ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश चुनाव: शाहजहांपुर में 55 उम्मीदवारों की जमानत जब्त

कटरा विधानसभा क्षेत्र से 13, जलालाबाद से 10, तिलहर से 14, पुवायां से 11, शाहजहांपुर नगर से 13 और ददरौल विधानसभा क्षेत्र से 10 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे।

Author March 13, 2017 2:40 AM
प्रतीकात्म तस्वीर।

जिले की छह विधानसभा सीटों से 71 उम्मीदवारों में से 55 की जमानत राशि जब्त हो गई। कटरा विधानसभा क्षेत्र से 13, जलालाबाद से 10, तिलहर से 14, पुवायां से 11, शाहजहांपुर नगर से 13 और ददरौल विधानसभा क्षेत्र से 10 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे।  इसके अलावा फिल्म अभिनेता राजपाल यादव की सर्व संभाव पार्टी ने तीन सीटों से अपने उम्मीदवार खड़े किए थे। जोर-शोर से नामांकन भी कराया था, लेकिन कामयाबी नहीं मिली। उनके उम्मीदवार अपनी जमानत तक नहीं बचा पाए। चुनाव में तिलहर सीट से राजपाल यादव के भाई राजेश यादव मैदान में उतरे थे। यहां पर उन्हें 1253 वोट ही हासिल हुए। इसके अलावा सदर सीट से राजीव सक्सेना को 611 वोट मिले। पुवायां सीट पर सर्व संभाव पार्टी के उम्मीदवार महेंद्र को 1448 मतों से ही संतोष करना पड़ा। राजपाल यादव भले ही सीधे तौर पर खुद मैदान में नहीं थे, लेकिन उनकी पार्टी के इस प्रदर्शन ने निराश जरूर किया।

दस हजार लोगों ने दबाया नोटा : जिले की छह सीटों पर नोटा के कुल 10726 वोट पड़े। इसमें सबसे ज्यादा ददरौल विधानसभा में 2383 और सबसे कम शाहजहांपुर में 1151 वोटरों ने नोटा का बटन दबाया।जिले की छह विधानसभाओं में कुल 71 उम्मीदवार चुनाव मैदान में उतरे थे। ईवीएम में कैद हुए मतों में से उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला मतगणना के बाद हो गया। छह सीटों में से जलालाबाद को छोड़ कर बाकी सभी सीटों पर भाजपा का परचम लहराया। जिले में जम कर मोदी की लहर चली, लेकिन ऐसे भी हजारों वोटर रहे जिन्हें कोई दल लुभा नहीं सका। जिले में ऐसे 10726 मतदाताओं ने नोटा का बटन दबाकर उम्मीदवारों या कहे दलों से नाखुशी का इजहार कर दिया। कई ऐसी विधानसभा भी रही जहां नोटा का वोट क्षेत्रीय पार्टी उम्मीदवार के वोट के बराबर रहा।

 

विधानसभा चुनाव नतीजे 2017: उत्तर प्रदेश में ये चेहरे हो सकते हैं बीजेपी के मुख्यमंत्री उम्मीदवार

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App