scorecardresearch

UP Election: न मैं बेचैन था, न मेरे पेट में दर्द हो रहा था, अखिलेश यादव को पानी पी-पीकर क्‍यों कोस रहे हैं असदुद्दीन ओवैसी, जानें

मुजफ्फरनगर दंगे को लेकर ओवैसी ने अखिलेश यादव पर निशाना साधा और कहा, “क्या दंगे के मामले में आपने चार्जशीट डाली? नहीं डाली, क्या आपने इंसाफ दिलाया? नहीं दिलाया। कुछ नहीं किया।”

asaduddin owaisi
एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी (फोटो- फाइल)

एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि गठबंधन को लेकर समाजवादी पार्टी से कभी कोई बातचीत नहीं हुई। साथ ही ओवैसी ने कहा कि अखिलेश यादव और योगी आदित्यनाथ में कोई फर्क नहीं है, ये एक ही सिक्के के दो पहलू हैं।

एबीपी न्यूज से बात करते हुए एआईएमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने कहा, “न मैं बेचैन हो रहा था और न मेरे पेट में दर्द था। वो गठंबधन नहीं कर रहे हैं तो कोई बात नहीं है लेकिन जो लोग उनके साथ गठबंधन कर रहे हैं, एक के बाद एक.. बहुत सी मजेदार खबरें निकलेंगी। आप इंतजार करिए और देखते जाइए।”

एकंर सुमित अवस्थी ने सीएम योगी आदित्यनाथ के ‘ओवैसी सपा के एजेंट हैं’ वाले बयान पर सवाल किया तो असदुद्दीन ओवैसी ने इस पर चुटकी लेते हुए कहा, “अगली बार आप इन नेताओं को आमने-सामने बैठाकर पूछ लीजिएगा कि ओवैसी किसके एजेंट हैं। योगी आदित्यनाथ अपने अभियान का आगाज कैराना से करते हैं, हाथरस से ही कर लेते शुरुआत।

मुसलमान मोर्चा को आप कन्फ्यूज क्यों करना चाहते हैं? इस सवाल पर ओवैसी ने कहा, “2019 में 75 फीसदी मुसलमानों ने समाजवादी पार्टी और बसपा के गठबंधन को वोट किया था। तब भी 15 सीट जीते, पांच सांसद सपा के हैं जिनमें तीन मुसलमान और दो यादव। हम उत्तर प्रदेश के अल्पसंख्यक समाज से कह रहे हैं कि आपके वोट की कोई अहमियत नहीं रही।”

एआईएमआईएम प्रमुख ने कहा, “मैंने उन लोगों से कह रहा हूं कि अखिलेश यादव आपको केवल दरी बिछाने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं, समाजवादी पार्टी आपसे समाजिक न्याय पर झूठ बोल रही है। ये पार्टी समाजवाद के नाम पर केवल यादववाद की बात करती है।” उन्होंने कहा कि अखिलेश यादव के पास एक वाशिंग मशीन है, जो उनकी वाशिंग मशीन में चला गया वो समाजवादी और धर्मनिरपेक्ष हो जाता है।

मुजफ्फरनगर दंगे को लेकर ओवैसी ने अखिलेश यादव पर निशाना साधा और कहा, “क्या दंगे के मामले में आपने चार्जशीट डाली? नहीं डाली, क्या आपने इंसाफ दिलाया? नहीं दिलाया। कुछ नहीं किया। अब कोई आंख बंद करके वोट नहीं देगा, आंख खोलकर दिल-दिमाग का इस्तेमाल करके सही फैसला लिया जाएगा।”

पढें उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 (Upassemblyelections2022 News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट