ताज़ा खबर
 

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल की प्रेस वार्ता में बिजली हुई गुल, कहा- सौगंध गंगा मैया की, आज सपा के खोखले दावों की पोल खुल गई

पीयूष गोयल ने अखिलेश सरकार पर बिजली वितरण में भेदभाव का आरोप लगाया।

रेल मंत्री पीयूष गोयल। (File Photo – Indian Express)

केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल यूपी के घौसाबाद स्थित पार्टी के मीडिया सेंटर में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर रहे थे तभी बिजली गुल हो गई। बिजली करीब पौन घंटे गायब रही, जिससे केंद्रीय मंत्री को बैठे बिठाए मुद्दा मिल गया। इसके बाद पीयूष गोयल ने अखिलेश यादव सरकार पर जमकर हमला बोला और अखिलेश सरकार पर बिजली वितरण में भेदभाव का आरोप लगाया। एक सवाल के जवाब में पीयूष गोयल ने आंकड़े पेश करते हुए कहा कि अखिलेश यादव सरकार ने जाति-धर्म के नाम पर बिजली के कनेक्शन बांटे हैं इसके लिए उन्होंने मुरादाबाद के सांसद सर्वेश कुमार की शिकायत का हवाला दिया और कहा कि आठ गांवों में जांच कराने के बाद ये सब सामने आया है।

इसी मुद्दे पर ट्वीट करते हुए केंद्रीय ऊर्जा मंत्री पीयूष गोयल ने लिखा कि, ”सौगंध गंगा मैया की, आज काशी में संवाददाता सम्मेलन के दौरान बिजली गुल देख कर सपा के खोखले दावों की पोल खुल गई |” पीयूष गोयल ने राज्य सरकार पर हमला करते हुए कहा कि 22 से 24 फरवरी के बीच तीन दिनों में शिवपुर क्षेत्र में 52 बार बिजली गुल हुई वहीं राज्य के दूसरे क्षेत्र के लोग भी बिजली कटौती से परेशान हैं।

राज्य में पत्रकारों से बात करते हुए पीयूष गोयल ने कहा कि प्रधानमंत्री की योजना है कि 15 अगस्त 2022 तक देश के सभी शहरों, गांवो को चौबीस घंटे बिजली मिले। इससे जुड़े मसौदे पर देश के सभी राज्यों ने हस्ताक्षर किए। लेकिन सिर्फ यूपी सरकार ने अब तक इस मसौदे पर हस्ताक्षर नहीं किए हैं। गोयल ने कहा कि अखिलेश सरकार जनता और किसानों को बिजली का लाभ नहीं देना चाहती। गोयल ने दावा किया कि केंद्र में बीजेपी सरकार आने के बाद पहली बार ऐसा हुआ कि देश में बिजली और कोयला सरप्लस है। इसके बावजूद भी यूपी सरकार नेशनल ग्रिड से बिजली नहीं खरीदती।

ऊर्जा मंत्री ने कई आंकडे बताए। उन्होंने कहा कि बसपा ने अपने आखिरी के तीन सालों के कार्यकाल के दौरान केवल 79 नए गांवों तक बिजली पहुंचाई। वहीं अखिलेश सरकार अपने कार्यकाल के आखिरी के दो सालों में केवल 62 नए गांवों तक बिजली पहुंचाई पाई। गोयल ने कहा कि केंद्र में हमारी सरकार बनने के बाद इस पर बहुत ध्यान दिया गया। वर्ष 2015-16 में मोदी सरकार ने 1305 नए गांवों तक बिजली पहुंचाई।

“सपा- कांग्रेस का गठबंधन न होता, तो बीजेपी यूपी चुनावों में 300 से ज्यादा सीटें जीतती”: राजनाथ सिंह

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी ने मायावती को बताया यूपी चुनावों का विजेता; बाद में कहा- "गलती से लिख दिया"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App