ताज़ा खबर
 

‘राम मंदिर नहीं, भाजपा उत्तर प्रदेश में विकास के एजेंडा पर चुनाव लड़ेगी’

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा कि मंदिर निर्माण हमें काफी प्रिय है। लेकिन वह चुनावी मुद्दा नहीं है। मुद्दा विकास, विकास और विकास है।

Author नई दिल्ली | January 3, 2017 7:26 PM
संसद भवन में केंद्रीय सूचना एवं प्रसारण मंत्री एम. वैंकैया नायडू (फाइल फोटो)

केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने कहा है कि भाजपा उत्तर प्रदेश में विकास के एजंडे पर चुनाव लड़ेगी। पार्टी राम मंदिर जैसे मुद्दों पर चुनाव नहीं लड़ेगी। उन्होंने मुख्यमंत्री पद का कोई भी उम्मीदवार पेश करने से भी इनकार किया। उन्होंने कहा कि असली झुकाव प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पक्ष में है, जिन्हें उन्होंने विकास का प्रतीक और एक बड़ा चेहरा बताया। सूचना एवं प्रसारण मंत्री ने कहा कि काला धन के खिलाफ अभियान ने लोगों और विशेष तौर पर समाज के निचले हिस्से के लोगों को भाजपा की ओर आकर्षित किया है और नोटबंदी का फल सामने दिखाई पड़ने से इसमें और तेजी आएगी। नायडू बोले-हमारे पास उत्तर प्रदेश से रिपोर्ट आ रही है। नया तबका और जिन लोगों ने पहले भाजपा से दूरी बना ली थी, खासतौर पर समाज के निचले वर्ग के लोगों ने वे सब नोटबंदी या पुनर्मुद्रीकरण के बाद भाजपा की तरफ आ रहे हैं। मैं आश्वस्त हूं कि इसे और गति मिलेगी क्योंकि मोदी ने जो भ्रष्टाचार विरोधी टीका दिया है, उसका फल दिखने लगेगा।

उत्तर प्रदेश में पार्टी की रणनीति के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा-उत्तर प्रदेश के लिए अलग रणनीति नहीं है। आपको सिर्फ लोगों को समझाना है कि उन्होंने लंबे समय तक सपा, बसपा और कांग्रेस को देखा है। उन्होंने लोकसभा में मोदी के लिए जमकर मतदान किया और केंद्र में नतीजे देख रहे हैं। उन्होंने कहा- लेकिन विकास का फल उत्तर प्रदेश के गांवों में नहीं पहुंच रहा है क्योंकि उत्तर प्रदेश की वितरण व्यवस्था पूरी तरह भ्रष्ट या वितरण करने में अक्षम है। इसलिए भाजपा को चुनें, ताकि उत्तर प्रदेश का भी विकास हो सके। यही विकास का एजंडा है। यह पूछे जाने पर कि क्या राम मंदिर भाजपा का चुनावी मुद्दा होगा, नायडू ने कहा कि यह विषय पार्टी को प्रिय है लेकिन यह चुनावी रणनीति का हिस्सा नहीं होगा। राम मंदिर के मुद्दे ने उत्तर प्रदेश के चुनावों में पहले महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। उन्होंने कहा कि मंदिर कभी भी चुनावी मुद्दा नहीं था। यह लोगों की आकांक्षा है। लेकिन आप (मीडिया के) लोग सवाल पूछते हैं और तब हम लोग जवाब देते हैं। मंदिर निर्माण हमें काफी प्रिय है। लेकिन वह चुनावी मुद्दा नहीं है। मुद्दा विकास, विकास और विकास है।

भाजपा से मुकाबला करने के लिए प्रतिद्वंद्वियों के साथ आने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि मुलायम सिंह और उनके बेटे अलग हो रहे हैं और बेटा कांग्रेस पार्टी के करीब आ रहा है। देखते हैं कि यह कैसे आगे जाता है। लेकिन असली एलाइनमेंट (यह है) कि लोग मोदी के साथ जा रहे हैं। उत्तर प्रदेश के लोग मोदी को विकास के प्रतीक के रूप में देख रहे हैं। उत्तर प्रदेश में मुख्यमंत्री पद के लिए पार्टी का चेहरा कौन होगा इस बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा-हमारा बड़ा चेहरा है। हम मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित किए बिना महाराष्ट्र में सफल हुए। हम मुख्यमंत्री उम्मीदवार के बिना हरियाणा में सफल हुए। हम मुख्यमंत्री उम्मीदवार के बिना झारखंड में सफल हुए। हमने पाया है कि लोग विकास के लिए और पार्टी के लिए मतदान करने के इच्छुक हैं। रणनीति राज्य दर राज्य अलग होती है। लेकिन, उत्तर प्रदेश में हमने किसी को भी मुख्यमंत्री पद के उम्मीदवार के तौर पर पेश नहीं करने का फैसला किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X