ताज़ा खबर
 

बीजेपी ने घोषणापत्र में शामिल किया, आदित्यनाथ बोले- सभाओं में उठाऊंगा कैराना से हिंदुओं के पलायन और मुज़फ्फरनगर दंगों का मुद्दा

बीजेपी के फायरब्रैंड नेता योगी आदित्यानाथ अपने चुनावी अभियान मुजफ्फरनगर, कैराना, गाजियाबाद, शामली, मेरट और पश्चिमि उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में जनसभाओं में शुरुआत करेंगे।

यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ। (फाइल फोटो)

बीजेपी के फायरब्रैंड नेता और स्टार प्रचारक योगी आदित्यानाथ 30 जनवरी से अपने चुनावी अभियान की शुरूआत करेंगे। वहीं योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि वह चुनाव में कैराना में हिंदू परिवारों के पलायन और 2013 के मुजफ्फरनगर दंगों का मुद्दा उठाएंगे। उन्होंने कहा, “मैं मुजफ्फरनगर, कैराना, गाजियाबाद, शामली, मेरट और पश्चिमि उत्तर प्रदेश के कई हिस्सों में जनसभाओं को संबोधित करेंगे।” वहीं पार्टी के एक और सदस्य ने जानकारी दी कि योगी आदित्यनाथ बुलंदशहर, गाजियाबाद के धौलाना, लोनी, साहिबाबाद और मेरठ में भी जनसभाओं को संबोधित करेंगे।

गौरतलब है कि योगी आदित्यनाथ ने 2014 के बाइ-इलेक्शन के समय भी उत्तर प्रदेश में प्रचार किया था जिसके बाद बीजेपी को लगभग दर्जनभर सीटों पर जीत हासिल हुई थी। उस दौरान बीजेपी ने कथित लव जिहाद का मुद्दा उठाया था। वहीं अपने संगठन हिंदू युवा वाहिनी द्वारा बीजेपी के खिलाफ 64 सीटों पर उम्मीदवार खड़े करने के बारे पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि संगठन कोई भी उम्मीदवार बीजेपी के खिलाफ नहीं लड़ेगा और वह खुद बीजेपी को जिताने के लिए प्रचार करेंगे।

गौरतलब है कि हिंदु युवा वाहिनी ने बीते दिनों कहा था कि बीजेपी ने योगी आदित्यानाथ का अपमान किया है और इसीलिए संगठन ने 6 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी। यह जानकारी संगठन के प्रेसिडेंट सुनील सिंह ने कही थी। वहीं बीजेपी ने उत्तर प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर अपना घोषणा पत्र 28 जनवरी 2017 को जारी कर दिया है। पार्टी ने अपने घोषणापत्र में राम मंदिर की जिद को पीछे छोड़ दिया है लेकिन सांप्रदायिक तनाव के चलते कथित तौर पर हिंदू पलायन का मुद्दा उठाया है। वहीं राम मंदिर के मुद्दे पर पार्टी ने कानूनी तरीके से काम करने की बात कही है।

आंख दिखाने वालों की आंख निकालने की बात करने वाले ये नेता हैं मोदी सरकार के कृषि मंत्री राधा मोहन सिंह

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App