scorecardresearch

UP Election: पार्टी कार्यालय जा रहे सपा प्रवक्ता को सांड ने उठाकर पटका, हालत नाजुक

उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में सांड का मुद्दा जोरों पर है। ग्रामीण इलाकों के साथ ही शहरी इलाकों में भी आवारा सांडों की वजह से कई लोगों की मौत हुई है।

सांड के हमले में सपा प्रवक्ता जाहिद अली को काफी चोटें आई हैं। (फोटो: ट्विटर/@rishabhmanitrip)

उत्तरप्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में पार्टी कार्यालय जा रहे सपा प्रवक्ता जाहिद अली को सांड ने उठाकर पटक दिया। सांड के इस हमले में जाहिद अली बुरी तरह से घायल हो गए और उन्हें आनन फानन में अस्पताल में भर्ती कराया गया। हालांकि अभी वो खतरे से बाहर हैं।

प्राप्त जानकारी के अनुसार समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता जाहिद अली लखीमपुर खीरी में बन रहे समाजवादी पार्टी कार्यालय को देखने के लिए घर से निकले थे। वे घर से खाना खाकर कार्यालय की तरफ बढ़े ही थे कि अचानक रोड पर दो तीन सांड आपस में वहां लड़ते हुए आ गए। इससे पहले कि जाहिद उन आवारा सांडों से बच पाते इतने में एक सांड ने उन्हें पटक दिया। सांड के इस हमले में जाहिद अली बुरी तरह से घायल हो गए और उन्हें कई जगह चोटें भी आईं।

हालांकि वहां मौजूद लोगों ने सांड को भगाकर जाहिद अली को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।  जाहिद अली के चेहरे में काफी चोटें आई हैं। घटना की जानकारी मिलते ही जिलाध्यक्ष रामपाल सिंह यादव के साथ कई सपा कार्यकर्ता भी उनका हालचाल जानने के लिए अस्पताल पहुंचे। जिला अस्पताल में जाहिद अली का इलाज चल रहा है। हालांकि वो खतरे से बाहर हैं।

बता दें कि उत्तरप्रदेश विधानसभा चुनाव में सांड का मुद्दा जोरों पर है। ग्रामीण इलाकों के साथ ही शहरी इलाकों में आवारा सांडों की वजह से कई लोगों की मौत हुई है। पिछले दिनों सपा अध्यक्ष अखिलेश ने इसे चुनावी मुद्दा बनाते हुए कहा कि  सांड के हमले से जान जाने पर 5 लाख रुपये का मुआवजा दिया जाएगा। वहीं प्रियंका गांधी ने भी सांडों को लेकर पिछले दिनों भाजपा सरकार पर हमला बोला था कि सरकार ने सिर्फ मुसीबतें बढ़ाई है।

भारत में क़रीब 20 करोड़ मवेशी हैं, जिनमें से सबसे ज़्यादा उत्तर प्रदेश में हैं। आंकड़ों के अनुसार जहां देश में आवारा मवेशियों की आबादी कम होकर 50 लाख पहुंची है लेकिन उत्तर प्रदेश जैसे कुछ राज्यों में ये आंकड़े 15% से ज़्यादा बढे हैं। दरअसल 2017 में उत्तरप्रदेश में भाजपा सरकार बनने के बाद प्रदेश में हज़ारों अवैध बूचड़खानों को बंद कर दिया गया। जिसके बाद से प्रदेश में आवारा पशुओं की संख्या भी बढ़ी है।

पढें Elections 2022 (Elections News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट