scorecardresearch

संघियों को ठीक करेंगे…लाइव डिबेट में धमकी देने लगे सपा प्रवक्ता, पैनलिस्ट बोले- अभी से डराने लगे

एंकर अमीश देवगन के साथ डिबेट में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील कुमार ने कहा कि “जिस पार्टी के सीएम और डिप्टी सीएम पर गंभीर आरोप लगे हैं, वे राष्ट्रवादी हो गए और हमने अपने ही विधायक को फिर से टिकट दे दिया तो हम दंगा पार्टी हो गए।”

UP Election 2022, Samajwadi Party
समाजवादी पार्टी में गंभीर आपराधिक केसों के आरोपी मोहर्रम अली और नाहिद हसन को टिकट देने पर विवाद। (फोटो- सोशल मीडिया)

यूपी चुनाव में नेताओं की आवाजाही के बाद टिकट वितरण को लेकर सियासी गर्मी तेज हो गई है। समाजवादी पार्टी ने कई ऐसे लोगों को टिकट दिया, जिन पर कई गंभीर आपराधिक केस चल रहा है। इस पर जब शोरगुल मचा तो पार्टी ने खुद को पाक साफ बताते हुए कहा कि भाजपा सबसे बड़ी आपराधिक छवि वाली पार्टी है। उसके सीएम और डिप्टी सीएम पर आपराधिक केस दर्ज होने के बावजूद वह संवैधानिक पद पर बैठे हैं।

न्यूज-18 इंडिया पर एंकर अमीश देवगन ने कहा कि समाजवादी पार्टी ने जिन लोगों को टिकट दिया है उसमें कई नाम बेहद गंभीर आरोपियों के हैं। मोहर्रम अली सिख विरोधी हिंसा का आरोपी है। नाहिद हसन पर गैंगस्टर एक्ट लगा है। इनको टिकट देने पर समाजवादी पार्टी पर सवाल खड़े हो गए हैं। तेजिंदर सिंह विर्क हत्या का आरोपी है। मदन भैया माफिया की कैटेगरी में रखा गया है। रफीक अंसारी एक हिस्ट्रीशीटर है। हाजी यूनुस हत्या और गैंगस्टर का आरोपी है।

एंकर अमीश ने कहा कि ऐसे लोगों को टिकट देने से पार्टी पर गुंडा और माफिया को बढ़ावा देने का आरोप लग रहा है। कहा कि जिन्हें आप टिकट दे रहे हैं, उनमें से कुछ जेल में हैं और कई अन्य कोर्ट से भगोड़ा घोषित है। पूछा- इसको आप कैसे झूठा साबित करेंगे?

एंकर अमीश देवगन के साथ डिबेट में समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील कुमार ने कहा कि “जिस पार्टी के सीएम और डिप्टी सीएम पर गंभीर आरोप लगे हैं, वे राष्ट्रवादी हो गए और हमने अपने ही विधायक को फिर से टिकट दे दिया तो हम दंगा पार्टी हो गए।” समाजवादी पार्टी के प्रवक्ता सुनील कुमार ने लाइव डिबेट में कहा कि “संघियों को तो हम ठीक करेंगे।” इस पर वहां मौजूद भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि अभी से डराने लगे।

मुलायम सिंह यादव की छोटी बहू अपर्णा यादव के भाजपा में जाने के सवाल पर सपा प्रवक्ता ने कहा कि “हो सकता है कि एक बिष्ट को हटाकर दूसरे बिष्ट को सीएम बनाना हो, इसलिए अपर्णा बिष्ट यादव को भाजपा ने अपनी पार्टी में शामिल किया हो।” कहा कि सबका अपना-अपना विचार होता है और सबका अपना लालच होता है। शायद इसी उद्देश्य से अपर्णा ने भाजपा ज्वाइन की हो।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट