ताज़ा खबर
 
title-bar

‘बाबर की औलाद को देश सौंपना चाहते हैं क्या?’, EC का बैन खत्म होते सीएम योगी का विवादित बयान

अपने भाषण में योगी आदित्यनाथ ने विरोधियों पर हमला बोलते हुए सपा-बसपा को परिवारवाद वाली पार्टियां बताया। योगी ने ये भी कहा कि जनता बजरंग बली के विरोधियों को हराएगी।

योगी आदित्यनाथ। (PTI Photo)

आदर्श आचार चुनाव संहिता के उल्लंघन के मामले में 72 घंटे का बैन झेलने के बाद योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार से फिर से चुनाव प्रचार शुरु कर दिया। योगी आदित्यनाथ ने यूपी के संभल में एक जनसभा को संबोधित किया। हालांकि यहां भी योगी कुछ ऐसा बोल गए, जिस पर विवाद हो सकता है। टीवी9 भारतवर्ष की एक खबर के अनुसार, योगी आदित्यनाथ ने संभल की रैली में अपने भाषण में कहा कि “बाबर की औलाद को देश सौंपना चाहते हैं क्या?” इसके अलावा योगी आदित्यनाथ ने अखिलेश सरकार में मंदिरों के बुरे हालात की बात कही।

दरअसल एक जनसभा को संबोधित करते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि ‘उनके साथ अली हैं तो हमारे साथ बजरंग बली हैं।’ चुनाव आयोग ने इसे आचार संहिता का उल्लंघन माना और उन पर बैन लगा दिया था। अब जब योगी बैन के बाद पहली जनसभा को संबोधित कर रहे थे, तो भी उन्होंने भड़काऊ बयानबाजी की। अपने भाषण में योगी आदित्यनाथ ने विरोधियों पर हमला बोलते हुए सपा-बसपा को परिवारवाद वाली पार्टियां बताया। योगी ने ये भी कहा कि जनता बजरंग बली के विरोधियों को हराएगी। संभल से भाजपा ने परमेश्वर लाल सैनी को टिकट दिया है। वहीं सपा-बसपा-रालोद गठबंधन की तरफ से शफीकुर रहमान बर्क को चुनाव मैदान में उतारा गया है। कांग्रेस की तरफ से जेपी सिंह चुनाव मैदान में हैं। संभल में मुस्लिम और यादव मतदाताओं का अच्छा खासा प्रभाव है।

योगी आदित्यनाथ के साथ ही चुनाव आयोग ने सपा नेता आजम खान, मायावती और मेनका गांधी पर भी बैन लगाया था। वहीं दूसरी तरफ आजम खान ने भी बैन के बाद पहली जनसभा को संबोधित करते हुए मतदाताओं को ही गद्दार बता दिया। आजम खान ने बीते दिनों रामपुर लोकसभा सीट से भाजपा उम्मीदवार जयाप्रदा पर आरोप लगाते हुए विवादित टिप्पणी की थी। जिसके चलते उनकी खूब आलोचना हुई थी और चुनाव आयोग ने उन्हें बैन कर दिया था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App