ताज़ा खबर
 

राहुल की रैली में फिर लगे ‘मोदी मुर्दाबाद’ के नारे, चुप कराकर बोले- गुस्‍सा है तो वोट से हराइए

403 विधानसभा सीटों में कांग्रेस 105 और समाजवादी पार्टी ने 298 सीटों पर अपने उम्‍मीदवार उतारे हैं।

Author February 5, 2017 6:27 PM
कानपुर में रैली को संबोधित करते कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी। (Source: Twitter)

कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी ने रविवार को यूपी सीएम अखिलेश यादव के साथ मिलकर उन्‍नाव में रैली की। गठबंधन के बाद दोनों नेता लगातार प्रचार कर रहे हैं। कानपुर में राहुल गांधी ने पीएम नरेंद्र मोदी पर जमकर निशाना साधा। उन्‍होंने कहा, “मोदी जी मेक इन इंडिया की बात करते हैं। और फोन पर लिखा है मेक इन चाइना। सपा की सरकार आएगी तो मेक इन सहारनपुर, मेक इन यूपी पर जोर देंगे।” उन्होंने किसानों की बात करते हुए कहा कि ”किसानों के सामने मुश्किल समय है। मोदी जी उनको बोनस नहीं देते। मोदी जी बारिश होती है तो मुआवजा नहीं देते। जब हमने कर्जा माफी की बात की तो मोदी जी ने बजट में ऐसा नहीं किया। सरकार का विजन होना चाहिए कि यूपी को जूट फैक्‍ट्री बनाएं। क्‍यों नहीं किसानों को इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सपोर्ट दें। यूपी के किसान की जिंदगी को बदल दें।” उन्‍होंने नोटबंदी को लेकर भी पीएम मोदी पर लोगों के ‘पेट पर लात’ मारने का आरोप लगाया।

राहुल ने कहा, ”लाइन में कोई मोदी जी वाले सूट-बूट वाले लोग दिखाई दिए? लाइन में केवल गरीब लोग थे। मोदी जी आपने यूपी की गरीब जनता को चोट मारी है। आपने गरीब जनता के पेट पर लात मारी है। इस लात को लोग नहीं भूलने वाले हैं। मोदी जी की प्‍लानिंग थी कि हिन्‍दुस्‍तान के गरीब लोगों का पैसा बैंक में फंसा रहे और मैं अमीर लोगों का कर्ज माफ कर सकूं।”

राहुल ने आगे कहा, ”यूपी का हर युवा आईआईटी, आईआईएम, मेडिकल का एग्‍जाम देता है। हजारों कोचिंग होने के बाद भी गरीब युवा यहां जा नहीं सकता। क्‍यों नहीं हम हाई क्‍वालिटी के ट्रेनिंग सेंटर खोलें ताकि हर युवा इसका फायदा उठा सके। कानपुर को पहले मैनचेस्‍टर कहा जाता था। क्‍यों नहीं हम लोग जो छोटे फैक्‍ट्री चलाते हैं, उनकी मदद करें। मोदी ने विजय माल्‍या का 12 लाख करोड़ रुपए माफ किया।”

राहुल गांधी ने रैली में SCAM का नया मतलब भी बताया। कहा, “एस से सर्विस, सी का मतलब करेज, ए का मतलब एबिलिटी और एम का मतलब मॉडेस्‍टी” उन्‍होंने अपने और अखिलेश के बारे में कहा, ”हमारे बारे में लोग कई बातें करते हैं। मैं फिराक गोरखपुरी के शब्‍दों में- हम दोनों में फर्क है बस इतना, एक कहता है ख्‍वाब, एक कहता है सपना।”

देखें संबंधित वीडियो: 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उत्‍तर प्रदेश चुनाव 2017: जो हस्तिनापुर जीतता है, उसी की पार्टी बनाती है सरकार!
2 टिकट न मिलने से नाराज भाजपाइयों को अमित शाह ने किया ‘इलाका बदर’
3 जानिए क्यों मेरठ में अमित शाह की पदयात्रा के लिए भीड़ नहीं जुटा पाई भाजपा?