ताज़ा खबर
 

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव: थम गया 7वें और अंतिम चरण का शोर, 40 सीटों के लिए 8 मार्च को मतदान

सातवें और अंतिम चरण में कुल 535 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। बसपा के 40, भाजपा के 32, सपा के 31, कांग्रेस के नौ उम्मीदवार मैदान में।

Author लखनऊ | Updated: March 6, 2017 7:07 PM
UP Election Campaign, UP Assembly Elections last Phase, UP Polls Battle groundवाराणसी के रोहनिया में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की परिवर्तन संकल्प रैली में जुटी भारी भीड़। (PTI Photo/6 March, 2017)

उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के सातवें और अंतिम चरण में ‘करो या मरो’ की तर्ज पर चल रहा राजनीतिक पार्टियों का ‘तूफानी’ प्रचार अभियान आज (सोमवार, 6 मार्च) शाम पांच बजे थम गया। अंतिम चरण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी के साथ-साथ गाजीपुर, जौनपुर, चन्दौली, मिर्जापुर, भदोही तथा सोनभ्रद जिलों की 40 विधानसभा सीटों के लिए आठ मार्च को मतदान होगा। इस चरण के प्रचार में राजनीतिक दलों के बीच जोर-आजमाइश अपने चरम पर पहुंच गयी। भारतीय जनता पार्टी के शीर्ष नेता और केंद्रीय मंत्री वाराणसी में डेरा डाले रहे और दिन-रात प्रचार में जुटे। सपा-कांग्रेस और बसपा भी पीछे नहीं नहीं रहीं।

अंतिम चरण के महत्व का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि खुद प्रधानमंत्री मोदी तीन दिन तक वाराणसी में डटे रहे और तीन बार रोड शो किया। सपा मुखिया प्रदेश के मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और उनके गठबंधन के सहयोगी कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी ने शनिवार को संयुक्त रूप से रोडशो किया। पूर्वी उत्तर प्रदेश को सभी दल जीत का दरवाजा मान रहे हैं और बसपा सुप्रीमो मायावती की नजर विशेष तौर पर मुसलमान वोटरों पर है। मायावती को यकीन है कि राज्य के पूर्वी हिस्से का मुसलमान बसपा के पक्ष में मतदान करेंगे।

इसी चरण में तीन नक्सल प्रभावित जिले भी शामिल हैं। सोनभ्रद, मिर्जापुर और चंदौली में सुरक्षाबल एलर्ट हैं। सातों चरणों के वोटों की गिनती 11 मार्च को होगी। अंतिम चरण में 1.41 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे, जिनमें 64.76 लाख महिलाएं हैं। कुल 14 हजार 458 मतदान केंद्र बनाये गये हैं। वर्ष 2012 में इन 40 सीटों में से 23 सपा के खाते में गयी थीं। बसपा को पांच, भाजपा को चार, कांग्रेस को तीन और अन्य को पांच सीटें मिली थीं। सातवें और अंतिम चरण में कुल 535 प्रत्याशी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। बसपा के 40, भाजपा के 32, सपा के 31, कांग्रेस के नौ, रालोद के 21, राकांपा के पांच प्रत्याशी मुकाबले में हैं। सबसे अधिक 24 उम्मीदवार वाराणसी कैण्ट सीट से मैदान में हैं जबकि सबसे कम छह प्रत्याशी केराकत (अनुसूचित जाति) सीट पर हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 अखिलेश के ‘हाथी की मूर्ति’ से जुड़े बयान पर मायावती का कटाक्ष, ये बात तो कोई ‘बबुआ’ ही कर सकता है
2 सर्जिकल स्ट्राइक पर डिम्पल ने नरेंद्र मोदी को घेरा, कहा- सैनिकों की शहादत का ताज पहन रही है मोदी सरकार
3 ‘नरेंद्र मोदी ने चुनावी वादे पूरे नहीं किए, इसलिए वाराणसी की गलियों में धूल चाट रहे हैं’
IPL 2020 LIVE
X