ताज़ा खबर
 

सुल्तानपुर का नाम भी बदलने की तैयारी, यूपी गवर्नर ने CM योगी आदित्यनाथ को बताया ये नाम

उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नाईक ने योगी सीएम को पत्र लिखकर सुल्तानपुर जिले का नाम बदलने का आग्रह किया है। भगवान राम के बेटे कुश के नाम पर रखा जा सकता है नया नाम।

यूपी राज्यपाल राम नाइक और सीएम आदित्यनाथ फोटो सोर्सः ani

Lok Sabha Election 2019 से पहले एक और शहर का नाम बदलने की तैयारी की जा रही है। अब उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले को लेकर कोशिशें शुरू हो गई हैं। शनिवार (31 मार्च) को एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल राम नाईक के समक्ष ये मांग रखी है। राज्यपाल ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इसकी जानकारी दी। इसके साथ ही उन्होंने सुलतानपुर जिले का नाम बदलकर कुशभवनपुर करने का आग्रह किया।

पहले भी दिया गया नाम बदलने का प्रस्तावः पिछले साल लम्भुआ निर्वाचन क्षेत्र से भारतीय जनता पार्टी के विधायक देवमणि द्विवेदी ने उत्तर प्रदेश विधानसभा में एक प्रस्ताव पेश किया था जिसमें सुलतानपुर जिले का नाम बदलकर कुशभवनपुर करने की मांग की गई थी। उन्होंने दावा किया था कि अलाउद्दीन खिलजी के बाद जिले का नाम बदल दिया गया था जो एक आक्रांता था और इसे भगवान राम के पुत्र कुश के नाम पर रखा जाना चाहिए।
National Hindi News Today LIVE: दिनभर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

वेबसाइट पर भी घटना का जिक्रः सुलतानपुर के इतिहास का जिक्र उसकी वेबसाइट पर किया गया है। उत्तर प्रदेश के जिला गजेटियर, 1982 का हवाला देते हुए कहा गया है, ‘लगभग 750 साल पहले पेशे से घोड़े के सौदागर दो भाइयों सैयद मोहम्मद और सईद अला-उद-दीन ने पूर्वी अवध का दौरा किया और अपने घोड़े बेचने की पेशकश की। कुशभवनपुर के भारतीय सरदारों ने घोड़ों को जब्त कर लिया और दोनों भाइयों को मार डाला।’

 

इससे पहले भी बदले नामः बता दें योगी आदित्यनाथ ने मार्च 2017 में अपनी सरकार बनाने के बाद से राज्य में तीन बड़े नाम बदले हैं। इलाहाबाद का नाम बदलकर प्रयागराज कर दियाऔर मुगलसराय जंक्शन का नाम पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विचारक पंडित दीन दयाल उपाध्याय के नाम पर रखा गया है। इसी के साथ-साथ मथुरा के पास फरह टाउन स्टेशन का नाम भी बदला गया था।

मेनका-वरुण का गढ़ है सुल्तानपुरः बता दें मेनका गांधी लोकसभा चुनाव 2019 में सुल्तानपुर से लड़ेंगी। इस सीट का प्रतिनिधित्व उनके बेटे वरुण गांधी करते आए हैं, जो इस लोकसभा चुनाव में पीलीभीत से लड़ेंगे। लोकसभा चुनाव में दो सप्ताह से कम समय शेष रह गया है। केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी ने शनिवार (30 मार्च) को सुल्तानपुर में प्रचार शुरू किया। बता दें मेनका ने अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत सुल्तानपुर से की थी।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: शत्रुघ्‍न सिन्‍हा ने बीजेपी छोड़ कांग्रेस को ही क्‍यों चुना? खुद बताई वजह
2 गिरिराज सिंह के ट्वीट पर भड़क गए जिग्‍नेश मेवानी, दे डाली केस करने की धमकी
3 Lok Sabha Election 2019: आप से गठबंधन पर असमंजस के बीच दिल्ली की 7 सीटों पर कांग्रेस के 80 दावेदार सामने
यह पढ़ा क्या?
X