ताज़ा खबर
 

मायावती पर राजनाथ सिंह का तंज, बसपा सुप्रीमो हाथी को पत्ते की जगह करेंसी नोट खिलाने लगी हैं

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर व्यंग्य करते हुए राजनाथ ने कहा, ‘उस (कांग्रेस) पार्टी के बहादुर जवान ने चुनाव से चार महीने पहले ही खटिया पकड ली।’

Author भदोही (मिर्जापुर) | February 27, 2017 11:52 PM
Rajnath Singh news, Rajnath Singh rally, Rajnath Singh in Mirzapur, UP Assembly Elections 2017, Rajnath Singh Mayawatiगृहमंत्री राजनाथ सिंह। ( Photo Source: PTI)

केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने सोमवार (27 फरवरी) को बसपा मुखिया मायावती पर तंज कसते हुए कहा कि वे हाथी को पत्ते की जगह करेंसी नोट खिलाने लगी हैं। सिंह ने सोमवार (27 फरवरी) को यहां एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा, ‘मायावती हाथी को पत्ते के जगह करेंसी नोट खिलाने लगी हैं, इसलिए लोग बसपा छोड़कर यह हमारे यहां आने लगे हैं।’ गौरतलब है कि भदोही जिले की तीन विधानसभा सीटों पर भदोही से रविन्द्र नाथ त्रिपाठी, औराई से दीनानाथ भास्कर, ज्ञानपुर से महेन्द्र बिंद को प्रत्याशी बनाया है और तीनों ही बसपा से भाजपा में आये हैं। उन्होंने कहा कि आपको यह नहीं देखना है कि प्रत्याशी कैसा है। देश और प्रदेश को देखते हुए आपको कमल के फूल को देखना है।

कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी पर व्यंग्य करते हुए राजनाथ ने कहा, ‘उस (कांग्रेस) पार्टी के बहादुर जवान ने चुनाव से चार महीने पहले ही खटिया पकड ली।’ उन्होंने जनता से सीधा संवाद करते हुए पूछा कि खटिया सोने के लिए होती है कि सभा करने के लिए। जवाब हां में मिला तो कहा, ‘हमें उस बहादुर जवान (राहुल) पर तरस आता है कि उसने चुनाव से पहले ही जब खटिया पकड़ ली…बाद में साइकिल पर बैठ गया।’

सपा-कांग्रेस गठबंधन के बारे में मजाकिया लहजे में कहा, ‘बहादुर जवान (राहुल) उस साइकिल पर चढा जिसको मुलायम सिंह यादव पंचर कर चुके थे और रही सही कसर शिवपाल यादव ने उसकी हवा निकाल कर पूरी कर दी।’ उन्होंने कहा कि सपा बसपा और कांग्रेस ने देश की राजनीति में इतना कीचड भर दिया है कि अब सिर्फ कमल ही खिलेगा।

मिर्जापुर में एक और जनसभा को संबोधित करते हुए राजनाथ ने मुख्यमंत्री अखिलेश के ‘काम बोलता है’ के नारे को निशाना बनाते हुए कहा, ‘काम बोलता नहीं है और उसे दिखना चाहिए।’ उन्होंने कहा कि आज प्रदेश में न तो अच्छी सड़के हैं और न ही भरपूर बिजली। शिक्षा और स्वास्थ्य के क्षेत्र में भी हालात लगातार खराब होते गये हैं। यदि मुख्यमंत्री काम बोलने का दावा कर रहे हैं तो वह काम जमीन पर भी क्यों नहीं दिख रहा है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 उत्तर प्रदेश चुनाव: केंद्रीय मंत्री अठावले बोले, …तो भाजपा को बिना शर्त समर्थन देने पर विचार करे बसपा
2 उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: 5वें चरण में हुआ 57.36 फ़ीसद मतदान, 607 प्रत्याशियों का भाग्य ईवीएम में बंद
3 मुख्यमंत्री अखिलेश यादव बोले- पीएम नरेंद्र मोदी तार छूकर ही देख लें, उसमें करंट है या नहीं
यह पढ़ा क्या?
X