ताज़ा खबर
 

UP चुनाव: कांग्रेस के साथ गठबंधन पर अंदेशे के बादल, सपा ने जारी की 209 उम्मीदवारों की सूची

राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) पहले ही गठबंधन से किनारा कर चुका है और और अब सपा व कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर पेच फंस गया है।

Author लखनऊ | Updated: January 21, 2017 1:11 AM
कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी और सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव।

उत्तर प्रदेश में समाजवादी पार्टी की अगुआई में प्रस्तावित महागठबंधन बनने से पहले ही बिखरता दिख रहा है। राष्ट्रीय लोक दल (रालोद) पहले ही गठबंधन से किनारा कर चुका है और और अब सपा व कांग्रेस के बीच सीटों के बंटवारे को लेकर पेच फंस गया है। इस वजह से दोनों के बीच होने वाले गठबंधन पर अनिश्चितता के बादल मंडराने लगे हैं। सीटों के बंटवारे पर कांग्रेस के अड़ियल रुख को भांपते हुए सपा के राष्टÑीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को उत्तर प्रदेश की 403 विधानसभा सीटों में से 209 पर अपने उम्मीदवार उतार दिए हैं। उधर, कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने गठबंधन के सवाल को लगभग टालते हुए यह संकेत दे दिए हैं कि सीटों को लेकर कांग्रेस समझौता करने को तैयार नहीं है।

समाजवादी पार्टी के राष्टÑीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कांग्रेस के साथ गठबंधन पर किसी फैसले का लंबा इंतजार करने के बाद शुक्रवार को अपने 209 उम्मीदवारों की सूची जारी कर दी। इस सूची में कांग्रेस के नौ मौजूदा विधायकों की सीट भी शामिल हैं जहां अखिलेश यादव ने अपने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारा है। इसके अलावा अपने पिता मुलायम सिंह बाकी यादव को सार्वजनिक मंचों से भला बुरा कहने वाले बेनी प्रसाद वर्मा को अखिलेश ने करारा झटका दिया है। कांग्रेस का दामन छोड़कर फिर मुलायम सिंह यादव की करीबी हासिल करने की अथक चेष्टा में लगे बेनी प्रसाद वर्मा ने अखिलेश यादव के बेहद करीबी अरविंद सिंह गोप का बाराबंकी की रामनगर विधानसभा सीट से टिकट छीनकर अपने पुत्र राकेश वर्मा को दिलवा दिया था। उस वक्त अखिलेश के चाचा शिवपाल सिंह यादव प्रदेश अध्यक्ष थे। अखिलेश ने पार्टी के राष्टÑीय अध्यक्ष की जिम्मेदारी लेने के बाद अपने बेहद विश्वासपात्र अरविंद सिंह गोप को रामनगर से टिकट देकर बेनी बाबू को खासा निराश कर दिया है। बेनी प्रसाद वर्मा के दोबारा साइकिल की सवारी करने पर मुलायम उन्हें राज्यसभा भेज चुके हैं।

समाजवादी पार्टी के उच्चपदस्त सूत्रों ने जनसत्ता को बताया कि कांग्रेस उत्तर प्रदेश की 130 विधानसभा सीटों पर अपने उम्मीदवार उतारना चाहती है। इनमें अमेठी और रायबरेली की दस में से आठ सीटें भी वह चाहती है। लेकिन समाजवादी पार्टी किसी भी हाल में कांग्रेस को 80 से ज्यादा सीटें देने पर राजी नहीं है। कांग्रेस के आला नेताओं से अखिलेश यादव ने स्पष्ट कर दिया है कि अमेठी की पांच विधानसभाओं पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवारों ने पिछले विधानसभा चुनाव में जीत दर्ज की थी। इसलिए वे अमेठी की एक भी सीट कांग्रेस को नहीं दे सकते। रही बात रायबरेली की, तो वहां की पांच विधानसभा सीटों में से सिर्फ एक पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी। इस वजह से कांग्रेस को इन दोनों क्षेत्रों की दस विधानसभा सीटों में से सिर्फ एक ही देने पर समाजवादी पार्टी का आलाकमान राजी हो पाया है।

उधर अखिलेश यादव ने शिवपाल सिंह यादव को जसवंतनगर से उम्मीदवार तो बनाया है लेकिन उनके कुछ बेहद करीबियों के उन्होंने पर कतर दिए हैं। इनमें शिवपाल के पुत्र आदित्य यादव, मुलायम सिंह यादव के रिश्तेदार प्रमोद गुप्त, जमीलउल्ला, अतीक अहमद के नाम शामिल हैं। उधर, अखिलेश यादव ने पिता के चर्चित चरखा दांव का इस्तेमाल कांग्रेस के ऊपर कर उसे पिछले पांव पर जाने को विवश कर दिया है। अखिलेश यादव ने वर्ष 2012 में कांग्रेस के लिए जीत की सुगंध लाने वाली शामली, बुलंदशहर, हापुड़, मथुरा, कानपुर की किदवईनगर और रामपुर की स्वार सीट पर अपने उम्मीदवारों को चुनाव मैदान में उतारने का एलान कर दिया है। ऐसे में अब कांग्रेस के पास घटी दरों पर समाजवादी पार्टी के साथ समझौता करने के अलावा कोई विकल्प शेष नहीं रहा है।

गठबंधन की बाबत कांग्रेस के वरिष्ठ सूत्रों का कहना है कि पार्टी आलाकमान के आदेश पर दिल्ली से लखनऊ पहुंचे कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष राज बब्बर ने अपने कार्यकर्ताओं से चुनाव की तैयारी करने को कहा है। उन्होंने इशारों में पार्टी कार्यकर्ताओं को संदेश दिया है कि सपा से गठबंधन न हो पाने की सूरत में पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के पास प्लान बी तैयार है। इस योजना के तहत कांग्रेस उत्तर प्रदेश में चुनाव यात्रा, रोड शो और खाट पंचायतों का आयोजन पहले ही कर चुकी है।

 

 

यूपी चुनाव: सपा ने जारी की 191 उम्मीदवारों की पहली लिस्ट, कांग्रेस के साथ गठबंधन पर बना सस्पेंस

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उत्तर प्रदेश चुनाव: सपा ने जारी की 210 उम्मीदवारों की सूची, शिवपाल को भी मिला टिकट
2 उत्तर प्रदेश चुनाव: रामदास अठावले की पार्टी RPI-A ने जारी की 58 उम्मीदवारों की सूची
3 पढ़िए: अखिलेश यादव ने किस-किस को कहां-कहां से बनाया समाजवादी पार्टी का उम्मीदवार?