scorecardresearch

UP Election: स्वामी प्रसाद मौर्य के काफिले पर लाठी-डंडे और पत्थरों से हमला, धरने पर बैठे सपा नेता; बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लगाया आरोप

सांसद संघमित्रा मौर्य ने हमले के लिए अपनी ही पार्टी को कसूरवार कहा, बोलीं- मैं भाजपा की सांसद, कार्यकर्ता जरूर हूं, और रहूंगी भी लेकिन बेटी होने के नाते अपने पिता पर हुए हमले की मैं निंदा करती हूं। 3 मार्च को जब मतदान होगा तो जनता इसका कड़ा जवाब देगी।”

UP Election: स्वामी प्रसाद मौर्य के काफिले पर लाठी-डंडे और पत्थरों से हमला, धरने पर बैठे सपा नेता; बीजेपी कार्यकर्ताओं पर लगाया आरोप
घटना के बाद गाड़ी में तोड़फोड़ को दिखाते समाजवादी पार्टी के प्रत्याशी और नेता स्वामी प्रसाद मौर्या। (फोटो- एएनआई)

कुशीनगर जिले के फाजिलनगर विधानसभा क्षेत्र में मंगलवार को समाजवादी पार्टी और भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं के बीच जमकर मारपीट और पत्थरबाजी हुई। उस वक्त यहां से सपा प्रत्याशी स्वामी प्रसाद मौर्या का काफिला भी गुजर रहा था। घटना में कई सपा कार्यकर्ताओं को चोटें आई हैं। दर्जनों गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई है। हालांकि घटना के वक्त जिस गाड़ी पर स्वामी प्रसाद मौर्या बैठे हुए थे, वह आगे निकल चुकी थी। इससे वह सुरक्षित हैं।

फाजिलनगर से समाजवादी पार्टी से स्वामी प्रसाद मौर्या का मुकाबला भाजपा के सुरेंद्र कुशवाहा से है। घटना को लेकर समाजवादी पार्टी के नेता धरने पर बैठ गए हैं। उनका आरोप है कि भाजपा कार्यकर्ताओं ने उन पर जानबूझकर जानलेवा हमला किया है। सपा कार्यकर्ताओं ने गोड़रिया बाजार में सड़क जाम किया।

इधर, हमले पर प्रतिक्रिया देती हुई भाजपा की सांसद और स्वामी प्रसाद मौर्या की बेटी संघमित्रा मौर्या ने इसके लिए अपनी ही पार्टी भाजपा के कार्यकर्ताओं को जिम्मेदार ठहराया है। उन्होंने कहा कि “मैं भाजपा की सांसद, कार्यकर्ता जरूर हूं, और रहूंगी भी, लेकिन बेटी होने के नाते अपने पिता पर हुए हमले की मैं निंदा करती हूं। 3 मार्च को जब मतदान होगा तो जनता इसका कड़ा जवाब देगी।” संघमित्रा मौर्य ने कहा कि यह हमला पिताजी पर नहीं बल्कि लोकतंत्र पर है। मैं निर्वाचन आयोग से मामले का संज्ञान लेने की मांग करती हूं।”

सपा प्रत्याशी स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा, “निर्धारित रूट पर रोड शो करते वक्त भाजपा के गिरोह बंद लोगों द्वारा मेरे ऊपर व काफिले में चल रही गाड़ियों को बुरी तरह से तोड़फोड़ व कार्यकर्ताओं पर जानलेवा हमला करना भाजपा की हताशा की प्रतीक है। मैं घोर निंदा करता हूं, लोकतंत्र को लाठी-डंडे कट्टे व हिंसा से कमजोर नहीं किया जा सकता।”

स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि “हमारा रोड शो का कार्यक्रम था। यह फाजिलनगर से शुरू हुआ। दुबौली में जैसे ही मेरा काफिला पहुंचा, भाजपा के लोग सुनियोजित तरीके से लाठी-डंडे और कट्टे एवं पत्थर के साथ बैठे थे। उन्होंने मोटरसाइकिल जुलूस निकाली और गाली-गलौज करना शुरू कर दिया। गाड़ी के सामने अपनी बाइक लगा दी और बाद में गाड़ियों को रोककर सैकड़ों गाड़ियों को तोड़ दिया। इसमें मेरी निजी गाड़ी भी शामिल है। मेरा ड्राइवर भी घायल हुआ है। सैकड़ों कार्यकर्ताओं को चोटें आईं हैं।”

उन्होंने भी कहा कि यह हमला स्वामी प्रसाद मौर्य के ऊपर नहीं है, बल्कि लोकतंत्र की हत्या करने के लिए किया गया है। कहा कि जनता इस जुल्म का कड़ा जवाब देगी और भाजपा को सबक सिखाएगी।

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट