ताज़ा खबर
 

UP elections 2017: ‘कुछ का साथ, कुछ का विकास’ में विश्वास करते हैं अखिलेश, राहुल: नरेंद्र मोदी

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी और उसके गठबंधन सहयोगी कांंग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वे ‘‘कुछ लोगों’’ के विकास में विश्वास रखते हैं और हर चीज को वोटों के चश्मे से देखते हैं।

Author वाराणसी | Updated: March 6, 2017 10:01 AM
UP Assembly Elections 2017, Gazipur Assembly Seats, Gazipur 7 Seats, Cabinet Minister manoj Sinha, Samajwadi party newsप्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में जनसभा को संबोधित करते।

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज सत्तारूढ़ समाजवादी पार्टी और उसके गठबंधन सहयोगी कांंग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि वे ‘‘कुछ लोगों’’ के विकास में विश्वास रखते हैं और हर चीज को वोटों के चश्मे से देखते हैं। अपने प्रतिद्वंद्वियों, विशेष रूप से मुख्यमंत्री अखिलेश यादव और कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी को निशाना बनाते हुए मोदी ने कहा कि जैसे लोगों को ‘मोतियाबिंद’ होता है, वैसे ही सपा और कांग्रेस को ‘वोटबिंद’ है क्योंकि ‘‘उन्हें वोटों के चश्मे से इतर कुछ नजर नहीं आता है।’

अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी में रोडशो के बाद एक जनसभा में मोदी ने कहा, ‘‘जैसे मोतियाबिंद से ग्रस्त लोग आॅपरेशन के बाद ही देख पाते हैं, ये नेता भी सिर्फ वोटों के जरिए ही देखते हैं।’ सपा की सरकार पर कल्याणकारी योजनाओं में भेदभाव करने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा, सपा सिर्फ ‘‘कुछ का साथ, कुछ का विकास’’ में विश्वास करती है जबकि वह ‘‘सबका साथ, सबका विकास’’ में यकीन रखते हैं। मोदी ने कहा, ‘‘सपा और बसपा एक ही सिक्के के दो पहलू हैं, पहला ए (अखिलेश) सपा और दूसरा बी बहुजन, सपा, बसपा है।’

उन्होंने कहा कि अखिलेश और राहुल ‘‘नाजुक’’ लोग हैं जो कठिन फैसले नहीं ले सकते। उन्होंने अपने को जमीन से जुड़ा नेता बताया जो राज्य का विकास कर सकते हैं। हालिया चुनावों में कांग्रेस की हार पर चुटकी लेते हुए उन्होंने कहा, एक दिन अनुसंधान किया जाएगा कि क्या उसका अस्तित्व भी था, क्योंकि वह ‘‘सभी जगहों से खत्म हो रही है। उन्होंने कहा, अखिलेश को उनका राजनीतिक सत्ता अपने पिता मुलायम सिंह यादव से मिली है, जबकि राहुल को यह अपने ‘‘पूर्वजों से मिली है।’

मोदी ने कहा, ‘‘वे इतने नाजुक लोग हैं जो कठिन फैसले नहीं ले सकते हैं। वे सोचते हैं, क्या होगा यदि उनके पास जो है वह खो जाये। मेरे पास विरासत में मिला कुछ नहीं है।’ प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा, ‘‘मुझे जो भी मिला, वह काशी के लोगों के आशीर्वाद से मिला। मैं देश को उसकी समस्याओं से निजात दिलाने के लिए कड़े फैसले ले सकता हूं। मुझमें ऐसा करने का साहस है।’

उन्होंने कहा कि नोटबंदी ने सपा, बसपा और कांग्रेस को एक साथ विरोध में ला खड़ा किया है, जबकि पूरा देश इसका समर्थन कर रहा है।
यहां बड़ी संख्या में मौजूद छोटे व्यापारियों तक पहुंचने के प्रयास में मोदी ने कहा कि भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी सरकार का अभियान छोटे व्यापारियोंं को छूएगा भी नहीं क्योंकि इतने वर्षों में नेताओं और बाबुओं ने देश को लूटा है।

खुद को मुश्किल दिन देखने वाला ‘‘माटी का लाल’’ बताते हुए, मोदी ने कहा कि उनमें मुश्किल फैसले करने की क्षमता है। सर्जिकल स्ट्राइक का साक्ष्य मांगने के लिए विपक्षी दलों पर हमला बोलते हुए उन्होंंने नोटबंदी और सर्जिकल स्ट्राइक पर विस्तार से चर्चा की।
मोदी ने कहा कि सत्ता में मौजूद उनके प्रतिद्वंद्वी चुनावी जीत को ध्यान में रखते हुए समाज के कुछ लोगों के हितों के लिए फैसले लेते हैं, जबकि वह सबके विकास के लिए काम कर रहे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 यूपी चुनाव: अमित शाह ने कहा- 11 मार्च को चुनावों के नतीजे आने के बाद अखिलेश सरकार का होगा अंत
2 यूपी चुनाव: बनारस में आरएसएस कार्यकर्ता भाजपा से नाराज, लखनऊ से प्रचारक को भेज कराया जा रहा काम
3 राहुल गांधी ने प्रचार के दौरान तोड़ा सुरक्षा घेरा और पहुंच गए चाय की दुकान, चायवाले की बेटी से कहा- तुम तो मेरी बहन हो
IPL 2020 LIVE
X