ताज़ा खबर
 

Loksabha Election 2019: यूपी के उपमुख्यमंत्री बोले- 23 मई को बीजेपी विरोधी दलों का हो जाएगा ‘राजनीतिक अंतिम संस्कार’

Loksabha Election 2019 Result: उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि मई का महीना समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस के लिए 'दुखी महीना' साबित होगा।

उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा। (फाइल फोटो)

Loksabha Election 2019 Result: उत्तर प्रदेश के उप-मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने अपने एक बयान में कहा है कि 23 मई को लोकसभा चुनाव के नतीजों की घोषणा के साथ ही विपक्षी पार्टियों के भाजपा विरोधी गठबंधन का ‘राजनैतिक अंतिम संस्कार’ हो जाएगा। दिनेश शर्मा ने कहा कि मई का महीना समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी और कांग्रेस, जो कि अपने राजनैतिक अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे हैं, उनके लिए ‘दुखी महीना’ साबित होगा। दिनेश शर्मा ने दावा किया कि गठबंधन कर सपा, बसपा को तबाह करने के लिए चुनाव लड़ रही है।

भाजपा नेता ने उत्तर प्रदेश में गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि जैसे-जैसे तापमान बढ़ रहा है, वैसे ही गठबंधन का तापमान भी बढ़ता जा रहा है, क्योंकि उन्हें अपनी हार दिखायी दे रही है। यही वजह है कि वह लगातार बयानबाजी कर रहे हैं। दिनेश शर्मा ने दावा किया कि गठबंधन के सहयोगियों के वोट एक-दूसरे को ट्रांसफर नहीं होंगे। वहीं पीएम पद की चर्चाओं पर उन्होंने कहा कि “अखिलेश यादव यह अच्छी तरह से जानते हैं और इसी वजह से मायावती को खुश करने के लिए कह रहे हैं कि बसपा सुप्रीमो को प्रधानमंत्री बनाया जाना चाहिए। जबकि अखिलेश सिर्फ 37 सीटों पर चुनाव लड़ रहे हैं, ऐसे में वह किसी को प्रधानमंत्री बनाने के बारे में सोच भी कैसे सकते हैं?” इससे तो यही लगता है कि वे ‘मुंगेरी लाल के हसीन सपने’ देख रहे हैं।

कांग्रेस पर हमला करते हुए उप-मुख्यमंत्री ने कहा, “कांग्रेस ने यह स्वंय स्वीकार कर लिया है कि वह एक वोटकटवा पार्टी है। इसके नेताओं का विदेश घूमने का रिकॉर्ड है। उनके लिए चुनाव एक पिकनिक की तरह है। अब ‘वोटकटवा पार्टी’ के नेता विदेश जाने के लिए टिकट कटवा रहे हैं क्योंकि उनकी वोट काटने की उनकी राजनीति अब समाप्त हो चुकी है। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लिए अमर्यादित शब्दों का इस्तेमाल करते हैं और उन्होंने मर्यादा की सारी सीमाएं लांघ दी। यूपीए 2 के कार्यकाल में भी उन्होंने कैबिनेट प्रस्ताव को फाड़ तत्कालीन प्रधानमंत्री का अपमान किया था।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X