्रतिशत पर आपराधिक मामले हैं।

अगर बात गंभीर आपराधिक मामलों की करें तो यूपी विधान सभा चुनाव के सातवें चरण में सपा के 48 प्रतिशत उम्मीदवारों (31 में से 15 पर), कांग्रेस के 56 प्रतिशत (नौ में से पांच पर), बसपा के 38 प्रतिशत (40 में 15 पर), भाजपा के 29 प्रतिशत (31 में से नौ पर) पर गंभीर आपराधिक मामले हैं। 136 निर्दलीय में से 18 (13 प्रतिशथ) पर गंभीर आपराधिक मामले हैं।

कुल 40 में से 23 (57.5 प्रतिशत) विधान सभाओं पर तीन या उससे ज्यादा ज्यादा दागी उम्मीदवार चुनाव लड़ रहे हैं।
राष्ट्रीय लोक दल के 31 में से 4 (करीब 19 प्रतिशत) प्रत्याशियों पर आपराधिक मामले चल रहे हैं। तीन या ज्यादा दागी उम्मीदवारों वाली विधान सभाओं को रेड अलर्ट विधान सभाएं कहते हैं।

सातवें चरण में चुनाव लड़ रहे 46 उम्मीदवारों (करीब नौ प्रतिशत) ने अपनी आय पांच करोड़ या उससे अधिक बतायी है। वहीं 38 (सात प्रतिशथ) ने अपनी संपत्ति दो करोड़ रुपये से पांच करोड़ रुपये के बीच बतायी है। 83 (16 प्रतिशत) की संपत्ति 50 लाख रुपये से दो करोड़ रुपये के बीच है। 152 (29 प्रतिशत) ने अपनी संपत्ति 10 लाख रुपये से 50 लाख रुपये के बीच बतायी है। वहीं 209 (करीब 40 प्रतिशत) ने अपनी संपत्ति 10 लाख रुपये कम बतायी है।

यूपी विधान सभा चुनाव के सातवें चरण में सबसे अमीर प्रत्याशी जौनपुर के मड़ियाहूं विधान सभा से बसपा प्रत्याशी भोलानाथ हैं जिन्होंने अपने पास करीब 51 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति होने की जानकारी दी है। अमीर प्रत्याशियों की सूची में दूसरे नम्बर पर मिर्जापुर के मझवां विधान सभा सीट से भाजपा प्रत्याशी शुचिस्मिता मौर्य हैं जिनके पास करीब 46 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति है। वहीं इस मामले में तीसरे नम्बर पर हैं गाजीपुर की सैदपुर (सुरक्षित( विधान सभा से सपा प्रत्याशी सुभाष पासी जिन्होंने अपने पास करीब 40 करोड़ रुपये की चल-अचल संपत्ति होने की बात अपने हलफनामे में बतायी है।

यूपी विधान सभा चुनाव के सातवें चरण में चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों में 528 में 132 (25 प्रतिशत) करोड़पति हैं। दलवार तरीके से देखें सबसे अधिक करोड़पति बसपा के 80 प्रतिशत (40 में 32), वहीं भाजपा के 74 प्रतिशत (31 में से 23), सपा के 68 प्रतिशत (31 में से 21), कांग्रेस के 78 प्रतिशत (नौ में से सात) करोड़पति हैं। सातवें चरण में चुनाव लड़ रहे प्रत्याशियों की औसत उम्र 1.58 करोड़ रुपये है।

अगर बात विभिन्न राजनीतिक दलों की करें तो सातवें चरण में बसपा प्रत्याशियों की औसत 7.20 करोड़, भाजपा प्रत्याशियों की औसत संपत्ति 5.63 करोड़, सपा प्रत्याशियों की औसत संपत्ति संपत्ति 3.74 करोड़ है। सातवें और आखिरी चरण में चुनाव लड़ रहे तीन उम्मीदवारों ने अपनी संपत्ति शून्य बतायी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उत्तर प्रदेश चुनाव: गुरु! मोदी ने बनारस में रंग जमा दिया है, लग रहा है अखिलेश-राहुल के भिड़ा देही
2 UP Election 2017: जौनपुर में बोले राहुल गांधी- यूपी को बनाएंगे दुनिया की फैक्ट्री, होंगे मेड इन यूपी स्मार्टफोन
3 उत्तर प्रदेश चुनाव: जौनपुर में बोले अखिलेश, पीएम मोदी ने बिजली को भी हिंदू-मुस्लिम में बांट दिया
IPL 2020 LIVE
X